संजीवनी टुडे

फर्जी तरीके से शिक्षक की नौकरी दिलाने वाली गैंग का पर्दाफाश, पुलिस की गिरफ्त में पिता-पुत्र

संजीवनी टुडे 10-11-2019 16:24:27

यूपी के बाराबंकी में लखनऊ एसटीएफ ने फर्जी ढंग से अध्यापक की नौकरी दिलाने वाली गैंग का पर्दाफाश किया है।


बाराबंकी। यूपी के बाराबंकी में लखनऊ एसटीएफ ने फर्जी ढंग से अध्यापक की नौकरी दिलाने वाली गैंग का पर्दाफाश किया है। पकड़े गए आरोपी बाप-बेटा हैं, जो फर्जी दस्तावेज से हैदरगढ़ ब्लॉक में अनेक वर्षों से बतौर शिक्षक नौकरी कर रहे थे। इन्होंने भर्ती प्रक्रिया में फर्जी डिग्री और नाम के आधार पर नौकरी प्राप्त की थी। 

af

वहीं, ये लोग फर्जी ढंग से से नौकरी दिलाने का रैकेट भी चलाते हैं। ये दोनों पिता-पुत्र गोरखपुर के निवासी हैं, जिन्हें देर रात एसटीएफ ने गिरफ्तार किया। वहीं, एक औरत समेत दो अन्य अध्यापक फरार हैं, जिनकी खोज जारी है। हालांकि, एसटीएफ की तरफ से अभी पूरे प्रकरण का खुलासा नहीं हो पाया है। 

यह खबर भी पढ़े:प्रेमी के लिए पत्नी ने पति को उतारा मौत के घाट और फिर उसके प्राइवेट पार्ट में...

फर्जी डिग्री से नौकरी दिलाने का रैकेट
दोनों पिता-पुत्र गोरखपुर स्थित नगर कोतवाली इलाके के ग्राम गोपालापुर के मूल निवासी है। बाप बृजेश कुमार ने वर्ष 1997 में बेसिक शिक्षा विभाग में सहायक अध्यापक के पद पर बलरामपुर जिले से जयकरन दुबे नाम के दस्तावेजों से नौकरी प्रारंभ की। साल 2016 में महराजगंज जिले से स्थानांतरित होकर बाराबंकी आया। अभी हैदरगढ़ ब्लॉक के पूर्व माध्यमिक विद्यालय गेरावां में सहायक अध्यापक पद पर तैनाती है। 

उसने अपने बेटे आदित्य त्रिपाठी को वर्ष 2009 में रविशंकर त्रिपाठी के नाम से फर्जी डिग्रियों की मदद से सहायक अध्यापक पद पर प्राथमिक स्कूल हैदरगढ़ में नौकरी दिलाई।  ये दोनों अभी बाराबंकी में एक किराए के मकान में जीवन बिताते हैं तथा फर्जी ढंग से नौकरी दिलाने का रैकेट चलाते हैं। 

शिकायत पर एसटीएफ कर रही थी छानबीन 
लगभग 2 दर्जन लोगों से नौकरी के नाम पर रुपए वसूलने को लेकर की गई शिकायत पर एसटीएफ छानबीन कर रही थी।छानबीन में पाया गया कि बृजेश ने अपने बेटे के सिवा सुरेंद्र नाथ, सहायक अध्यापक गुलामाबाद व नवनीता यादव, सहायक अध्यापक मसौली को भी फर्जी ढंग से नौकरी दिलवाई थी। 

सुरेंद्र एवं नवनीता की खोज में एसटीएफ ने उनके घरों पर छापा मारा किन्तु वो नहीं मिले। वहीं, बाप-बेटे को गिरफ्तार कर पूछताछ चल रही है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From crime

Trending Now
Recommended