संजीवनी टुडे

धौलपुर: 11 साल के बच्चे को किडनैप कर मांगी थी 55 लाख की फिरौती, मध्यप्रदेश से पांचों आरोपी गिरफ्तार

संजीवनी टुडे 27-11-2020 21:49:00

जिले के सरमथुरा कस्बे के 18 नवंबर को किडनैप हुए एक 11 साल के बच्चे के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है।


धौलपुर। जिले के सरमथुरा कस्बे के 18 नवंबर को किडनैप हुए एक 11 साल के बच्चे के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। इस मामले में पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपियों ने बच्चे को किडनैप कर 55 लाख की फिरौती मांगी थी। पुलिस कार्रवाई करते हुए बच्चे को 24 घंटे के अंदर मध्यप्रदेश के नूराबाद से बरामद कर लिया गया था। जिसके बाद से आरोपी फरार थे।

जानकारी के मुताबिक किडनैपर्स की लगातार तलाश की जा रही थी। जिसके लिए आईटी सेल की मदद ली गई। इस दौरान अंकित नाम के एक आरोपी के बारे में पुलिस को जानकारी मिली। जिसकी लोकेशन ट्रेस कर 27 नवंबर को पुलिस द्वारा मध्यप्रदेश के मुरैना और जौरा में दबिश दी गई। जहां पुलिस ने अंकित (19), शाहरुख (20),मोनू सिंह (21), विकास गोयल (20) और आशीष (20) को गिरफ्तार किया। पुलिस पूछताछ के दौरान पांचों ने 11 साल के बच्चे सुखदेव उर्फ कान्हा का अपहरण कर 55 लाख की फिरौती मांगना माना।

आपको बता दे कि, धौलपुर के सरमथुरा कस्बे मेन रोड से 18 नवंबर की सुबह करीब 10 बजे 11 वर्षीय सुखदेव बंसल का अपहरण हो गया था। जिसके बाद 18 नवंबर की शाम को साढ़े 5 बजे अपहरणकर्ताओं ने बालक के पिता को मोबाइल पर फोन कर 55 लाख रुपए की फिरौती मांगी। फिरौती के बारे में पता लगने पर पुलिस की साइबर सेल को तुरंत एक्टिव किया गया। पुलिस ने पिता जगदीश को समझाकर देर तक बदमाशों से बात करवाई। रात तक अपहरणकर्ता 30 लाख की मांग करने लगे थे। गुरूवार को अपहरणकर्ताओं ने घर तक बेचने की घमकी दी, लेकिन जगदीश ने बैंक का कर्जा होने के कारण घर को बेचना असंभव बताया।

पुलिस जांच से डर गए थे अपहरणकर्ता
पुलिस जांच के दौरान दो संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो अपहरण कर्ता डर गए थे। जिन्होंने फिर फोन कर कहा कि जो पैसे देना चाहते हो दो और बच्चे को ले जाओ। इस दौरान पुलिस ने हिरासत में लिए गए संदिग्धों के एमपी स्थित गांव नूराबाद में दबिश दी। जहां अपहरण करने वाले लोग बच्चे को छोड़कर भाग गए थे। जिसके बाद से आरोपियों की तलाश जारी थी।

यह खबर भी पढ़े: पाक मीडिया ने भी माना, OIC के एजेंडे में नहीं शामिल किया गया कश्मीर मुद्दा, पाकिस्तानी अखबारों की खबरें

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From crime

Trending Now
Recommended