संजीवनी टुडे

नीट यूजी-2019 में 15.19 लाख विद्यार्थी आजमांएगे भाग्य

संजीवनी टुडे 03-05-2019 04:15:00


कोटा। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा 5 मई (रविवार) को नीट-यूजी परीक्षा,2019 पेन-पेपर मोड में आयोजित की जाएगी। इस वर्ष लगभग 15 लाख 19 हजार विद्यार्थियों ने नीट के लिये रजिस्ट्रेशन करवाया है, जो गत वर्ष के करीब 2 लाख अधिक हैं। नीट-2018 में 13.26 लाख परीक्षार्थियों में से विभिन्न केटेगरी में 7,14,562 विद्यार्थी क्वालिफाई हुये थे। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

एमसीआई के अनुसार, इस वर्ष नीट-यूजी में 14.4 प्रतिशत विद्यार्थियों की संख्या में वृद्धि हुई है। खास बात यह है कि इस वर्ष 8 लाख से अधिक गर्ल्स ने मेडिकल प्रवेश परीक्षा में रूचि ली है, जो पिछले 10 वर्षों में सबसे अधिक है। एनटीए द्वारा सभी परीक्षार्थियों को ई-प्रवेश पत्र जारी कर दिये गये हैं। परीक्षार्थियों को अपने साथ इलेक्ट्रॉनिक आइटम मोबाइल, ब्लू टूथ, घडी, केलकुलेटर, ज्वैलरी इत्यादि नहीं ले जाने के निर्देश दिये गये हैं।

11 भाषाओं में होगा पेपर : 
नीट-यूजी की परीक्षा दोपहर 2 बजे से शाम 5 बजे तक ऑफलाइन मोड में होगी, जिसमें 720 अंकों के तीन घंटे के पेपर में फिजिक्स, केमिस्ट्री, जूलॉजी व बॉटनी के कुल 180 प्रश्न पूछे जाएंगे। प्रत्येक प्रश्न 4 अंकों का होगा। विद्यार्थी परीक्षा केंद्र पर 12ः30 बजे तक अवश्य पहुंचे क्यांेकि प्रत्येक सेंटर पर दोपहर 1ः30 बजे के बाद प्रवेश नहीं दिये जाएंगे। परीक्षार्थी अपने साथ प्रवेश पत्र, एक पासपोर्ट फोटो तथा एक फोटो आईडी अवश्य साथ लें जायें।

पेपर विभिन्न राज्यों में 11 भाषाओं हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती, उर्दू, मराठी, उड़िया, बंगाली, असमी, तेलुगु, तमिल, कन्नड़ भाषा में होगा। हिंदी व इंग्लिश के पेपर देश के सभी परीक्षा केंद्रों पर उपलब्ध होंगे। जबकि अन्य क्षेत्रीय भाषाओं के पेपर इंग्लिश के साथ संबंधित राज्यों में दिए जाएंगे। नीट-यूजी का रिजल्ट 6 जून,2019 को घोषित होगा।

कोटा सहित राज्य के 5 शहरों में सेंटर :
राज्य के लगभग 1 लाख परीक्षार्थियों के लिये 5 शहरों कोटा, जयपुर, उदयपुर, अजमेर व जोधपुर में नीट-यूजी के परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। कोटा में नीट का परीक्षा केंद्र होने से गत वर्ष 10 हजार 976 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी थी। इसमें 95 प्रतिशत छात्राओं को कोटा परीक्षा केंद्र आवंटित किये गये थे। इस वर्ष भी छात्रों को बाहर के परीक्षा केंद्र आवंटित किये गये हैं।

कश्मीर घाटी में बढ़ाए 4 सेंटर : 
जम्मू-कश्मीर से इस वर्ष में 9.250 परीक्षार्थी नीट-यूजी परीक्षा में शामिल होंगे, विद्यार्थियों की संख्या बढ़ जाने के कारण नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने कश्मीर घाटी में 4 परीक्षा केंद्र और बढ़ा दिये हैं। याद रहे कि शिक्षा नगरी कोटा में प्रतिवर्ष 450 से अधिक विद्यार्थी कश्मीर से मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं की कोचिंग करने के लिये आ रहे हैं।

नीट में जीत के लिये विजयी मंत्र : 
5 मई हर मेडिकल विद्यार्थी के लिये जीत का दिन है। रविवार को दोपहर 1 बजे से शाम 6 बजे तक अपनी बायोलॉजिकल क्लॉक को एक्टिव मोड में रखें। अपनी स्टैंªथ को बूस्टअप करें। परीक्षा से एक दिन पूर्व पर्याप्त नींद लें। तेज गर्मी होने से पानी, जूस व फल का उपयोग करें। उड़ान भरने के लिये मन को हल्का रखें।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

आपने पूरे वर्ष जो तैयारी की है, उसके शॉर्ट नोट्स को रिवाइज कर लें। अब तक जो क्लास टेस्ट दिये, उससे नया तरीका नहीं अपनाएं। पेपर के दिन नया कुछ नहीं पढें। याद रखें, जो आपको नहीं आता है, वह पेपर में भी नहीं आएगा, यह सोचकर 100 प्रतिशत आत्मविश्वास के साथ पेपर देने पहुंचें। फ्रेश मूड में जो प्रश्न हल कर दिया, उसे दोबारा चेक नहीं करें। बी-कूल, बी-बोल्ड, बी-रिलेक्स, बी-कांफिडेंट और बी-एक्टिव इन पांच बातों पर अमल करके अपनी जीत पक्की कर लें।

More From career

Trending Now
Recommended