संजीवनी टुडे

लॉकडाउन में संस्कृतभारती सिखा रही आनलाइन संस्कृत, लोग कर रहे समय का सदुपयोग

संजीवनी टुडे 30-03-2020 20:50:34

समग्र विश्व कोरोना महारोग से लड़ रहा है। अपने पूरे देश में भी प्रधानमंत्री के आह्वान पर 21 दिनों का लॉकडाउन चल रहा है। लोग आत्मरक्षा में घरों में ही रहने को मजबूर हैं।


झांसी। समग्र विश्व कोरोना महारोग से लड़ रहा है। अपने पूरे देश में भी प्रधानमंत्री के आह्वान पर 21 दिनों का लॉकडाउन चल रहा है। लोग आत्मरक्षा में घरों में ही रहने को मजबूर हैं। वहीं संस्कृतभारती इस कठिन परस्थिति में समय का सदुपयोग करते हुए समाज के हतोत्साह को दूर करने हेतु व्हाट्सएप पर मनोरंजन के साथ निःशुल्क संस्कृत सिखा रही है। लोग घर बैठ कर ही ऑनलाइन मुक्त संस्कृत कक्षा से बड़े उत्साह के साथ देवभाषा सीखते हुए समय का सदुपयोग कर रहे हैं।

’मुक्त संस्कृत कक्षा’ योजना के संयोजक संस्कृतभारती के प्रान्तीय संघटन मन्त्री प्रकाश झा ने बताया कि लॉकडाउन का इससे उत्तम उपयोग नहीं हो सकता। लाॅकडाउन के इस समय का सदुपयोग करते हुए हम अपनी संस्कृति और संस्कारों की पोषिका संस्कृतभाषा से जुड़कर उसका ज्ञान प्राप्त करें। उन्होंने बताया कि हमने लोगों से आह्वाहन किया था कि कोरोना के कारण हम सभी लोग अपने-अपने घर पर ही हैं, क्यों न इस अवसर का लाभ अपने ज्ञान के सम्पादन में लगायें, और देवभाषा संस्कृत सीखें। जिस पर अत्यन्त उत्साह के साथ लोगों ने सहभागिता की है। 

एक सप्ताह के पाठ्यक्रम में प्रतिदिन दो घंटे की कक्षा
हमने एक सप्ताह का सरल पाठ्यक्रम बनाया जिसमें प्रतिदिन 2 घण्टे का शिक्षण हो सके। साथ ही विद्वानों से भी सम्पर्क किया ताकि वे विषयानुसार अपनी वीडियो क्लिप बनाकर हमें भेजें। प्रथम चरण 24 मार्च से प्रारम्भ किया जिसमें प्रारम्भ में मात्र 25 छात्र थे जोकि  31 मार्च को प्रथम चरण की समाप्ति से पहले ही बढ़कर आज 85 हो गयी है । प्रतिदिन 8- 10 नये शिक्षार्थी इस से जुड़ रहे हैं । इस प्रयोग की सफलता को देखकर 02 अप्रैल से 09 अप्रैल 2020 के मध्य इसका दूसरा चरण भी प्रारम्भ करेंगें। अन्य जनपदों और राज्यों में भी लोग इस प्रयोग को अपनाने  लगे हैं।

आयु बंधंन से मुक्त संस्कृत कक्षा 
मुक्त संस्कृत कक्ष्या में आयु, वर्ग का कोई बन्धन नहीं है। इसलिए इसमें छोटे बड़े सभी उम्र के तथा विभिन्न व्यवसायों से जुड़े लोग जैसे-डॉक्टर, इंजीनियर, गणितज्ञ, शिक्षक, आई0 आई0 आई0 टी 0 प्रोफेसर , बैंक अधिकारी और समाजसेवी जुड़े हैं। 

ऐसे जुड़े मुक्त संस्कृत कक्षा से
कानपुर से संचालित इस संस्कृत शिक्षण में कानपुर ही नहीं अपितु ललितपुर, कन्नौज, औरैया, फतेहपुर, झांसी, उन्नाव, सीतापुर ,जयपुर आदि जिलों के जिज्ञासु भी घर बैठे व्हाट्सएप द्वारा ऑनलाइन संस्कृत सीख रहे हैं। और अपने मित्रों को भी शेयर कर रहे हैं। साथ साथ विभिन्न विद्वानों की कक्षाओं का वीडियो भी प्राप्त कर रहे हैं। प्रतिदिन अपराह्न 3 बजे से 5 बजे तक मुक्तसंस्कृत कक्ष्या द्वारा कोई जिज्ञासु निःशुल्क संस्कृत वीडियो लिंक, प्रार्थना, गीत,संवाद, कथा,सम्भाषण इत्यादि प्राप्त कर सकता है । जिसके लिये इच्छुक जन वाट्सएप संख्या ’7376812595’ पर ’मुक्तसंस्कृत कक्षा’ लिखकर इस कक्षा से जुड़ सकते हैं।

यह खबर भी पढ़े: राजस्थान: संदिग्ध महिला की मौत के बाद मचा हड़कप, हॉस्पिटल स्टाफ और मृतका के परिजनों को किया क्वारेन्टाइन

यह खबर भी पढ़े: लॉकडाउन में बाजार के हाल जानने निकले SDM, लोगों पूछा- दुकानदार अधिक दाम तो नहीं वसूल रहे?

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From career

Trending Now
Recommended