संजीवनी टुडे

बैंक खाते से रुपये गायब करने वाले पांच गिरफ्तार

संजीवनी टुडे 21-10-2020 19:45:55

बैंक खाते से रुपये गायब करने वाले पांच गिरफ्तार


बांकुड़ा। बैंक खाते से लोगों के रुपये गायब करने वाले पांच साइबर अपराधियों को बांकुड़ा थाने की पुलिस ने गिरफ्तार किया है। बुधवार को बांकुड़ा जिले के अतिरिक्त पुलिस सुपर श्यामल सामंत ने एक पत्रकार सम्मेलन कर इस बारे में जानकारी दी है।उन्होंने बताया कि गत अगस्त महीने में पांच आरोपितों ने मेजिया थाने के गोपालगंज निवासी बिस्वजीत बाउरी के एसबीआई खाते से हैक करके तीन लाख 70 हज़ार निकाल लिया था। परेशान होकर बिस्वजीत बाउरी ने 29 अगस्त को मेजिया पुलिस थाने के साइबर यूनिट में शिकायत दर्ज कराई। उसके बाद में जिला पुलिस सुपर कोटेश्वर राव डीएसपी (डी एंड टी) बिस्वजीत नस्कर, मेजिया थाने के ओसी और बांकुड़ा साइबर अपराध पुलिस स्टेशन के ओसी ने तीनों ने एक जांच टीम का गठन किया। डीएसपी बिस्वजीत के नेतृत्व में जांच शुरू की गयी। जाल बिछाकर आरोपितों को ट्रैक करना शुरू किया गया। गत 17 अक्टूबर को पांच लोगों को गिरफ्तार किया। 

पांच आरोपितों में से चार बीरभूम और एक झारखंड के निवासी है। आरोपितों में बीरभूम थाना के आमजोला निवासी मंगल बक्शी उर्फ ​​मोंटू, मुक्ति बक्शी, लालचंद मंडल और उबर्क़जपुर थाना के मेटेलार निवासी बुद्धदेव गोप शामिल हैं। उमाचरण गोप नामक एक अन्य अपराधी को झारखंड के जामताड़ा से गिरफ्तार किया गया है। सभी की उम्र 21-22 के बीच है। बांकुड़ा अदालत के न्यायाधीश ने बाकी दोषियों को पुलिस हिरासत में रखने का आदेश दिया है, हालांकि मंगल बक्शी जेल हिरासत में लिया गया है।

अतिरिक्त पुलिस सुर श्यामल सामंत ने कहा कि बिस्वजीत बाउरी का एक सिम लंबे समय से  इस्तेमाल नहीं किए जाने के कारण बंद हो गया था। उसका फोन नंबर बैंक खाते, पैन कार्ड, आधार कार्ड से जुड़ा हुआ था। लेकिन सिम का इस्तेमाल न होने के कारण बंद हो गया और सिम किसी तरह अपराधियों के हाथ में आ गया। इससे शिकायतकर्ता बिस्वजीत बाउरी के बैंक खाते सहित सारी जानकारी उनके हाथ लग गयी। फिर अपराधियों ने एंड्रॉइड मोबाइल की मदद से उस खाते से पैसे निकालकर दूसरे खाते में डाल दिया।

पुलिस ने कहा कि जिनके फोन नंबर इन महत्वपूर्ण सूचनाओं से जुड़े हैं उस सिम को इस्तेमाल किया जाना चाहिए। यदि यह किसी भी कारण से रद्द हो जाता है, तो सभी दस्तावेजों के रजिस्टर में एक नया फोन नंबर जोड़कर पुराने नंबर को रद्द कर दिया जाना चाहिए। अब हर थाने में साइबर क्राइम यूनिट खुली है। इस तरह की घटनाओं की सूचना तुरंत दी जानी चाहिए। पुलिस ने इन अपराधियों से 12 मोबाइल सहित कई महत्वपूर्ण सामान जब्त किए हैं। 

यह खबर भी पढ़े: भारतीय राजदूत की मेडागास्कर के प्रधानमंत्री से मुलाकात, द्विपक्षीय सहयोग मजबूत करने पर हुई बात

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From crime

Trending Now
Recommended