संजीवनी टुडे

100 वर्षीय माँ को बिजनेसमैन बेटे ने 140 रु. के साथ रेलवे स्टेशन पर छोड़ा

संजीवनी टुडे 11-11-2017 17:09:46

The son of a 100 year old mother was given R 140 Left at the railway station with

नई दिल्ली। 100 साल की बुजुर्ग महिला को उसका बेटा एक अक्टूबर को चारबाग रेलवे स्टेशन पर छोड़ कर भाग गया था। दो घंटे से ज्यादा देर तक उसकी बुजुर्ग महिला लावारिस हालत में पड़ी रही थी, किसी ने फोन कर निजी संस्था को जानकारी दी। उसके अन्य मेंबर आए एक महीने तक इस बुजुर्ग महिला को अपने पास रखा। इस दौरान उसकी हर सुविधा का ख्याल रखा, सोशल साइट्स पर जानकारी मिलने पर उसकी बेटी एक महीने बाद उसे अपने घर लेकर गई। बेटी के मुताबिक उसका भाई ग्वालियर में फलों का बड़ा व्यापारी है।

यह भी पढ़े: वीडियो : VIDEO : कार सहित बहे आयुष का शव 7 दिन बाद नाले में हुआ बरामद
 

चंपा 1 अक्टूबर 2017 को लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन पर बेहोशी की हालत में पड़ी थी। वहीं से गुजर रहे एक पैसेंजर ने उसकी हालत देखते हुए निजी संस्था को सुचना दी। संस्था के लोगों ने उसे शहर के बलरामपुर हॉस्पिटल में भर्ती करवाया, जहां उसकी जान बच सकी। होश में आने पर चंपा ने बताया कि वो अपने बेटे मुरारी के साथ ग्वालियर से वहां आई थी। स्टेशन पर उतरते ही बेटा मुझे छोड़कर गायब हो गए।

महिला के मुताबिक उसका बेटा अगली ट्रेन पकड़कर ग्वालियर वापस लौट गया, चंपा दो घंटे तक स्टेशन पर पड़ी रही, भूख-प्यास की वजह से वह बेहोश हो गई थी। हेल्पेज इंडिया के डायरेक्टर अशोक ने बताया, "महिला की हालत इतनी खराब थी कि वो अपने घर का पता तक बताने में नाकाम थी। उसके दुपट्टे में ग्वालियर टू लखनऊ का रेल टिकट और 140 रुपए बंधे मिले। "जीआरपी को इन्फॉर्म करने के बाद हम महिला को हॉस्पिटल ले गए, यहां उसका इलाज चल रहा है, चंपा को कोई गंभीर बीमारी नहीं है। सिर्फ बुढ़ापे की वजह से याद्दाश्त और चलने-फिरने की दिक्कतें हैं।"


रस्मी ने कहा, हमने चंपा की फोटो और डिटेल्स फेसबुक-ट्विटर आदि सोशल प्लेटफॉर्म्स पर डालीं, एक FM रेडियो स्टेशन पर भी अनाउंस करवाया। एक महीने की मेहनत के बाद हमें एक महिला का फोन आया, जो खुद को इनकी बेटी बता रही थी।" 5 नवंबर को इनकी बेटी सुषमा इनसे मिलने हॉस्पिटल पहुंची। वो खुद 85 साल की है, अब चंपा उन्हीं के साथ रह रही हैं। चंपा की बेटी सुषमा ने बताया, "मुरारी (60) मेरा छोटा भाई है। 

यह भी पढ़े: गोरखपुर में अलगटपुर बांध टूटने से 4 जिलों में घुसा पानी देखिए VIDEO

ग्वालियर में उसका फ्रूट्स का बिजनेस है, साथ ही उसका बेटा मोबाइल शॉप का ओनर है। उनके पास पैसों की कमी नहीं है, सिर्फ मां की बीमारी से तंग आकर उसने उन्हें इस हाल में छोड़ दिया। शायद भाई और शीला भाभी मां को बोझ समझते हैं। अगर वो मां से पीछा छुड़ाना चाहता है, तो कोई बात नहीं, अब वो मेरे ही पास रहेंगी।" मूलतः ग्वालियर की रहनेवाली चंपा की दूसरी बेटी ऊषा वाराणसी में रहती है। बड़ी बेटी सुषमा लखनऊ में अपने बच्चों के साथ रहती है।

 

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

More From crime

loading...
Trending Now
Recommended