संजीवनी टुडे

बैंकों को एनबीएफसी के जरिये प्राथमिक क्षेत्रों को ऋण देने के निर्देश

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 07-08-2019 15:45:25

एनबीएफसी पर बने वित्तीय दबाव को कम करने और उसके कारोबार में तेजी लाने के उद्देश्य से बैंकों को एनबीएफसी के माध्यम से प्राथमिक क्षेत्रों को ऋण देने के निर्देश देते हुये कई क्षेत्रों को शामिल किया है।


मुंबई। रिजर्व बैंक ने गैर-बैेंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) पर बने वित्तीय दबाव को कम करने और उसके कारोबार में तेजी लाने के उद्देश्य से बैंकों को एनबीएफसी के माध्यम से प्राथमिक क्षेत्रों को ऋण देने के निर्देश देते हुये कई क्षेत्रों को शामिल किया है। 

भाजपा मुख्‍यालय पहुंचा सुषमा स्‍वराज का पार्थिव शरीर, श्रद्धांजलि देने उमड़े लोग

रिजर्व बैंक ने मौद्रिक नीति समिति की चालू वित्त वर्ष की तीसरी द्विमासिक बैठक के बाद जारी एक बयान में कहा कि कुछ प्राथमिक क्षेत्रों के लिए ऋण प्रवाह में बढ़ोतरी कर निर्यात और रोजगार सृजन के जरिये आर्थिक गतिविधियों में भागीदारी बढ़ाने के उद्देश्य तथा उन क्षेत्रों में एनबीएफसी की महती भूमिका को देखते हुये कई क्षेत्रों को प्राथमिक क्षेत्र में शामिल करने का निर्णय लिया गया है। 

बैस और विप्लव ने सुषमा के निधन पर जताया शोक

उसने कहा कि बैंकों को पंजीकृत एनबीएफसी के माध्यम से 10 लाख रुपये के कृषि ऋण, छोटे उद्यमियों को 20 लाख रुपये तक के ऋण और प्रति ग्राहक 20 लाख रुपये तक के आवास ऋण को प्राथमिक क्षेत्र में शामिल किया गया है। अब तक 10 लाख रुपये तक के आवास ऋण इस श्रेणी में शामिल था। इस संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश चालू महीने के अंत तक जारी किये जायेंगे। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल

केन्द्रीय बैंक ने कहा कि एक अप्रैल 2019 से बड़े एनबीएफसी में निवेश को बैंकों की टियर-1 पूंजी के 15 प्रतिशत पर सीमित किया गया था जिसे अब बढ़ाकर 20 प्रतिशत करने का निर्णय लिया गया है। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From business

Trending Now