संजीवनी टुडे

फर्जी नियुक्ति के मामले में न्यायालय के आदेश पर प्रबंधक समेत पांच के खिलाफ मुकदमा दर्ज

संजीवनी टुडे 06-08-2020 08:30:14

फर्जी नियुक्ति के मामले में न्यायालय के आदेश पर प्रबंधक समेत पांच के खिलाफ मुकदमा दर्ज


देवरिया। अनुदानित मदरसा मदनी दारुल उलूम मेहा हरहंगपुर में एक परिचारक की नियुक्ति के मामले में न्यायालय के आदेश पर बधौचघाट पुलिस ने बुधवार को प्रबंधक, कार्यवाहक प्रधानाचार्य समेत पांच लोगों के खिलाफ मुृकदमा दर्ज किया है। मदरसा में एक युवक की सऊदी अरब में रहने के दौरान साक्षात्कार कर उसकी नियुक्ति कर दिया गया था। बघौच घाट थाना क्षेत्र के मेहा हरहंगपुर गांव के रहने वाले मुहम्मद तहरीर ने आरोप लगाया था कि गांव के ही दिलबहार की नियुक्ति अनुदानित मदरसा मदनी दारुल उलूम में परिचारक के पर नियुक्त किया। युवक की नियुक्ति उस समय किया गया जब वह सऊदी अरब में नौकरी कर रहा था। उसने बताया कि दिलबहार नौ मार्च 2014 को हाउस ड्राइवर के वीज़ा पर सऊदी अरब चला गया। जहां वह दो वर्ष आठ माह नौकरी किया। 

वह 20 अगस्त 2016 को सऊदी से अपने देश वापस आया। सऊदी अरब में रहने के दौरान ही दिलबहार की नियुक्ति वर्ष 2015 में अनुदानित मदरसा मदनी दारूल उलूम मेहा हरहंगपुर में परिचारक के पद कर दी गयी। नियुक्त्ति का साक्षात्कार 6 मार्च 2015 को हुई थी, जिसमें दिलबहार शामिल नहीं था। प्रबंधक हसनैन खान, कार्यवाहक प्रधानाचार्य मेहरुद्दीन व चयन समिति के सदस्यों द्वारा फर्जी दस्तावेज तैयार कर सात मार्च 2015 को नियुक्ति पत्र जारी कर दिया। 09 मार्च 2015 को विदेश में रह रहे दिलबहार को कार्यभार भी ग्रहण करा दिया गया। 

19 जून 2019 को 8.42 लाख रुपये का भुगतान कराया गया। रुपये को परिचालक ने प्रबंधक के पुत्र तल्हा खान के खाते में ट्रांसफर करा दिया। पीड़ित ने सीजेएम कोर्ट में गुहार लगाई। कोर्ट ने मामले की गंभीरता को देखते हुृए सभी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया।

यह खबर भी पढ़े: Rajasthan Politics Update/आज भारत-पाकिस्तान सरहद पर जायेंगे गहलोत समर्थित विधायक, जानिए क्यों?

यह खबर भी पढ़े: राजस्थान में कोरोना नियमों को लेकर हुई सख्ती, अपराध पुलिस महानिदेशक ने कहा- गाईडलाइन्स का उल्लघंन करने पर की जायेगी नियमानुसार कार्यवाही

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From crime

Trending Now
Recommended