संजीवनी टुडे

कारोबारी के घर हुई डकैती का खुलासा, नौ आरोपित पकड़ाए

संजीवनी टुडे 12-07-2020 20:35:45

कारोबारी के घर हुई डकैती का खुलासा, नौ आरोपित पकड़ाए


इंदौर। इंदौर पुलिस के लिए शनिवार की रात सफलता भरी रही। पुलिस ने जहां एक्सिस बैंक में हुई लूट का खुलासा करते हुए मुठभेड़ के बाद लुटेरों को धरदबोचा। वहीं उषा नगर में गत 8 जुलाई को कपड़ा कारोबारी लोकेश चौपड़ा के यहां दिनदहाड़े हुई डकैती के मामले में भी 9 आरोपितों को गिरफ्त में लिया है। पकड़ाए बदमाशों से पूछताछ में पुलिस को पता चला कि इनके निशाने पर एक ज्वेलर्स और दो अन्य व्यापारी भी थे, जिनके यहां ये वारदात को अंजाम देने वाले थे। 

20 मिनट में वारदात को दे दिया था अंजाम

गत 8 जुलाई की शाम 4 बजे अन्नपूर्णा थाना क्षेत्र के उषा नगर के गौरी केसर अपार्टमेंट में कपड़ा कारोबारी लोकेश चोपड़ा के पेंट हाउस में 5 नकाबपोश बदमाश घुसे और लोकेश की पत्नी मंजू और बहू रोहिणी पत्नी राहुल के साथ ही घर में काम करने वाली नौकरानी आरती को बंधक बना लिया था। वहीं रोहिणी के तीन साल के बेटे नील पर हथियार अड़ाकर जान से मारने की धमकी देते हुए यहां से करीब 40 हजार रुपये नकदी और लाखों रुपये के सोने के जेवरात लेकर फरार हो गए थे। पूरी वारदात में महज 20 मिनट लगे। जिस अपार्टमेंट में घटना हुई, उसमें 12 परिवार रहते हैं, लेकिन किसी को बदमाशों के आने और डकैती की भनक तक नहीं लगी। जिस समय घटना हुई, उससे कुछ देर पहले ही डीआईजी अफसरों के साथ क्राइम कंट्रोल करने पर मीटिंग ले रहे थे, वहां से अफसर निकले कि डकैती की सूचना आ गई थी।

20 टीमें बनाई थी आरोपितों की तलाश के लिए 

आईजी विवेक शर्मा ने बताया कि दिनदहाड़े हुए इस सनसनीखेज वारदात के बाद करीब आरोपितों को पकडऩे और वारदात के खुलासे के लिए करीब 20 टीमें लगाई गई थी। पुलिस द्वारा इस तरह की घटनाएं करने वाले पुराने रिकॉर्ड वाले गुंडे बदमाशों की चेकिंग की गई एवं उनसे पूछताछ की गई। सैकड़ों सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए, फील्ड स्टाफ की मदद के लिए टेक्निकल टीम को भी इस कार्य में लगाया गया था। 

ज्वेलर्स के यहां डालने वाले थे वारदात 

एएसपी क्राइम ब्रांच राजेश दंडोतिया के मुताबिक एक टीम को मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई थी कि कुछ बदमाश शनिवार को परस्पर नगर में ज्वेलर्स के यहां डकैती डालने वाले हैै। सूचना पर टीम ने बालदा कॉलोनी में रहने वाले पप्पू पुत्र कन्हैयालाल को धरदबोचा। यह घटना का मास्टरमाइंड है। उससे पूछताछ के बाद एक-एक कर बाकी आठ आरोपितों को भी पकड़ लिया। जब इनसे पूछता हुई तो पता चला कि आरोपित कालानी नगर में नमकीन के व्यापारी और गल्ला व्यापारी के यहां पर भी वारदात को अंजाम देने वाले थे। पूछताछ में आरोपियों ने उषा नगर मेें हुई वारदात भी कबूली।  आरोपितों के पास से पुलिस ने एक देशी कट्टा, एक पिस्टल, दो चाकू ,दो सोने की चेन एक सोने का कड़ा, मंगलसूत्र ,चांदी के सिक्के ,चांदी की अंगूठी एवं 15000 रुपये नकद बरामद किए, साथ ही घटना में उपयोग होने वाले वाहन और मोबाइल भी जब्त किए गए।

एएसपी दंडोतिया ने बताया कि आरोपितों को जानकारी लगी थी कि कपड़ा करोबारी लोकेश चौपड़ा के घर हवाला का रुपया आने वाला है। इसके चलते उन्होंने प्लानिंग की और दो महिने तक रैकी इसके बाद वारदात को अंजाम देने आए थे।

गार्ड ने उपलब्ध कराए थे हथियार 

पुलिस ने बताया कि वारदात का मास्टर माइंड बालदा कॉलोनी का रहने वाला पप्पू है। इसने अपने सगे भांजे के साथ मिलकर लोकेश चौपड़ा के घर की रैकी की थी। वहीं दूसरा आरोपित गोविंद (38) पुत्र मान सिंह ठाकुर निवासी जिला टीकमगढ़ है। यह मल्टी का सिक्योरिटी गार्ड है। पुलिस के मुताबिक इसने बदमाशों को हथियार और परिवार की जानकारी दी थी। तीसरा आरोपित बालदा कॉलोनी का रहने वाला बंटी (35) पुत्र राधेश्याम  है। यह घटना के समय मल्टी में नीचे एक्टिवा से आने जाने वालों पर नगर रख रहा था।

वारदात करने यह घुसे थे फ्लैट में 

पूछताछ की तो पता चला कि आरोपित योजना बनाकर यहां पर आए थे। पकड़ाए आरोपित में सोनू उर्फ अभय (25) पुत्र जितेंद्र तिवारी निवासी स्कीम नंबर 103 तेजपुर गड़बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए 5 अन्य लोगों के साथ फरियादी के घर घुसा था। इसके साथ शुभम (25) पुत्र मनोहर शर्मा निवासी विश्वकर्मा नगर, राहुल (21) पुत्र नगजीराम केवट निवासी ग्राम कायस्थ खेड़ी सांवेर, गोपी (27) पुत्र रमेश पारसनिया निवासी ग्राम कायस्थ खेड़ी सांवेर के अलावा तरुण उर्फ राहुल (29) पुत्र भगवान सिंह निवासी राजनगर सेक्टर-ए  तथा  राजेश उर्फ नेपाली (48) पुत्र कैलाश शिंदे निवासी 57 राज नगर लोकेश चौपड़ा के फ्लैट में घुसे थे। आरोपितों ने घर में घुसते ही ही मंजू, रोहिणी और आरती को बंधक बना लिया था। 

पुलिस के अनुसार वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशा पहल रेकी कर पता लगाते हैं कि घर में कितनी सदस्य हैं। परिवार के हर सदस्य का क्या काम हैं। कब घर पर महिलाएं अकेली रहती हैं। वारदात करने के लिए कौन समय अच्छा रहेगा। वारदात के बाद कहां से भागना है। सीसीटीवी कहां-कहां लगे हैं।रविवार को जब 12 बजे प्रेसकांफेस हुई तो पश्चिम क्षेत्र के एक भी आफिस नजर नहीं आए। बताया जा रहा है कि पश्चिम क्षेत्र की टीम ने इसे सुलझाने के लिए पूरे प्रायस किए और क्राइम ब्रांच को भी इनपुट दिए, लेकिन एंड मूवमेंट पर क्राइम ब्रांच ने आरोपितों को धरदबोचा और पश्चिम क्षेत्र के अधिकारियों को इसकी खबर तक नहीं होने दी इससे नाराज अधिकारी प्रेस कांफ्रेस में नजर नहीं आए।

यह खबर भी पढ़े: गहलोत मंत्रिमंडल की बैठक में पायलट समेत कई मंत्री नहीं पहुंचे

यह खबर भी पढ़े: अमिताभ के बाद अभिषेक बच्चन भी कोरोना पॉजिटिव, फैंस से बोले-हल्के लक्षण हैं, घबराएं नहीं

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From crime

Trending Now
Recommended