संजीवनी टुडे

देश का राजकोषीय घाटा बजट अनुमान के 128.5 फीसदी पर पहुंचा, जाने

संजीवनी टुडे 28-02-2020 21:17:36

देश का राजकोषीय घाटा जनवरी के अंत में पूरे साल के लिए तय अनुमान के 128.5 फीसदी तक पहुंच गया।


नई दिल्ली। देश का राजकोषीय घाटा जनवरी के अंत में पूरे साल के लिए तय अनुमान के 128.5 फीसदी तक पहुंच गया। पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में घाटा संशोधित बजटीय अनुमान का 121.5 फीसदी रहा था। लेखा महानियंत्रक (सीजीए) ने शुक्रवार को ये जानकारी दी है। गौरतलब है कि राजकोषीय घाटा केंद्र सरकार के कुल व्यय और प्राप्ति के बीच के अंतर को दर्शाता है। वास्तविक रूप से यह घाटा 9,85,472 करोड़ रुपये रहा।

दरअसल, सरकार ने 31 मार्च 2020 को समाप्त वित्त वर्ष के दौरान राजकोषीय घाटा 7,66,846 करोड़ रुपये रहने का बजट अनुमान रखा है। वित्त मंत्री निर्मला सीतामरण ने एक फरवरी को संसद में पेश बजट में चालू वित्त वर्ष (2019-20) के लिए राजकोषीय घाटे के अनुमान को 3.3 फीसदी से बढ़ाकर के 3.8 फीसदी कर दिया था, जिसकी वजह राजस्व संग्रह में कमी बताया गया है।

सीजीए के मासिक लेखा आंकड़े के अनुसार राजस्व प्राप्ति अप्रैल-जनवरी में 12.5 लाख करोड़ रुपये रही। यह चालू वित्त वर्ष के संशोधित अनुमान का 67.6 फीसदी है, जबकि एक साल पूर्व इसी अवधि में ये संशोधित का 68.3 प्रतिशत रहा था। वहीं, इसी अवधि में कुल प्राप्ति संशोधित अनुमान का 66.4 फीसदी रही, जो कि एक साल पहले इसी अवधि में 67.5 फीसदी थी।

लेखा महानियंत्रक  के मुताबिक जनवरी अंत तक कुल व्यय 22.68 लाख करोड़ रुपये रहा, जो संशोधित अनुमान का 84.1 फीसदी है। हालांकि, एक साल पूर्व इसी अवधि में यह 81.5 फीसदी था।

यह भी पढ़े: जोधपुर को शाहीन बाग बनाने की कोशिश को पुलिस ने समय रहते किया नेस्तनाबूद

यह भी पढ़े: शिक्षक ने की हैवानियत की हदे पार, छात्रा को नशे की दवा का सेवन करा कर करता था दुष्कर्म, ऐसे हुआ खुलासा...

मात्र 289/- प्रति sq. Feet में जयपुर में प्लॉट बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From business

Trending Now
Recommended