संजीवनी टुडे

सितंबर अंत तक शैक्षणिक संस्थान खोलने की तैयारी में केंद्र सरकार, दो शिफ्टों में खोला जाएगा स्कूल...

संजीवनी टुडे 11-08-2020 11:22:19

देश में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं और अब यह संख्या 20 लाख से उपर चली गई है। लेकिन इन हालातों के बीच भी केंद्र सरकार पिछले लगभग 5 माह से बंद शैक्षणिक संस्थानों को खोलने की योजना बना रही है।


नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं और अब यह संख्या 20 लाख से उपर चली गई है। लेकिन इन हालातों के बीच भी केंद्र सरकार पिछले लगभग 5 माह से बंद शैक्षणिक संस्थानों को खोलने की योजना बना रही है। सरकार सितंबर मध्य तक इस बारे में अपना फैसला सुना सकती है। सरकार का कहना है कि अभिभावकों और राज्य सरकारों से मिले-जुले सुझावों को ध्यान में रखते हुए सरकार स्कूलों को फिर से खोलने की योजना तैयार कर रही है। बताया जा रहा है कि स्कूलों को चरणबद्ध तरीके से खोला जाएगा।

school

जानकारी के अनुसार सरकारी अधिकारियों की माने तो शैक्षणिक सत्र 2020-21 आधा गुजर चुका है इसके बाद भी इस सत्र को जीरो ईयर नहीं माना जाएगा। केंद्र सरकार ने स्कूलों को दोबारा खोलने को लेकर राज्यों से और अभिभावकों से राय मांगी थी। इस पर अभिभालवकों की राय मिलने से पता चलता है कि अभिभावक अक्टूबर तक स्कूलों को खोलने के पक्षधर हैं।

राज्यों पर छोड़ा जाएगा अंतिम फैसला

खबर के मुताबिक उनका कहना है कि ऑनलाइन क्लास में पूरी तरह से बच्चों की पढ़ाई संभव नहीं है। इसलिए सितंबर-अक्टूबर में स्कूलों को खोलने का फैसला लिया जाए। केंद्र सरकार के शिक्षा, स्वास्थय और गृह मंत्रालय मिलकर स्कूलों को खोलने के लिए गाइडलाइन बनाएंगे। हालांकि स्कूलों को फिस से खोलने का अंतिम फैसला राज्य सरकारों पर छोड़ा जाएगा।

school

दो पारी खोला जाएगा स्कूल

जब भी स्कूल खुलते हैं तो उन्हें दो पारियों में खोला जाएगा। पहले बोर्ड परीक्षाओं के बच्चों को ही स्कूल में बुलाया जाएगा। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह से ख्याल रखा जाएगा। कम समय के लिए ही कक्षाएं लगेंगे, वहीं एक कक्षा में पढ़ाई होने के बाद उसमें 15-24 घंटे का अंतराल रखा जाएगा। इसके लिए स्थानीय प्रशासन स्कूलों से जानकारी लेगा।

बोर्ड परीक्षाओं के बाद 10वीं और 9वीं कक्षाओं के छात्रों को भी स्कूल बुलाया जाएगा। वहीं दिवाली के बाद छठी से आठवीं कक्षा तक के छात्रों को बुलाया जाएगा, यदि हालात ठीक रहे तो। हालांकि प्राइमरी कक्षाएं घर से ही ऑनलाइन ली जाएंगी।

school

कम समय के लिए लगेगी क्लास

स्कूल दोबारा खुलने पर समय-सीमा तीन या चार घंटे की रहेगी। इसका मकसद जरूरी विषयों की पढ़ाई करवानी होगी। एक दिन एक विषय दूसरे दिन दूसरे विषय की पढ़ाई होगी। इसमें कम से कम किताब स्कूल लानी होगी। समय घटाने के कारण स्कूल में लंच ब्रेक नहीं होगा।

यह खबर भी पढ़े: Rajasthan Politics Update/बसपा के 6 विधायकों की ट्रांसफर याचिका पर हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From career

Trending Now
Recommended