संजीवनी टुडे

जैकः इंटर आर्ट्स में बेटियों ने भरी हौसलों की उड़ान, टॉप थ्री में मारी बाजी, मनाली गुप्ता स्टेट टॉपर

संजीवनी टुडे 21-05-2019 21:48:56


रांची। झारखंड एकेडमिक काउंसिल (जैक) ने इंटरमीडिएट आर्ट्स का रिजल्ट मंगलवार को जारी कर दिया। राज्य के कुल 79.90 प्रतिशत बच्चे सफल हुए हैं। राज्य की बेटियों ने एक बार फिर हौसलों की उड़ान भरी और अपने बढ़ते कदम का नजारा पेश किया। राज्य में टॉप थ्री में बेटियों ने बाजी मारी है। लड़कों के मुकाबले लड़कियों कि सफलता दर 4 प्रतिशत अधिक है।

पतरातू की बेटी मनाली गुप्ता ने राज्य में टॉप किया है। उसे 87.4 प्रतिशत अंक हासिल हुए हैं। उसने इस परीक्षा में 437 प्राप्‍तांक हासिल किए हैं। दूसरे नंबर पर रांची वीमेंस कॉलेज की छात्रा प्रमिला किस्‍कू रही। प्रमिला ने 422 प्राप्‍तांक के साथ 84.4 फीसदी अंक प्राप्‍त किया है। राज्‍य भर में तीसरे स्‍थान पर गांधी इंटर कॉलेज की छात्रा पलक है। पलक को 84 फीसद अंक मिले हैं। उसने परीक्षा में 420 प्राप्‍तांक हासिल किया है। टॉपर मनाली ने कहा कि वह आईएएस बनना चाहती है। वह अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता और शिक्षकों को देती है।

जैक ने मैट्रिक, इंटरमीडिएट साइंस और कॉमर्स के बाद आर्ट्स इंटरमीडिएट का रिजल्ट घोषित किया। आर्टस में इस वर्ष 79.97 विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। सबसे अधिक बच्चे सिमडेगा जिला में सफल हुए हैं। सिमडेगा के बच्चों की सफलता दर 97.60 प्रतिशत के साथ अव्वल है। उसके बाद खूंटी के बच्चों का नंबर आता है। खूंटी के बच्चों की सफलता दर 96.17 है। 92.29 अंक के साथ रामगढ़े जिले के विद्यार्थी राज्य में तीसरे स्थान पर हैं। रांची के बच्चे जिलावार रैंकिंग में नौवें स्थान पर हैं। रांची के बच्चों की सफलता दर 86.43 है। सबसे खराब रिजल्ट चतरा जिले का है। चतरा के 53.18 प्रतिशत बच्चे ही पास हुए हैं। पलामू 23वें नंबर पर है। वहां का रिजल्ट 53.43 प्रतिशत है। हालांकि स्टेट टॉपर की लिस्ट में रांची जिले के 2 विद्यार्थी शामिल हैं।

इस वर्ष एक लाख 86 हज़ार 524 परीक्षार्थी ने आवेदन किया था, लेकिन इसमें एक लाख 84 हज़ार 384 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए। एक 47 हजार 468 परीक्षार्थियों ने सफलता पायी। प्रथम श्रेणी से 18 हजार 130 विद्यार्थी, द्वितीय श्रेणी से 96 हजार 724 तथा तृतीय श्रेणी से 32 हजार 597 विद्यार्थी सफल हुए हैं। पास अभ्यर्थियों की संख्या 17 है। कुल 7 9.97 फ़ीसदी परीक्षार्थी सफल हुए हैं। इस बार पिछले वर्ष की तुलना में रिजल्ट बेहतरीन हुआ है। 78 हजार 386 छात्रों ने परीक्षा दी थी। उसमें 61 हजार 76 छात्र उत्तीर्ण हुए तथा एक लाख 5 हजार 998 छात्राएं इस परीक्षा में सम्मिलित हुई थीं। इनमें 86 हजार 392 छात्राएं सफलता हासिल की हैं।

सेकेंड डिवीजन से सबसे अधिक बच्चे पास
जैक के आर्ट्स संकाय में सबसे अधिक बच्चे सेकेंड डिवीजन से पास हुए हैं। 96,724 बच्चे सेकेंड डिवीजन से पास हैं। वहीं, थर्ड डिवीजन से 32,597 बच्चे पास हैं। सबसे कम संख्या में प्रथम श्रेणी से बच्चे पास हुए हैं। मात्र 18,130 बच्चों को ही 60 प्रतिशत से अधिक नंबर मिले हैं।

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने दी बधाई
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सभी सफल छात्र-छात्राओं को बधाई दी है। कहा, सभी छात्र और छात्राएं पूरी ईमानदारी से पढ़ाई करते हुए अपना भविष्य उज्जवल करें और राज्य का मान बढ़ायें। आप सभी की उज्जवल भविष्य की मैं कामना करता हूं।

जिलावार अंक का प्रतिशत
सिमडेगाः 97.67

खूंटीः 96.17

रामगढ़ः 92.29

हजारीबागः 90.45

लातेहारः 90.43

सरायकेलाः र88.27

पू. सिंहभूमः 87.98

लोहरदगाः 86.44

रांचीः 86.43

गुमलाः 85.48

देवघरः 82.32

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

धनबादः 82.16

गढ़वाः 80.12

प. सिंहभूमः 77.37

जामताड़ाः 77.11

दुमकाः 76.92

गिरिडीहः 76.37

साहेबगंजः 76.05

बोकारोः 75.00

कोडरमाः 73.08

पाकुड़ः 68.11

गोड्डाः 65.42

पलामूः 63.43

चतराः 53.18

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From career

Trending Now
Recommended