संजीवनी टुडे

कम उपस्थिति के कारण बोर्ड ने 10,500 छात्रों को एसएसएलसी की परीक्षा से रोका

संजीवनी टुडे 19-03-2019 14:00:09


बेंगलुरु। गुरुवार से शुरू होने वाली सेकेंडरी स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट (एसएसएलसी) की परीक्षा में 75 फीसदी से कम उपस्थिति वाले छात्र इस वर्ष परीक्षा नहीं दे सकेंगे। बोर्ड के इस निर्णय से 10,500 छात्र प्रभावित होंगे और उन्हें परीक्षा पास करने के लिए एक वर्ष और इंतजार करना होगा।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

कर्नाटक माध्यमिक शिक्षा परीक्षा बोर्ड की निदेशक सुमंगला वी. ने बताया कि कक्षा में 75 फीसदी से कम उपस्थित होने के कारण इस वर्ष 10,500 छात्र परीक्षा में शामिल नहीं हो सकेंगे। ऐसे छात्रों को बोर्ड ने परीक्षा के लिए अनुमति टिकट जारी नहीं किया। अब यह छात्र अगले शैक्षणिक वर्ष मार्च 2020 में एसएसएलसी परीक्षा दे सकेंगे। ऐसे छात्रों को 2019 में पूरक परीक्षा की भी अनुमति नहीं दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि कम उपस्थिति वाले छात्रों की संख्या पिछले वर्ष की तुलना में कम हुई है क्योंकि वर्ष 2018 की परीक्षा में 16,811 छात्रों को परीक्षा देने की अनुमति नहीं मिली थी। 21 मार्च और 4 अप्रैल के बीच होने वाली एसएसएलसी परीक्षा में कुल 8.41 लाख छात्र बैठेंगे। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

पिछले साल की तुलना में परीक्षा में बैठने वाले छात्रों की संख्या 3,578 बढ़ी है। लोक शिक्षण विभाग के आयुक्त पी.सी. जाफर ने एकदिन पूर्व ही परीक्षा के दिन केंद्र के 200 मीटर के दायरे में धारा 144 लागू होने की जानकारी दी थी। इस दौरान फोटो कॉपी के सभी प्रतिष्ठान बंद रहेंगे।

More From career

Loading...
Trending Now
Recommended