संजीवनी टुडे

तदर्थ शिक्षकों को निकाला नहीं जाएगा, न ही गेस्ट टीचर में बदला जाएगा- सरकार

संजीवनी टुडे 07-12-2019 16:54:27

डूटा अध्यक्ष राजीव रे बताया कि तदर्थ शिक्षकों को निकाला नहीं जाएगा और न उन्हें गेस्ट टीचर में बदला जाएगा। अब सभी 4500 तदर्थ शिक्षकों को सुरक्षा मिल गई है।


नई दिल्ली। सरकार ने दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक के हड़ताली शिक्षकों को आश्वासन दिया है कि तदर्थ शिक्षकों को गेस्ट टीचर में नहीं बदला जाएगा लेकिन उन्हें समयोजित करने के बारे में कोई ठोस वचन नहीं दिया है। शिक्षक संघ के नेताओं की मानव संसाधन विकास मंत्रालय में चली बैठक में यह निष्कर्ष निकाला गया।

यह खबर भी पढ़ें:​ ​JEE Main Admit Card 2020: जेईई मेन परीक्षा एडमिट कार्ड जारी, ऐसे करें डाउनलोड

पूर्वाह्न 11 बजे से आज शाम तक चली हड़ताल के बाद मंत्रालय के अधिकारियों के साथ शिक्षक नेताओं को बातचीत के लिए बुलाया गया। दो घण्टे तक चली बैठक में उच्च शिक्षा सचिव आर. सुब्रमण्यम ने शिक्षक नेताओं से बातचीत की। बैठक में शिक्षकों की तरफ से पांच प्रतिनिधियों ने लिया भाग।

यह खबर भी पढ़ें:​ ​Postal Circle Recruitment 2019: डाक विभाग में 5,778 पदों पर बंपर भर्तियां, जल्द करें आवेदन

बैठक के बाद डूटा अध्यक्ष राजीव रे बताया कि तदर्थ शिक्षकों को निकाला नहीं जाएगा और न उन्हें गेस्ट टीचर में बदला जाएगा। सरकार ने आर्थिक रूप से कमजोर शिक्षकों के आरक्षण के लिए अतिरिक्त सीट निकालने का भरोसा दिलाया है लेकिन 28 अगस्त के पत्र को वापस लेने की बजाय एक नया पत्र जारी किया जाएगा जिसमें तदर्थ शिक्षकों के हितों की रक्षा की जाएगी।

यह खबर भी पढ़ें:​ ​LIC HFL Recruitment 2019: सहायक प्रबंधक पदों पर सरकारी नौकरी, ऐसे होगा चयन

राजीव रे ने कहा कि 38 सौ के आसपास तदर्थ शिक्षकों की नौकरी पहले ही वाइस चांसलर से बैठक के दौरान सुरक्षित हो गईं थी लेकिन अब सभी 4500 तदर्थ शिक्षकों को सुरक्षा मिल गई है।

यह पूछे जाने पर कि क्या हड़ताल खत्म हो गई है, डूटा के उपाध्यक्ष आलोक पांडे ने कहा कि हड़ताल अभी जारी है। डीयू टीचर संघ कल बैठक के दौरान ही यह फैसला लेगा कि हड़ताल को आगे जारी रखना है या नहीं। फिलहाल विश्वविद्यालय में सेमेस्टर परीक्षायें चल रही हैं, जिसका टीचर्स ने बायकाट करने का फैसला लिया है जिसकी वजह से करीब एक लाख छात्र प्रभावित हो रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From career

Trending Now
Recommended