संजीवनी टुडे

प्रदेश में 21 हजार विद्यार्थियों को 18.67 करोड़ छात्रवृत्ति ऑनलाइन वितरण

संजीवनी टुडे 19-06-2019 13:54:42

एमपीटास से प्रथम वर्ष के लगभग 21 हजार विद्यार्थियों को 18.67 करोड़ छात्रवृत्ति वितरित की गई है। साथ ही जेईई, नीट, क्‍लैट में सफल 46 विद्यार्थियों को 23 लाख रुपये उनके खाते में सीधे ऑनलाइन जमा कराये गये हैं।


भोपाल। राज्य सरकार द्वारा गत 6 माह में 15 नये सीनियर छात्रावास भवन निर्माण के लिये 3312.40 लाख, 8 महाविद्यालयीन छात्रावास भवन के लिये 1766.40 लाख एवं 20 विशेष पिछड़ी जाति के छात्रावास भवन के लिये 4400 लाख की राशि स्वीकृति की गई है। अभी तक 2 एकलव्य आवासीय विद्यालय, 48 छात्रावास, 50 उच्चतर माध्यमिक विद्यालय एवं 30 आश्रम शाला भवन सहित 130 भवनों का निर्माण कार्य पूर्ण किया गया है। यह जानकारी मंगलवार को जनसंपर्क अधिकारी मुकेश दुबे ने दी। 

उन्‍होंने बताया कि प्रदेश में आदिवासी छात्र-छात्राओं के लिये प्रारंभ की गई पेपरलेस स्व-सत्यापित प्रक्रिया (एमपीटास) से प्रथम वर्ष के लगभग 21 हजार विद्यार्थियों को 18.67 करोड़ छात्रवृत्ति वितरित की गई है। साथ ही जेईई, नीट, क्‍लैट में सफल 46 विद्यार्थियों को 23 लाख रुपये उनके खाते में सीधे ऑनलाइन जमा कराये गये हैं। इसके साथ ही राज्य शासन द्वारा 89 आदिवासी विकासखण्डों में अनुसूचित जनजाति समुदाय के लिये हाट-बाजारों में बैंक एटीएम स्थापित किये गये हैं। इसके लिये पायलट प्रोजेक्ट के साथ केन्द्र शासन से 12 करोड़ की राशि स्वीकृत कराई गई है। दुबे ने बताया कि वनाधिकार के निरस्त दावेदारों को माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा बेदखल करने के आदेश के विरुद्ध पुनर्विचार याचिका की गई थी। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

इसी तरह आदिवासी क्षेत्रों में इंटरनेट कनेक्टिविटी की पहल की गई है। प्रदेश के 89 आदिवासी विकासखंडों में इंटरनेट कनेक्टिविटी के लिये भारत सरकार के टेलीकॉम मंत्रालय को प्रस्ताव भेजा गया है। साथ ही आदिवासी छात्रों को अंग्रेजी माध्यम से शिक्षा प्रदान करने के प्रयासों में तेजी लाते हुये 134 आश्रम शालाओं में अंग्रेजी शिक्षण सहायकों के लिए 12 करोड़ की योजना स्वीकृत की गई है। इसी के साथ 1546 छात्रावास अधीक्षकों को ऑनलाइन हॉस्टल संचालन का प्रशिक्षण दिलवाया जा रहा है। इसके अलावा विशेष पिछड़ी जनजातियों के सिकिल सेल अनीमिया से पीड़ितों के इलाज के लिए 3.12 करोड़ की परियोजना स्वीकृत की गई है। आयुष विभाग के माध्यम से पीड़ितों की हौम्योपैथी चिकित्सा कराई गई है।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From career

Trending Now
Recommended