संजीवनी टुडे

चलती कार में युवती से दुष्कर्म मामले की जांच फाॅरेंसिक रिपोर्ट पर अटकी

संजीवनी टुडे 22-05-2019 20:36:09


शिमला। राजधानी शिमला में चलती कार में युवती के अपहरण कर दुष्कर्म मामले की एसआईटी जांच फोरैसिक रिपोर्ट पर अटक गई है। एसआईटी को फोरैसिक लैब से आने वाली रिपोर्ट का इंतजार है क्योकि अभी तक की जांच में एसआईटी के हाथ ऐसा कोई सुराग नही लग पाया है जिसके दम पर एसआईटी युवती के अपहरण कर दुराचार की इस अनसुलझी पहेली को सुलझा सके। पुलिस की जांच के लिए गठित एसआईटी का दावा है कि जब तक मौके पर से लिए गए साक्ष्य के चिकित्सा परीक्षण कर रिपोर्ट फोंरैसिक लैब से नही आ जाती तब तक इस मामले में जांच को आगे नही बढ़ाया जा सकता। लेकिन फिर भी एसआईटी की जांच चल रही है। एसआईटी इस मामले में रोज शक के आधार पर संधिगधो से पुछताछ कर रही है । 

इसके अलावा सीडीआर, सीसीटीवी फुटेज और डंप विश्लेषण किया जा चुका है। पीडित की दिशा के अनुसार उसकी उपस्थिति में एक स्केच तैयार किया गया था। पीडिता द्वारा बताए अनुसार जिस  व्यक्ति का स्कैच तैयार किया गया उसकी तलाश के लिए अलग अलग दिशाओं में टीमें भेजी गईं। एसआईटी इस मामले में पीडि़ता के दोस्तों और घटना के प्रासंगिक समय के दौरान मौके पर मौजूद छह गवाहों के ब्यान भी दर्ज कर चुकी है। एसआईटी प्रमुख परवीर ठाकुर का कहना है कि महिलाओं के प्रति अपराध की संवेदनशीलता को देखते हुए इस मामले में  नियमित मीडिया ब्रीफ संभव नहीं है। दरअसल अभी तक एसआईटी युवती के अपहरण कर दुष्र्कम मामले की जांच में अंधेरे में ही तीर मार रही है । एसआईटी 22 दिन से जांच कर रही है,लेकिन एसआईटी जांच का नतीजा अभी तक शून्य ही है । एसआईटी अभी तक न तो गाड़ी को  ट्रेस कर पाई है और न ही अपहरण और रेप करने वाले आरोपियो का सुराग लगा पाई है । 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

एसआईटी की जांच सिर्फ अभी तक पीडि़ता के ब्यान में ही उलझ कर रह गई है । एसआईटी के लिए यही जांच का विषय बना हुआ है कि आखिर पीडि़ता के ब्यान क्यो मेल नही खा रहे है । चूंकि पुलिस में दी गई शिकायत में पीडिता ने आरोप लगाया था कि बीते 28 अपै्रल  देर रात को एक कार में सवार तीन अज्ञात आरोपियों ने शिव मंदिर के पास से उसका अपहरण किया और एक युवक ने उसके साथ दुराचार किया फिर नगन अवस्था में उसे गाड़ी से बाहर धकेल कर आरोपी फरार हो गए। जबकि पुलिस जांच में यह सामने आया कि शिव मंदिर के पास से युवती का गाड़ी में अपहरण नही हुआ है। क्योकि युवती सीसीटीवी फुटेज में शिव मंदिर से गाहन गांव तक पैदल चलती नजर आ रही है । सीसीटीवी फुटेज देखने पर शिव मंदिर के पास गाड़ी में पीडि़ता के अपहरण का पुलिस की एसआईटी को भी साक्ष्य नहीं मिला है। इस मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए सरकार ने 30 अपै्रल को इस पूरे मामले की जांच पड़ताल के लिए एसआईटी का गठन किया था। गौरतलब है कि  हरियाणा की 19 वर्षीय युवती ने बीते 28 अपै्रल रविवार देर रात ढली पुलिस में शिकायत दी थी कि जब वह मॉल रोड से भट्टाकुफर अकेली जा रही थी, तब ढली टनल के आगे शिव मंदिर के पास अज्ञात कार सवारों ने उसका अपहरण किया। एक कार सवार ने उसके साथ दुष्कर्म भी किया।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From crime

Trending Now
Recommended