संजीवनी टुडे

PRD प्रमाण पत्र के जरिए भर्ती रोडवेज संविदा बस परिचालकों की जांच शुरू, 90 प्रतिशत फर्जी

संजीवनी टुडे 08-06-2019 04:11:00

राज्य सड़क परिवहन ​निगम (रोडवेज) में प्रांतीय रक्षक दल (PRD) के प्रमाण पत्र के जरिए भर्ती हुए संविदा बस परिचालकों (कंडक्टरों) की जांच शुरू हो गई


लखनऊ। उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन ​निगम (रोडवेज) में प्रांतीय रक्षक दल (PRD) के प्रमाण पत्र के जरिए भर्ती हुए संविदा बस परिचालकों (कंडक्टरों) की जांच शुरू हो गई है। वहीं लखनऊ में संविदा बस परिचालकों के 90 प्रतिशत पीआरडी प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए हैं। 

क्षेत्रीय प्रबंधक पल्लव बोस ने शुक्रवार को बताया कि पीआरडी प्रमाण पत्र के जरिए भर्ती हुए संविदा बस परिचालकों की जांच शुरू हो गई है। उन्होंने बताया कि पीआरडी प्रमाण पत्र के जरिए संविदा बस परिचालकों की भर्ती करने के आदेश परिवहन निगम मुख्यालय से काफी पहले जारी किए गए थे। इसी आधार पर लखनऊ में भी बस परिचालकों की भर्ती की गई थी। 

इनमें लखनऊ क्षेत्र में भर्ती किए गए बस परिचालकों के प्रमाण पत्रों की जांच की गई तो 90 प्रतिशत प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए हैं। इसलिए सभी बस परिचालकों को नोटिस भेजकर जबाव मांगा जा रहा है।

क्षेत्रीय प्रबंधक ने बताया कि लखनऊ समेत प्रदेश भर में डेढ़ हजार से ज्यादा बस परिचालकों की भर्ती हुई थी। भर्ती में बिना प्रमाण पत्रों की जांच किए ही संविदा बस परिचालकों की भर्ती कर दी गई थी। इसलिए अब शुरूआती जांच में जिनके प्रमाण पत्र फर्जी पाए जा रहे हैं उनकी नौकरी खतरे में है।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

गौरतलब है हि वर्ष 2011 से 2014 के बीच परिवहन निगम में बड़े स्तर पर पीआरडी कोटे से बस परिचालकों की भर्ती हुई थी। निगम मुख्यालय से जारी सरकुलर में प्रमाण पत्रों की जांच किए बिना भर्ती नहीं होनी थी। पर क्षेत्रीय स्तर पर तैनात अफसरों ने बिना जांच किए भर्ती कर ली। अब इस मामले में शासन स्तर पर हुई शिकायत के बाद प्रमाण पत्रों की जांच शुरू की गई है।

मात्र 220000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188

More From career

Trending Now
Recommended