संजीवनी टुडे

कॉरपोरेट टैक्स में कटौती का इंडस्ट्री ने किया स्वागत, कहा- ये 28 साल के बाद किया गया सबसे बड़ा रिफॉर्म

संजीवनी टुडे 20-09-2019 19:36:16

बॉयोकॉन की चेयरमैन और प्रबंध निदेशक किरण मजूमदार शॉ ने भी वित्त मंत्री निर्मला सीतामरण की सराहना की।


नई दिल्ली। अर्थव्यवस्था की मंदी से निपटने के लिए मोदी सरकार ने कई कदम उठाये है। सरकार ने अर्थव्यवस्था को बूस्ट देने के लिए कॉरपोरेट टैक्स में कटौती और कारोबार में निवेश को प्रोत्साहन देने का भी ऐलान कर दिया है। 

यह खबर भी पढ़ें: VIDEO: कश्मीर मुद्दे पर बात शुरू करते ही कुर्सी से गिरा पाक पैनललिस्ट, फिर भारतीय ने उड़ाया जमकर मजाक

वित्त मंत्री निर्मला सीतामरण ने शुक्रवार को कई नई घोषणाएं की, जिसका स्वागत कारोबारियों, विशेषज्ञों और शेयर बाजार ने किया। कारोबारियों के मुताबिक ये 28 साल के बाद किया गया सबसे बड़ा रिफॉर्म है। एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने कॉरपोरेट टैक्स घटाकर 25 फीसदी करने को अब तक का सबसे बोल्डेस्ट कदम बताया। कारोबारियों और विशेषज्ञों के मुताबिक इससे आर्थिक वृद्धि और निवेश में तेजी आएगी।

एसबीआई (SBI) बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा कि कॉरपोरेट टैक्स में बड़ी कटौती करना बीते 28 सालों का ‘बोल्डेस्ट रिफॉर्म’ है। कॉरपोरेट टैक्स में कटौती से इंडस्ट्री को बढ़ावा मिलेगा और प्रोडक्ट की कीमतों में कमी आएगी। इससे विदेशी कंपनियों को भई निवेश का मौका मिलेगा और मेक इन इंडिया को भी बढ़ावा मिलेगा। 

कोटक महिंद्रा बैंक के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) उदय कोटक ने ट्विटर पर लिखा कि कंपनी कर को घटाकर 25 प्रतिशत पर लाना एक बड़ा सुधार है। यह साहसिक और प्रगतिशील कदम है। भारतीय कंपनियों को कर की कम दर वाले अमेरिका जैसे देशों से प्रतिस्पर्धा करने का मौका मिला है। यह संकेत देता है कि हमारी सरकार आर्थिक वृद्धि और कानूनी रूप से कर नियमों का अनुपालन करने वाली कंपनियों की मदद के लिये प्रतिबद्ध है।

यह खबर भी पढ़ें: मोदी और मंगोलिया के राष्ट्रपति ने किया भगवान बुद्ध की प्रतिमा का अनावरण

बॉयोकॉन की चेयरमैन और प्रबंध निदेशक किरण मजूमदार शॉ ने भी वित्त मंत्री निर्मला सीतामरण की सराहना की। उन्होंने ट्वीट किया और कहा कि कंपनी कर की दर 30 प्रतिशत से घटाकर 25.2 प्रतिशत करने से वृद्धि को गति मिलेगी। यह बड़ा कदम है जिससे वृद्धि और निवेश में तेजी आएगी। इस साहसिक पर जरूरी कदम उठाने को लेकर मैं निर्मला सीतारमण की सराहना करती हूं।

 सरकार ने शुक्रवार को घरेलू कंपनियों के लिये कंपनी कर की प्रभावी दर कम कर 25.17 प्रतिशत कर दी। इसमें सभी उपकर और अधिभार शामिल हैं। उद्योग मंडल सीआईआई के अध्यक्ष विक्रम किर्लोस्कर ने कहा कि बिना किसी छूट कंपनी कर को 30 प्रतिशत से घटाकर 22 प्रतिशत करने की उद्योग की मांग लंबे समय से रही है। यह अप्रत्याशित और साहसिक कदम है। वित्त मंत्री की घोषणाओं को लेकर महिंद्रा एंड महिंद्रा के एमडी पवन के गोयंका ने कहा कि लगता है दिवाली पहले आ गई। 

More From business

Trending Now
Recommended