संजीवनी टुडे

इंदिरा गांधी ने देश की एकता और अखण्डता की रक्षा के लिए अपना जीवन न्यौछावर कर दिया: सीएम भूपेश बघेल

संजीवनी टुडे 19-11-2020 15:25:36

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की गुरुवार को जयंती पर निवास कार्यालय में उनके चित्र पर माल्यार्पण कर विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की।


रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की  गुरुवार को जयंती पर निवास कार्यालय में उनके चित्र पर माल्यार्पण कर विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की। इस मौके पर नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव डहरिया, राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, राज्य गृह निर्माण मण्डल के अध्यक्ष कुलदीप जुनेजा, राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष किरणमयी नायक, महापौर एजाज ढेबर, सभापति प्रमोद दुबे उपस्थिति थे।

मुख्यमंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की जयंती 19 नवम्बर पर उन्हें नमन किया है। मुख्यमंत्री ने  कहा  कि इंदिरा गांधी ने आजीवन गरीबों और समाज के कमजोर वर्गों के उत्थान के लिए प्रयास किया और देश की एकता और अखण्डता की रक्षा के लिए अपना जीवन न्यौछावर कर दिया। उन्होंने देश की तरक्की के लिए अनेक कड़े फैसले लिए। उन्हें आयरन लेडी के नाम से भी जाना जाता है।

बघेल ने कहा है कि श्रीमती गांधी ने दूरदृष्टि और पक्के इरादे के साथ देश को नई दिशा प्रदान की। चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में देश का कुशलतापूर्वक नेतृत्व करते हुए अंतर्राष्ट्रीय पटल पर भारत को प्रतिष्ठापूर्ण स्थान दिलाया। उनके हरित क्रांति कार्यक्रम की सफलता ने देश को खाद्यान्न उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाया। श्री बघेल ने कहा कि श्रीमती इंदिरा गांधी बचपन से देश के स्वतंत्रता संग्राम में सक्रिय रहीं। उन्होंने बाल चरखा संघ की स्थापना की और असहयोग आंदोलन के दौरान बच्चों की वानर सेना बनायी। 

प्रधानमंत्री के रुप में उन्होंने बैंकों के राष्ट्रीयकरण, राजाओं के प्रीवीपर्स की समाप्ति जैसे कठोर निर्णय लिए। बांग्लादेश का उदय, भारत का परमाणु शक्ति संपन्न राष्ट्र बनना उनकी प्रमुख उपलब्धियां थीं। उनके कार्यकाल में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन की स्थापना हुई और प्रथम उपग्रह आर्यभट्ट अंतरिक्ष में छोड़ा गया।मुख्यमंत्री बघेल ने इंदिरा गांधी के देश के प्रति योगदान को याद करते हुए कहा  कि उन्होंने  चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में देश का कुशलतापूर्वक नेतृत्व करते हुए अंतर्राष्ट्रीय पटल पर भारत को प्रतिष्ठापूर्ण स्थान दिलाया। उनके कार्यों को कभी भुलाया नहीं जा सकता। छत्तीसगढ़ के ग्रामीण और आदिवासी अंचलों में इंदिरा जी को आदर से याद किया जाता है।

यह खबर भी पढ़े: बड़ा खुलासा: दिल्ली में कई VVIP इलाकों को टारगेट करना था दोनों आतंकियों का मकसद

यह खबर भी पढ़े: अर्थव्यवस्था को लेकर राहुल का हमला, मोदी सरकार की रिपोर्ट कार्ड: कोरोना मृत्यु दर में सबसे आगे, GDP दर में सबसे पीछे

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From chhattisgarh

Trending Now
Recommended