संजीवनी टुडे

पिछले तीन साल से कागजों में ही उलझ रही है शिक्षक भर्ती, बेरोजगार और दिव्यांग कर रहे इंतजार

संजीवनी टुडे 22-08-2019 20:49:46

द्वितीय श्रेणी शिक्षक भर्ती-2015 को पिछले लगभग तीन साल से कागजों में ही उलझा के रखा है।


अजमेर। राजस्थान लोक सेवा आयोग व शिक्षा विभाग की पुरानी लापरवाही ने द्वितीय श्रेणी शिक्षक भर्ती-2015 को पिछले लगभग तीन साल से कागजों में ही उलझा के रखा है। जिसमे शिक्षा विभाग ने भर्ती की योग्यताओं को विज्ञप्ति के समय पूरी तरह स्पष्ट नहीं किया था। जिसका खमियाजा प्रदेश के बेरोजगार और दिव्यांग छात्रों को भुगतना पड़ रहा हैं। गत वर्षों में निकली वैकेंसी में 211 पदों की भर्ती में से मात्र 110 अभ्यर्थियों को ही नौकरी मिल पायी है। जबकि मुख्य सूची के अन्य 95 चयनितों के दस्तावेज सत्यापन में विशेष शिक्षा के दस्तावेज नहीं दे पाने की वजह से अयोग्य घोषित कर दिया गया है।

यह खबर भी पढ़ें: भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने यंग प्रोफेशनल के रिक्त पदों पर मांगे आवेदन, फीस- निःशुल्क

राजस्थान लोक सेवा आयोग की ओर से फरवरी 2018 में ऑनलाइन पैटर्न पर द्वितीय श्रेणी की शिक्षक भर्ती कराई थी। इस भर्ती का परिणाम विभाग ने नवम्बर 2018 में जारी कर दिया था। इसके बाद लगभग आठ महीने दस्तावेज सत्यापन में लगा दिए थे।

यह खबर भी पढ़ें: फोरमैन एवं सर्वेयर सहित कई पदों पर निकली वैकेंसी, सैलरी- 1 लाख से अधिक

लोक सेवा आयोग की ओर से अगस्त महीने में 81 अभ्यर्थियों का चयन पिकअप सूची में किया गया है। जिसमे सामाजिक विज्ञान में 7, गणित में 13, उर्दु में 1, विज्ञान में 16, संस्कृत में 14, हिन्दी में 13 व अंग्रेजी में 17 अभ्यर्थियों को लिया गया है।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल

सरकारी स्कूलों में कक्षा 9वीं से 12वीं तक के बच्चों को पढ़ाने के लिए चौथाई विशेष शिक्षक भी नहीं है। लगातार भर्ती प्रक्रिया में देरी होने की वजह से दिव्यांग विद्यार्थियों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। आधा सत्र के बाद भी विभाग में विशेष शिक्षक नहीं लग सके।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From career

Trending Now
Recommended