संजीवनी टुडे

अल्ट्राटेक सीमेंट के कचरा यार्ड में भीषण आग, नहीं पाया जा सका काबू

संजीवनी टुडे 07-06-2019 20:08:03

जिला मुख्यालय से 16 किलोमीटर दूर स्थित अल्ट्राटेक सीमेंट फैक्ट्री के कचरा यार्ड में शुक्रवार अपराह्न अज्ञात कारणों के चलते आग लग गई। प्लास्टिक का कचरा होने के कारण आग ने विकराल रूप ले लिया और धुएं के गुब्बार उठने लगे


चित्तौडग़ढ़। जिला मुख्यालय से 16 किलोमीटर दूर स्थित अल्ट्राटेक सीमेंट फैक्ट्री के कचरा यार्ड में शुक्रवार अपराह्न अज्ञात कारणों के चलते आग लग गई। प्लास्टिक का कचरा होने के कारण आग ने विकराल रूप ले लिया और धुएं के गुब्बार उठने लगे। अचानक लगी आग से सीमेंट फैक्ट्री के प्रबंधन में हड़कम्प मच गया। मौके पर नगर परिषद के अलावा कई निजी फैक्ट्रीयों की दमकल को भी मौके पर बुलाना पड़ गया। तीन घंटे बाद भी आग पर काबू नहीं पाया जा सकता। मौके पर प्लास्टिक रखा होने के कारण इस आग के अधिक समयावधि तक चलने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता। आग की सूचना पर शंभूपुरा थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची है। आग से अल्ट्राटेक सीमेंट को काफी नुकसान हुआ है,  जिसका आग बुझने के बाद आंकलन किया जा सकता है। 

जानकारी के अनुसार सावा व शंभूपुरा के बीच अल्ट्राटेक सीमेंट का प्लांट है। इस प्लांट में वैकल्पिक इंधन के लिए जमा प्लास्टिक के यार्ड में शुक्रवार अपराह्न करीब तीन बजे अज्ञात कारणों से आग लग गई। प्लास्टिक इंधन होने के कारण आग तेजी से फैली और भीषण आग के साथ ही धुंए के गुब्बार उठने लगे। यार्ड में आग देख अल्ट्राटेक सीमेंट के अधिकारी हरकत में आ गए। दमकल मौके पर बुलाई गई लेकिन आग पर काबू नहीं पाया जा सका। प्लास्टिक के कारण आग तेजी से फैली। यह यार्ड करीब 30 बीघा में है, जिसमें से करीब 15 बीघा तक आग फैल चुकी है। आग के काफी घंटों बाद काबू पाने की संभावना है। फैक्ट्री प्रबंधन के अधिकारी मौके पर मौजूद हैं और आग पर काबू पाने का प्रयास किया जा रहा है। 

आधा दर्जन उद्योगों की दमकल मौके 
पहले तो सीमेंट प्लांट की दमकल से आग बुझाने का प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हो पाए। इस पर अन्य फैक्ट्रियों से सहयोग मांगा तो वहां से भी दमकल पहुंची। मौके पर  नगर परिषद चित्तौडग़ढ़, जेके सीमेंट, बिड़ला सीमेंट, हिन्दुस्थान जिंक, लाफार्ज सीमेंट, वंडर सीमेंट, मध्यप्रदेश के नीमच जिले में खोर स्थित विक्रम सीमेंट आदि उद्योगों से दमकल मौके पर बुलाई गई है। 

नेगेटिव कोस्ट पर मिलता वेस्ट तो नहीं करते चिंता
जानकार सूत्रों की मानें तो कम्पनी में वैकल्पिक ईंधन के रूप में प्लास्टिक वेस्ट का उपयोग होता है। यह प्लास्टिक वेस्ट कम्पनी को बहुत ही कम कीमत पर मिलता है। ऐसे में इसकी डम्पिंग को लेकर बेहतर व्यवस्था नहीं की गई थी। जानकारी में यह भी सामने आया कि दमकल को आग बुझाने के लिए बार-बार फेरे करने पड़ रहे हैं। लेकिन प्लास्टिक यार्ड के आस-पास पानी की व्यवस्था नहीं है। ऐसे में सौ मीटर से अधिक दूरी से दमकल भेज पानी लाना पड़ रहा है। 

नियमानुसार नहीं है फायर सिस्टम
जानकारी में सामने आया कि जिस स्थान पर यह यार्ड है वहां फायर सिस्टम भी होना चाहिए था। लेकिन वहां फायर सिस्टम नहीं है। दूर-दूर तक पानी की व्यस्था तक नहीं है। जिस प्रकार से यह यार्ड एवं प्लास्टिक वेस्ट है उसके अनुसार इसमें फायर सिस्टम जरुरी है। इनमें जगह-जगह स्प्रिंकलर, हाईडेंट पॉइंट आदि होने चाहिए, जो भी नहीं है।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

16 किलोमीटर दूर से दिखा धुंआ
अल्ट्राटेक सीमेंट में लगी आग इतनी भीषण थी, जिसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि यह आग का धुंआ करीब 16 किलोमीटर दूर से ही दिखाई दे रहा था। जानकारी में सामने आया कि चित्तौड़ शहर में रेलवे स्टेशन के यहां से ही धुंआ दिख रहा था। पहले तो लोगों ने सोचा कि कोटा-उदयपुर फोरलेन पर ट्रक अथवा अन्य किसी वाहन में आग लगी है। लेकिन बाद में पता चला कि अल्ट्राटेक सीमेंट के यार्ड में आग लगी है। 

मात्र 220000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188

 

More From business

Trending Now