संजीवनी टुडे

बिहार में मेडिकल कॉलेज कैंपस से ही होगी चिकित्सकों की नियुक्ति

संजीवनी टुडे 04-08-2019 04:15:00

अगले एक साल में चिकित्सकों की रिक्तियों को भरने के लिए मेडिकल काॅलेज कैंपस से सीधे नियुक्तियां की जाएंगी।


पटना। बिहार सरकार राज्य में चिकित्सकों की कमी को दूर करने के लिए अब मेडिकल कॉलेज कैंपस से ही चिकित्सकों की सीधी नियुक्ति करेगी। उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आज यहां ‘इंडियन काॅलेज ऑफ कार्डियोलाॅजी’ के वार्षिक सम्मेलन के उद्घाटन के बाद अपने संबोधन में कहा कि अगले एक साल में चिकित्सकों की रिक्तियों को भरने के लिए मेडिकल काॅलेज कैंपस से सीधे नियुक्तियां की जाएंगी। 

उन्होंने कहा कि बिहार में चिकित्सकों,नर्सों और पारा मेडिकल कर्मचारियों की भारी कमी इसलिए है कि वर्ष 2005 के पहले की सरकारों ने सरकारी क्षेत्र में एक भी नया मेडिकल और नर्सिंग काॅलेज नहीं खोला। वर्तमान राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार 11 नए मेडिकल काॅलेज खोलने जा रही है। इस अकादमिक सत्र से बिहार के मेडिकल काॅलेजों में लगभग 1400 छात्रों का नामांकन होगा। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल

मोदी ने कहा कि तमिलनाडु में जहां 49 मेडिकल काॅलेज और 253 आबादी पर एक चिकित्सक हैं वहीं केरल में 34 मेडिकल काॅलेज और 535 पर एक चिकित्सक, कर्नाटक में 57 मेडिकल काॅलेज और 507 की आबादी पर एक चिकित्सक जबकि बिहार में केवल 13 मेडिकल काॅलेज और 3207 जनसंख्या पर एक डाॅक्टर हैं। वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मानक के अनुसार प्रति 1000 की आबादी पर एक डाॅक्टर होना चाहिए। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

yhjy

More From career

Trending Now
Recommended