संजीवनी टुडे

सरकार चाहती है आरबीआई का अतिरिक्त रिजर्व

संजीवनी टुडे 06-11-2018 13:52:10


नई दिल्ली। आरबीआई और सरकार के बीच चल रहे गतिरोध की एक बड़ी वजह उभर कर सामने आई है जिसके अनुसार सरकार शीर्ष बैंक के अतिरिक्त 3.6 लाख करोड़ स्थानांतरित करना चाहती है। 

एक अंग्रेजी दैनिक के हवाले से आए समाचार में इस बात का खुलासा हुआ है। खबर के मुताबिक सरकार का मानना है कि रिजर्व बैंक के कुल रिजर्व 9.65 लाख करोड़ में करीब एक तिहाही 3.6 लाख करोड़ अतिरिक्त है। वित्त मंत्रालय का कहना है कि इस अतिरिक्त रिजर्व का इस्तेमाल बैकों को पूंजी प्रदान करने, ऋण दायरा बढ़ाने और अन्य मदों में इस्तेमाल हो सकता है लेकिन रिजर्व बैंक इससे अलग राय रखता है।

सरकार चाहती है कि अतिरिक्त रिजर्व का सरकार और आरबीआई द्वारा संयुक्त प्रबंधन होना चाहिए। सरकार का तर्क है कि वर्तमान आर्थिक पूंजी ढांचा (जिसके तहत रिजर्व बैंक अपनी पूंजी जरूरत को पूरा करता है और अतिरिक्त रिजर्व सरकार को देता है) काफी सोच से प्रेरित है।

2.40 लाख में प्लॉट जयपुर: 21000 डाउन पेमेन्ट शेष राशि 18 माह की आसान किस्तों में Call:09314166166

MUST WATCH & SUBSCRIBE

शीर्ष बैंक का मानना है कि सरकार जैसा चाहती है वैसा करने से अतिरिक्त रिजर्व से किसी तरह का पूंजीगत लाभ नहीं होगा। बल्कि इससे सूक्ष्म आर्थिक स्थिरता पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। उधर, सरकार का कहना है कि आरबीआई ने जुलाई 2017 में अपनी बैठक में इस बारे में एकतरफा नीति बनाई थी। इस बैठक में दो सरकारी प्रतिनिधि शामिल नहीं थे। आरबीआई का वर्तमान स्थिति के बारे में आंकलन गलत है।

sanjeevni app

More From business

Loading...
Trending Now
Recommended