संजीवनी टुडे

एक ही कमरे में सोती थी सास-बहू, ससुर को था नाजायज संबंध का शक और उसके बाद...

संजीवनी टुडे 08-12-2019 04:30:00

हाल ही में जुर्म का एक मामला दिल्ली के विजय विहार से सामने आया है जहां बीते शुक्रवार सुबह लगभग 5.10 बजे बुजुर्ग ने अवैध संबंध के संदेह में अपनी पत्नी व बहू को चाकू से गोदकर मौत के घाट उतार दिया।


नई दिल्ली। हाल ही में जुर्म का एक मामला दिल्ली के विजय विहार से सामने आया है जहां बीते शुक्रवार सुबह लगभग 5.10 बजे बुजुर्ग ने अवैध संबंध के संदेह में अपनी पत्नी व बहू को चाकू से गोदकर मौत के घाट उतार दिया। मृतकों में 62 वर्षीय स्नेहलता चौधरी एवं 35 साल की एयरहोस्टेस प्रज्ञा चौधरी सम्मिलित हैं। 64 वर्षीय आरोपी सतीश चौधरी ने पत्नी व बहू पर चाकू से सात बार किए और पश्चात में उनका गला रेत दिया। 

आरोपी के पुत्र सौरव चौधरी ने मामले के बारे में पुलिस को बताया। पुलिस ने आरोपी को घर से ही गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने पुलिस पूछताछ में कहा कि उसकी पत्नी व बहू एक ही कमरे में नींद लेती थी। उसे संदेह था कि दोनों के किसी संग अवैध संबंध हैं। दोनों दिल्ली से घर शिफ्ट कर पिछले शुक्रवार को ही गुरुग्राम जाने को थे, जिसके चलते वो परेशान था। वो ऐसा सोचता था कि गुरुग्राम में वह उन पर नजर नहीं रख सकेगा। 

यह खबर भी पढ़े:कचरे वाला बनकर आया प्रेमी और सो रही प्रेमिका संग कर दिया ऐसा कांड...

पुलिस उपायुक्त एसडी मिश्रा के मुताबिक, सतीश बी-6 रोहिणी सेक्टर-4 में रहते हैं। उनके परिवार में पत्नी स्नेहलता, दो बेटे गौरव व सौरव, गौरव की पत्नी प्रज्ञा व 2 बच्चे सम्मिलित हैं। स्नेहलता डीडीए से सेवानिवृत्त थी। गौरव सॉफ्टवेयर इंजीनियर है तथा सिंगापुर में रहता है। सौरव बेंगलुरू में निवास करता है। 

वो 2 दिसंबर से दिल्ली आया हुआ था। बहू इंडिगो एयरलाइंस में एयर होस्टेस थी। पिछले सवेरे पुलिस को सौरव ने वारदात की सूचना प्रदान की। पुलिस ने जख्मी अवस्था में प्रज्ञा और स्नेहलता को अस्पताल पहुंचाया। चिकित्सकों ने प्रज्ञा को मरा हुआ घोषित कर दिया, जबकि स्नेहलता की इलाज के दौरान मृत्यु हो गई। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। 

यह खबर भी पढ़े:हाई प्रोफाइल पत्नी की लक्जरी लाइफ से बेचैन था पति, उठाया ये खौफनाक कदम...

पुत्र से बोली, बचा लो बहू का जीवन  
पुलिस को सौरव ने कहा कि वो ड्राइंग रूम में नींद ले रहा था। माता की चीख सुनकर उसकी नींद खुली। उसके कमरे का दरवाजा बाहर से बंद था। माता ने किसी तरह दरवाजा खोला और चीखने लगी कि प्रज्ञा का जीवन बचा लो। माता के हाथ में उसका एक साल का भतीजा भी था, जो लहूलुहान था। उसने पूर्व दोनों बच्चों को पड़ोसी को दिया व फिर पिता को काबू किया। इस दौरान सौरव के हाथ में चाकू से चोट लग गई। फिर भी उसने बाप को धक्का देकर काबू कर लिया।
 
नींद लेते वक्त दिया गोद 
पिछले शुक्रवार सवेरे जब सास-बहू सोई हुई थी तो आरोपी ने अपने पुत्र के कमरे का दरवाजा बाहर से बंद कर दिया। तत्पश्चात वो बहू के कमरे में पहुंचा। आरोपी ने उस पर चाकू से ताबड़तोड़ हमले किए। बीच-बचाव हेतु आई पत्नी को भी उसने चाकू से गोद दिया। हल्ला सुनकर सौरव उठा व दरवाजा पीटने लगा। पत्नी ने घायल अवस्था में पुत्र के कमरे का दरवाजा खोला तो सौरव ने बाप को पकड़ लिया। तत्पश्चात उसने पुलिस को जानकारी प्रदान की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From crime

Trending Now
Recommended