संजीवनी टुडे

किसान सड़कों पर उतरकर कर रहे प्रदर्शन, भाजपा के किसान विरोधी होने का प्रमाण : मोहन मरकाम

संजीवनी टुडे 27-11-2020 21:01:44

किसान सड़कों पर उतरकर कर रहे प्रदर्शन, भाजपा के किसान विरोधी होने का प्रमाण


रायपुर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि देश में ही नहीं प्रदेश में भी जहां-जहां भाजपा की सरकारें है, वहां-वहां के किसान हताश और परेशान है। खरीफ सीजन में किसान फसल बेचने के बजाय सड़कों पर उतरकर मोदी सरकार के काले कानून का विरोध कर रहे हैं। यह मोदी भाजपा के किसान विरोधी होने का जीता जागता प्रमाण है। छत्तीसगढ़ में 15 साल तक रमन भाजपा की सरकार के दौरान भी किसान हताश और परेशान थे।

बीते 7 साल में मोदी सरकार के किसान विरोधी नीतियों के कारण देश भर के किसान हताश और परेशान हैं। चाहे अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार हो या मोदी सरकार या रमन सिंह की सरकार भाजपा की किसी भी सरकार ने किसानों से किए वादों को पूरा नहीं किया है।प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार 22 महीने में तीसरी बार किसानों से धान की 2500 रूपए प्रति क्विंटल की दर पर खरीदी करने जा रही है।

भाजपा लगातार तीसरी बार किसानों को धान की कीमत 2500 रुपये देने पर अड़ंगा लगाने के लिए षड्यंत्र कर रही है। पहली बार किसानों के धान खरीदी में नियम शर्ते लगाई गई। अभी धान खरीदी के लिए मांगी गई गठान बोरा में रोक लगाकर मोदी भाजपा ने अपने किसान विरोधी मंसूबे को पूरा करने का प्रयास किया है।

लेकिन वे सफल नहीं हुए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार किसानों की धान 2500 रुपये कीमत पर बिना रोक-टोक 1 दिसंबर से खरीदेगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय से पूछा कि 15 साल तक मुख्यमंत्री रहे डॉ .रमन सिंह ने किसानों से किए वादों को पूरा नहीं किया। अब मोदी सरकार किसानों को स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिश के अनुसार लागत मूल्य का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य देने में असफल हुई है। 

यह खबर भी पढ़े: CWC बैठक में अहमद पटेल और तरुण गोगोई को दी श्रद्धांजलि, उनके योगदान को किया याद

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From chhattisgarh

Trending Now
Recommended