संजीवनी टुडे

नाबालिग पुत्री के साथ दुष्कर्म करने वाले कलयुगी पिता को अंतिम सांस तक जेल में रहने की सजा

संजीवनी टुडे 11-07-2019 18:24:08

मध्यप्रदेश के सतना जिले में अदालत ने अपनी नाबालिग बेटी के साथ दुष्कर्म करने के आरोपित पिता को दोषी ठहराते हुए अंतिम सांस तक जेल में रहने की सजा सुनाई है।


सतना। मध्यप्रदेश के सतना जिले में अदालत ने अपनी नाबालिग बेटी के साथ दुष्कर्म करने के आरोपित पिता को दोषी ठहराते हुए अंतिम सांस तक जेल में रहने की सजा सुनाई है। यह फैसला चतुर्थ श्रेणी अपर सत्र न्यायायल ने सुनाया है। दुष्कर्म के बाद गर्भवती हुई पुत्री का पहले गोलियां देकर और फिर इंजेक्शन से गर्भपात करने वाली नर्स को भी सात साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। इसके साथ यह दुष्कर्मी पिता को आठ हजार और नर्स पर तीन हजार रुपये का अर्थदण्ड से भी दंडित किया गया है। मामले में अभियोजन की ओर से पैरवी जिला लोक अभियोजन अधिकारी रामपाल सिंह ने की।

अभियोजन मीडिया प्रभारी फखरुद्दीन ने गुरुवार को मामले की जानकारी देते हुए बताया कि 26 अक्टूबर 2015 को नाबालिक युवती के पिता ने कोलगवां थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई कि उसकी बेटी बिना बताए घर से कहीं चली गई। पुलिस ने गुमशुदगी का प्रकरण दर्ज कर मामले की जांच शुरू की। तीन दिन बाद 29 अक्टूबर 2015 को लडक़ी के मामा-मामी पीडि़त युवती को लेकर थाने पहुंचे, जहां पीडि़त ने बताया कि उसके पिता उसके साथ गलत काम करते हैं, जिससे वह गर्भवती हो गई। पिता ने उसे एक नर्स के पास ले गया, जहां उसे गोलियां खिलाईं, लेकिन गर्भ नहीं गिरने पर दूसरे दिन इंजेक्शन लगाकर गर्भपात करा दिया। पीडि़त नाबालिग के बयान पर कोलगवां थाना पुलिस ने आरोपित पिता के खिलाफ आईपीसी की धारा 376, 313 और 201 के तहत प्रकरण दर्ज कर अभियोग पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया। अदालत ने मामले की सुनवाई करते हुए उक्त धाराओं के तहत आरोपित कलयुगी पिता को दोषी ठहराते हुए अंतिम सांस तक जेल में रहने की सजा और आठ हजार रुपये अर्थदण्ड से दंडित किया। वहीं अवैध तरीके से गर्भपाल कराने वाली नर्स को सपना पांडेय पत्नी संतोष पांडेय निवासी हनुमान नगर, नई बस्ती को भारतीय दंड संहिता की धारा 313 व 201 के तहत सात के सश्रम कारावास की सजा और तीन जार रुपये के जुर्माने से दंडित किया।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 4300/- गज, अजमेर रोड (NH-8) जयपुर में 7230012256

More From crime

Trending Now