संजीवनी टुडे

रिजर्व बैंक की कमेटी ने दिया सुझाव, टाटा-बिरला खोल सकते हैं अपना बैंक!

संजीवनी टुडे 21-11-2020 10:36:06

हिंदुस्तान के दो बड़े बिजनेस समूहों ने बैंकिंग लाइसेंस लेने का मन बना लिया है।


नई दिल्ली। हिंदुस्तान के दो बड़े बिजनेस समूहों ने बैंकिंग लाइसेंस लेने का मन बना लिया है। टाटा ग्रुप एवं आदित्य बिरला ग्रुप इस बात का आकलन कर रहे हैं कि रिजर्व बैंक की गाइडलाइन्स उनके पक्ष में हैं या फिर नहीं। पिछले शुक्रवार को ही रिजर्व बैंक की एक कमेटी ने बैंकिंग कानून में थोड़ा परिवर्तन करके इंडस्ट्रियल हाउस को बैंकिंग लाइसेंस ऑफर करने का सुझाव प्रदान किया है। 

कमिटी ने सुझाव दिया है कि जिन इंडस्ट्रियल हाउस के एनबीएफसी के पास 50 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा के असेट्स हैं, उन्हें बैंक में बदल दिया जाना चाहिए। बता दें कि टाटा ग्रुप की एनबीएफसी टाटा कैपिटल के पास लगभग 74,500 करोड़ रुपये के असेट्स हैं, जबकि आदित्य बिरला की आदित्य बिरला कैपिटल के पास लगभग 59 हजार करोड़ रुपये के असेट्स हैं। 

दोनों की बिजनेस समूह हमेशा से ही बैंकिंग क्षेत्र में घुसने का प्रयास कर रहे हैं। साल 2013 में दोनों ही कंपनियों ने बैंकिंग लाइसेंस हेतु आवेदन भी किया था, जब रिजर्व बैंक ने निजी क्षेत्र में बैंकिंग के अवसर की बात करते हुए गाइडलाइन्स जारी की थीं। हालांकि, जब टाटा सन्स को मालुम हुआ कि रिजर्व बैंक की गाइडलाइन्स काफी सख्त हैं, जिससे टाटा ग्रुप के अन्य बिजनेस को नुकसान पहुंच सकता है तो उसने बैंकिंग आवेदन को वापस ले लिया। 

साल 2013 में केलव आईडीएफसी बैंक और बंधन बैंक को ही बैंकिंग लाइसेंस प्राप्त हो पाया था। कुछ और इंडस्ट्रियल हाउस जैसे बजार और लार्सेन एंड टूब्रो भी इस बार बैंकिंग लाइसेंस हेतु आवेदन कर रहे हैं, जिन्होंने वर्ष 2013 में बैंकिंग लाइसेंस हेतु रुचि दिखाई थी। इन बिजनेस समूहों के पास हिंदुस्तान के मिडसाइज बैंकों से भी बड़ी एनबीएफसी हैं। 

यह खबर भी पढ़े: CBSE Board Exam 2021/ तय समय से होगी 10वीं-12वीं की परीक्षा, जल्द जारी किया जायेगा शेड्यूल

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From business

Trending Now
Recommended