संजीवनी टुडे

चार साल तक चला प्रेमप्रसंग, मंगेतर की बेवफाई से तंग लड़की ने दी जान

संजीवनी टुडे 20-01-2018 17:42:04

इंदौर। आमलीफलिया की लड़की दलमा भाबोर ने मंगेतर से परेशान होकर कीटनाशक पीकर जान दे दी। मंगेतर से दुखी लड़की ने लिखा सुसाइड नोट, मैंने इतना चाहा पर उसने ये सब किया। अपने मंगेतर की बेरुखी से तंग आकर एक लड़की ने कीटनाशक पीकर आत्महत्या कर ली। यह कदम उठाने से पहले उसने थाना प्रभारी के नाम से सुसाइड नोट भी लिखा, जिसमें पूरे घटनाक्रम बयान करते हुए अपने मंगेतर के लिए लिखा है कि-'आपने बहुत बड़ी गलती की है, सगाई के बाद इतना बड़ा धोखा दिया।' पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह भी पढ़े: कटरीना कैफ ने सीखा फाइटिंग चलाना, देखे वीडियो

???

जानकारी अनुसार आत्महत्या करने वाली लड़की  दलमा (19) इंदौर जिले के झाबुआ आमलीफलिया से है। वह  एक हॉस्टल में रहकर 12th की पढ़ाई कर रही थी। परिवार के सदस्यों के अनुसार दमला का भूतबयड़ा गांव के रमेश डामोर से दो साल पहले दोनों की जिद पर परिवारवालों ने सगाई भी कर दी थी। हाल ही में रमेश का पुलिस में सिलेक्ट हो गया। वह ट्रेनिंग पर गया है। 

???

दलमा के घरवालों के मुताबिक कुछ समय से रमेश ने दलमा से बात करना बंद कर दी थी। उसका नंबर भी ब्लैक लिस्ट में डाल दिया था। वह किसी दूसरी लड़की के चक्कर में था। इससे परेशान होकर 15 जनवरी को दलमा ने कीटनाशक पी लिया। इलाज के लिए उसे एक निजी अस्पताल ले जाया गया। गंभीर हालत को देखते हुए दलमा को पहले दाहोद और फिर बड़ौदा रैफर कर दिया। जहां उसकी मौत हो गई। युवती के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें आत्महत्या की वजह अपने मंगेतर द्वारा उसकी लगातार नजरअंदाज किए जाने की बात लिखी है। 

यह भी पढ़े: कांग्रेस के एमएलसी दीपक सिंह ने की पुलिस अधिकारी के साथ बदतमीजी

???

महोदय से विनम्र निवेदन है कि मेरा रमेश पिता धूमा डामोर से तीन-चार वर्ष से प्रेम प्रसंग चल रहा था। जब मैं उसे शादी के लिए बोलती तो डांटने लगता और कहता अब मैं आपसे शादी नहीं करुंगा। मैंने रमेश डामोर से चार वर्ष तक प्यार किया और फिर हम दोनों की हमारी मर्जी से सगाई करवाई गई। फिर वो किसी और से प्यार व बात करने लगा। वह न तो मुझे कॉल करता है और न ही बात करता। मेरा नंबर भी उसने ब्लैक लिस्ट में डाल दिया और ऐसा करते-करते बहुत दिन हो गए हैं इसलिए मैं अब जीना नहीं चाहती हूं। मौत को गले लगाना चाहती हूं। (सॉरी यार)। इसमें किसी का कोई कसूर नहीं (प्रीति व रमेश डामोर के अलावा)। आप सब मेरे माता-पिता को परेशान मत करना, ओके। आप सब मेरी मजबूरी नहीं जानते हो और मैं, मेरे प्यार के बिना नहीं जी सकती हूं। मैं बहुत परेशान हूं (यार)। मैंने उसे भूलने की कोशिश की पर भूल नहीं पाई। इसलिए मुझे मेरे परिवार से दूर होना पड़ रहा है। सॉरी, मुझे माफ कर देना सब।

Rochak News Web

More From crime

Trending Now
Recommended