संजीवनी टुडे

RBI ने दी राहत/अब 31 अगस्त तक नहीं देनी पड़ेगी EMI, लेकिन माफ़ नहीं होगा ब्याज

संजीवनी टुडे 25-05-2020 10:45:47

होम लोन, पर्सनल लोन, वाहन कर्ज की ईएमआई चुका रहे लोगों के लिए आरबीआई ने फिर राहत दी है।


डेस्क। होम लोन, पर्सनल लोन, वाहन कर्ज की ईएमआई चुका रहे लोगों के लिए आरबीआई ने फिर राहत दी है। अब जून, जुलाई और अगस्त की अपनी EMI चाहें तो होल्ड कर सकते हैं। आज प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि लॉकडाउन बढ़ने से मोरोटॉरियम और दूसरी राहते तीन महीने तक और बढ़ाई जा रही हैं। 

RBI

अब ईएमआई देने पर राहत 1 जून से 31 अगस्त तक के लिए बढ़ाई जा रही है। यानी अगर आप अगले 3 महीने तक अपने लोन की ईएमआई नहीं देते हैं तो बैंक दबाव नहीं डालेगा। इससे पहले RBI ने लेनदारों को 31 मई तक EMI चुकाने से राहत दी थी। 

RBI

हालांकि, अगर आपका कोई टर्म लोन चल रहा है और आप EMI पर मोराटोरियम के विकल्प को चुनना चाहते हैं तो उसे पहले आपके लिए विभिन्न बातों को जानना जरूरी है। EMI टालने से पहले इन चीजों पर गौर करना जरूरी-

बढ़ेगा ब्याज का बोझ-
फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स के मुताबिक इस विकल्प को चुनने पर आप पर ब्याज का बोझ बढ़ेगा क्योंकि आपने जिस अवधि के मोराटोरियम के विकल्प को चुना है, उतने दिन का ब्याज आपको देना पड़ेगा। ऐसे में अगर आपकी आय प्रभावित नहीं है और आपके पास पर्याप्त फंड हैं तो आपको EMI का भुगतान करना चाहिए। 

RBI

टैक्स और निवेश विशेषज्ञ बलवंत जैन का कहना है कि मोराटोरियम सुविधा के विकल्प को चुनने में कोई बुराई नहीं है। हालांकि, इससे पहले आपको इस बात का आकलन कर लेना चाहिए कि जब कुछ पहले की तरह सामान्य होगा तो आपके पास एक अतिरिक्त राशि होगी, जिसका इस्तेमाल आप लोन के ब्याज को चुकाने के लिए कर सकेंगे। वहीं, जैन के मुताबिक वे लोग इस विकल्प को चुन सकते हैं, जिन्हें नौकरी जाने या वेतन में कटौती की आशंका हो।

इस सुविधा का लाभ कैसे ले 
अलग-अलग बैंकों ने इसके लिए तमाम तरीके के कदम उठाए हैं। उदाहरण के लिए कई बैंकों ने इसके लिए अपने पोर्टल पर एक ऑप्शन दिया है, जहां आप अपना लोन नंबर डालकर मोराटोरियम का विकल्प चुन सकते हैं। दूसरी ओर कई बैंकों ने अपने सभी ग्राहकों के लिए इसे लागू कर दिया है। हालांकि, अगर आप लोन पर मोराटोरियम नहीं चाहते हैं तो आप बैंक से सम्पर्क कर सकते हैं।

RBI

इन लोगों को मिलेगी राहत-
रिजर्व बैंक ने कोरोना वायरस की वजह से लागू लॉकडाउन से प्रभावित कारोबारियों, आम लोगों के लिए यह राहत प्रदान की। इससे उन लोगों को बड़ी मदद मिलने की संभावना है, जो कैश-फ्लो की कमी से जूझ रहे हैं। 

घटाया रेपो रेट-
आरबीआई गवर्नर ने बड़ी राहत देते हुए रेपो रेट में 0.40 फीसदी की कटौती का ऐलान किया है। इस फैसले से आम लोगों की EMI कम हो सकती है।  इससे पहले RBI ने कोरोना संकट और लॉकडाउन के मद्देनजर कई राहत का ऐलान किए थे. रिवर्स रेपो रेट में 0.25 फीसदी की कटौती की गई।

RBI

बता दें कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने 27 मार्च को बैंकों व वित्तीय संस्थानों को 1 मार्च 2020 तक बकाया सभी टर्म लोन्स लेने वालों को EMI के भुगतान पर 3 माह का मोरेटोरियम उपलब्ध कराने को कहा था। इस विकल्प में ग्राहक मार्च, अप्रैल और मई माह की अपनी EMI चाहें तो होल्ड कर सकते हैं।  हालांकि EMI स्थगन के इन तीन महीनों की अवधि के दौरान ब्याज लगता रहेगा, जो बाद में एक्स्ट्रा EMI के तौर पर देना होगा। जो ग्राहक अपनी EMI होल्ड नहीं करना चाहते, उन्हें कुछ भी करने की जरूरत नहीं है। उनकी EMI वैसे ही कटती रहेगी, जैसे कट रही थी।

यह खबर भी पढ़े: मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने किया पीएम रिसर्च फैलोशिप योजना में संशोधन, जानिए अब कौनसे विद्यार्थी होंगे पात्र

यह खबर भी पढ़े: राजस्थान/COVID-19 Live Updates: पिछले 24 घंटे में 72 नए मामले सामने आए, 7100 पर पहुंचा आंकड़ा

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From business

Trending Now
Recommended