संजीवनी टुडे

अंशकालीन स्टाफ नर्स भर्ती में अनियमितता का आरोप

संजीवनी टुडे 29-10-2020 21:28:50

अंशकालीन स्टाफ नर्स भर्ती में अनियमितता का आरोप


धमतरी। अंशकालीन स्टाफ नर्स भर्ती प्रक्रिया में अनियमितता के आरोप की शिकायत आप पार्टी के पदाधिकारी व सदस्यों ने जिला प्रशासन से की है। लेनदेन कर कम प्रतिशत वाले अभ्यर्थियों का चयन करने का आरोप लगाया है। इस मामले की जांच कर चयन सूची निरस्त कर पात्र अभ्यर्थियों के चयन करने की मांग की गई है।29 अक्टूबर को अधिवक्ता शत्रुघन सिंह साहू प्रदेश सह संयोजक आप पार्टी की अगुवाई में यूथ विंग प्रदेश अध्यक्ष तेजेन्द्र तोड़ेकर, युवा प्रदेश उपाध्यक्ष निशांत भट्ट, जिला उपाध्यक्ष संजय सिन्हा, जिला यूथ विंग अध्यक्ष सत्यम गोस्वामी, ब्लाक युवा अध्यक्ष चंद्रशेखर लहरे व अन्य कलेक्ट्रेट पहुंचे। 

कलेक्टर जेपी मौर्य को सौंपे ज्ञापन में आरोप लगाते हुए आप पार्टी के पदाधिकारियों व सदस्यों ने बताया है कि संचालक संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं अटल नगर नया रायपुर के आदेशानुसार 28 अक्टूबर को जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग धमतरी के द्वारा अंशकालीन स्टाफ नर्स कोविड-19 के संक्रमण से रोकथाम नियंत्रण एवं आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए स्टाफ नर्स के 30 पदों की भर्ती के लिए वाक इन इंटरव्यू आयोजित की गई। जिसमें सभी अभ्यर्थियों को रात आठ बजे तक यह कहकर भेज दिया गया कि आज इंटरव्यू नहीं होगा, लेकिन बाद में चयन सूची जारी कर दी गई। 28 अक्टूबर को जारी अन्य पिछड़ा वर्ग के पात्र अभ्यर्थियों की चयन सह प्रतीक्षा सूची में व्यापक अनियमितता बरतने का आरोप विभाग के चयन समिति पर लगाया है। इसकी जानकारी आप पार्टी तक अभ्यर्थियों ने की है। 

इस मामला में आम आदमी पार्टी ने जारी चयन सूची को निरस्त करने की मांग की है। आरोप है कि अभ्यर्थियों को इंटरव्यू लिए बगैर ही वापस भेजने के बाद मनमाने तरीके से अपने चहेतों को लाभ पहुंचाने की नीयत से नियम विरुद्ध अन्य पिछड़ा वर्ग के पात्र अभ्यर्थियों की चयन सह प्रतीक्षा सूची रात्रि में पात्र-अपात्र सूची जारी की गई। जबकि रात्रि आठ बजे सभी अभ्यर्थियों को इंटरव्यू नहीं होगा कहकर भेज दिया गया था। इस भर्ती में लेनदेन का भी आरोप लगाया गया है। अधिक प्राप्तांक का चयन नही कर कम प्राप्तांक वालों का चयन किया गया है। 

पात्र सूची के सरल क्रमांक 39 में अभ्यर्थी कल्याणी पुत्री बनाफर साहू मरौद का नाम है, जिसका बीएससी (नर्सिंग) में 67.39 प्रतिशत है जिसका चयन नहीं हुआ है। जबकि चयन सूची के सरल क्रमांक 25 से निरंतर अवलोकन करने पर 67 प्रतिशत से कम अंक वालों का चयन किया गया है। जिससे स्पष्ट है कि चयन सूची बनाने में व्यापक अनियमितता बरती गई है।

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From chhattisgarh

Trending Now
Recommended