संजीवनी टुडे

शिक्षक-छात्रा के रिश्ते को शर्मसार करने वाला दोषी करार

संजीवनी टुडे 22-06-2019 21:13:13

बोकारो के विशेष न्यायाधीश (पॉक्सो) रंजीत कुमार की अदालत ने नौकरी का झांसा देकर यौन-उत्पीड़न के मामले में आरोपित बरमसिया जरीडीह निवासी नारायण तुरी (21) को सिद्धदोष करार दिया है।


बोकारो। बोकारो के विशेष न्यायाधीश (पॉक्सो) रंजीत कुमार की अदालत ने नौकरी का झांसा देकर यौन-उत्पीड़न के मामले में आरोपित बरमसिया, जरीडीह निवासी नारायण तुरी (21) को सिद्धदोष करार दिया है। आगामी 26 जून को अदालत उसकी सजा के बिन्दु पर सुनवाई करेगी।मामले के विशेष लोक अभियोजक संजय कुमार झा के ने बताया कि नारायण तुरी ने अपनी छात्रा के साथ ही घृणित अपराध कर गुरु-शिष्य के संबंध को शर्मसार किया था।

16 वर्षीया छात्रा को उसने 02 मई, 2016 को फोन कर अपने पास बुलाया था और उसे नौकरी दिलाने का झांसा दिया था। चूंकि छात्रा उससे तीन साल तक ट्यूशन पढ़ चुकी थी, इसलिये वह उसकी बातों में आ गयी। वह पीड़िता को मुंबई और फिर गोवा ले गया। उसने कई दिनों तक छात्रा को रखा और उसके साथ अनैतिक संबंध बनाता रहा। पीड़िता की मां ने थाने में प्राथमिकी दर्ज करा दी थी। बाद में वह पीड़िता को लेकर कसमार थाने ले आ गया। बच्ची ने अपनी गवाही में अपहरण, धोखाधड़ी और दुष्कर्म किये जाने का आरोप लगाया। अदालत में दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद शनिवार को आरोपित को दोषी करार दिया है। अदालत में 26 जून को उसकी सजा के बिन्दु पर सुनवाई होगी।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166 

More From crime

Trending Now
Recommended