संजीवनी टुडे

14 वर्षीय आदिवासी बच्ची से सामूहिक बलात्कार, नाजुक हालत में पीड़‍िता अस्‍पताल में भर्ती

संजीवनी टुडे 29-09-2020 14:34:57

बलरामपुर जिले में एक 14 वर्षीय मासूम आदिवासी बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। उक्त घटना जिले के वाड्रफनगर चौकी क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्राम महोवा की है, जहां पीड़ित रविवार से घर से गायब थी।


बलरामपुर। बलरामपुर जिले में एक 14 वर्षीय मासूम आदिवासी बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। उक्त घटना जिले के वाड्रफनगर चौकी क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्राम महोवा की है, जहां पीड़ित रविवार से घर से गायब थी। घटना की सूचना के बाद से पीड़ित को नाजुक हालत में पुलिस एवं चाइल्डलाइन की टीम ने अस्पताल में भर्ती किया है, जहां उसका उपचार चल रहा है। वहीं दूसरी तरफ मामले को दबाने व आरोपितों को बचाने के लिए सत्ताधारी दल के कुछ राजनीतिक रसूखदारों के द्वारा मामले पर पर्दा डालने के लिए  दबाव बनाया जा रहा है। 

मिली जानकारी के अनुसार प‍िछले 2 दिनों से गायब थी। सोमवार दोपहर तक घर ना आने के कारण उसके पिता ने पुलिस चौकी में मामले की रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंचने पर शराब के नशे में अत्यधिक धुत होने का हवाला देकर मौजूद पुलिस कर्मियों को उसकी बातें समझ नहीं आई तो उसे वापस घर भेज दिया गया था। वहीं दूसरी तरफ मामला बढ़ते देख क्षेत्र के एक राजनीतिक रसूखदार के घर से जुड़े कुछ लोगों का मामले में संलिप्त होने की बातें भी सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि मामला बढ़ते देख सोमवार की देर रात आदिवासी बच्ची को बेसुध हालत में आरोपितों ने उसके घर के बाड़ी में बेहोशी के हालत में फेंक कर फरार हो गए, देर रात उसे बाड़ी में बेसुध अवस्था में पाया गया। गांव के ही किसी व्यक्ति द्वारा चाइल्ड लाइन के हेल्पलाइन नंबर 108 पर कॉल कर मामले की स्थिति से अवगत कराया गया। वहीं मामले में तथाकथित रूप से शामिल राजनीतिक रसूखदार मामला सामने ना आए इसके लिए गांव में दबाव बनाने लगे।  

चाइल्‍डलाइन के अधिकारियों ने पीड़ित के परिजनों से संपर्क कर गांव पहुंचे। जहां से उसे उपचार के लिए नजदीकी अस्पताल में उपचार के लिए पीड़िता को  वाड्रफनगर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जानकारी के अनुसार वाड्रफनगर जाने लगे तो रास्ते में आरोपि‍तों के साथ उनके परिजनों ने उन्हें रास्ते में रोक लिया और थाना या अन्य कहीं जाने पर जान से मारने की धमकी देने लगे। इसी बीच बच्ची की स्थिति नाजुक थी, वहीं विवाद की स्थिति बढ़ने लगी तो चाइल्डलाइन के अधिकारियों ने इसकी जानकारी वाड्रफनगर पुलिस को दी और एसडीओपी ध्रुवेश जयसवाल एवं अन्य पुलिसकर्मी जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंचे और काफी प्रयासों के बाद सोमवार रात्रि 11:00 बजे के आसपास पीड़ित बच्ची को पुलिस व चाइल्डलाइन की संयुक्त टीम ने वाड्रफनगर अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया है। बताया जा रहा है कि पीड़िता को नशे की दवाइयां खिलाने के बाद उसके साथ गैंगरेप किया गया है। समाचार लिखे जाने तक ना ही मामले पर किसी प्रकार का अपराध दर्ज हुआ है और ना ही किसी की गिरफ्तारी हुई है। 

इस संबंध में पुलिस एसडीओपी ध्रुवेश जयसवाल ने बताया कि बच्ची को रात में अस्‍पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। मामला सामूहिक दुष्कर्म का है या नहीं अभी यह नहीं कह सकते अभी तक महिला चिकित्सकों की टीम नहीं पहुंची है, उन्हें बुलाया गया है। चिकित्सकों की टीम पहुंचने के बाद उनके द्वारा जांच की जाएगी। जांच के बाद जो भी रिपोर्ट आएगी, उसके आधार पर ही कार्रवाई की जाएगी।

यह खबर भी पढ़े: IPL 2020/ सुरेश रैना के लिए बंद हुए चेन्नई सुपर किंग्स के द्वार, CSK की वेबसाइट से हटा 'चिन्ना थाला' का नाम

यह खबर भी पढ़े: UP के हाथरस में दलित लड़की ने जिंदगी और मौत की जंग हार गई, प्रियंका गांधी ने योगी सरकार को सुनाई खरी खोटी!

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From crime

Trending Now
Recommended