संजीवनी टुडे

समय पर एंबुलेंस मिलती तो बच जाती बच्‍ची की जान

संजीवनी टुडे 25-05-2019 20:08:18


चंबा। पंडित जवाहर लाल मेडिकल कालेज में ईलाज को भर्ती पांच दिन की बच्‍ची की जान बच जाती यदि उसे एंबुलेंस समय पर मिल जाती। ऐसी बात बच्‍ची के परिजनों ने कही। बच्‍ची के परिजन रुकमदीन, जान मोहम्मद, बशीर, कालू और शमाऊदीन खान ने इस संदर्भ में कार्रवाई के लिए थाने में भी इसकी शिकायत की है। 

परिजनों का कहना है कि जडेरा पंचायत की कलीली गांव की मनीरा बेगम का आपरेशन के जरिये ही बच्‍चा हुआ था। बच्‍चे की तबीतत ठीक नहीं होने के कारण उसे चिकित्सक ने रेफर कर दिया था। लेकिन, एंबुलेंस 108 की सुविधा नहीं मिली। बाद में जब निजी गाड़ी में ले जाया जाने लगा तो चिकित्सक ने बिना आक्सीजन वाली गाड़ी में बच्‍चे को ले जाने से मना किया। इस तरह से समय बढ़ता गया और बच्‍ची की हालत खराब होती गई। बाद में समाज सेवी सलीम के कहने पर एसडीएम ने एंबुलेंस की व्यवस्था करवाकर टांडा के लिए भेज भी दिया। लेकिन, चुवाड़ी में इस बच्‍ची का चेकअप होने पर डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

मृतक बच्‍ची के परिजनों का आरोप है कि यदि समय पर उनकी बच्‍ची को एंबुलेंस मिल जाती तो टांडा में समय पर उनकी बच्‍ची का ईलाज शुरू होने पर उसकी जान बच सकती थी।  इस संदर्भ में बाकायदा थाना सदर में भी एक शिकायत परिजनों की ओर से थाना प्रभारी को सौंपी गई है और जांच कर दोषी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है। एमएस डॉ विनोद शर्मा कहते हैं कि मामले में जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।  उधर, थाना प्रभारी प्रशांत ने भी इस संदर्भ में एक लिखित शिकायत मिलने की पुष्टि की है। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From crime

Trending Now
Recommended