संजीवनी टुडे

अक्षय तृतीया 2018: यदि सोना खरीदने जा रहे हैं तो जान ले ये जरुरी बातें...

संजीवनी टुडे 17-04-2018 12:08:47

नई दिल्ली। इस बार 18 अप्रैल को अक्षय तृतीया मनाई जाएगी। दरअसल, अक्षय तृतीया ऐसा दिन है जिस दिन बिना पंचांग के शुभ कार्य किए जा सकते हैं। इस दिन का अर्थ होता है कभी क्षय न होना मतलब कि जो कभी नष्ट न हो। इसलिए इस दिन लोग शुभ कार्य जैसे होम खरीदना, गोल्ड खरीदना बहुत अच्छा मानते हैं। 

गोल्ड की शुद्धता का सबसे बड़ा पैमाना BIS का हॉलमार्क है। इसलिए सोना खरीदते वक्त हॉलमार्क के निशान वाली जूलरी ही खरीदें। हॉलमार्क सरकारी गारंटी है। बता दें कि1, हॉलमार्क का निर्धारण भारत की इकलौती एजेंसी BIS करती है। गोल्ड पर कुछ महत्वपूर्ण कंपोनेंट्स दर्ज होते हैं जैसे- BIS लोगो, प्योरिटी नंबर ( जैसे- 24 कैरेट और 916), हॉलमार्किंग का लोगो, साल और जूलरी का आइडेंटीफिकेशन मार्क। 

स्‍टडेड ज्‍वैलरी
जब हम कोई स्‍टडेड ज्‍वैलरी खरीदते हैं तो कुछ ज्‍वैलर्स पूरे आभूषण को एक साथ तौलकर उसको गोल्ड की कीमत पर ही बेच देते हैं। यदि बाद में आप इसे बदलने या बेचने जाते हैं, तो वही ज्‍वैलर्स स्टोन के वजन को घटाकर सोने का ही मूल्‍य आपको देता है। 

बता दें कि, जूलरी की कीमत में गोल्ड और मिलाए गए मिश्रधातु की प्राइस  शामिल होती है जबकि मेकिंग चार्जेज और GST अलग से लिया जाता है। हालांकि, मिश्रधातु की कीमत बहुत कम, अक्सर शुद्ध गोल्ड की प्राइस के 3% से ज्यादा नहीं होती। अगर सोने की दर 3,300 रुपये प्रति ग्राम है तो 22 कैरट गोल्ड की कीमत 3300 रुपये गुना 22 भाग 24 = 3025 रुपये हो जाएगी। वहीं, अलॉयज की कीमत 30 से 60 रुपये हो सकती है। 

मेकिंग चार्ज
मेकिंग चार्ज इस बार पर डिपेंड करता है की आप किस तरह की ज्‍वैलरी खरीद रहे हैं। ऐसा इसलिए क्‍योंकि हर ज्वेलरी को बनाते समय अलग तरह की कटिंग स्टाइल और फि‍निशिंग की आवश्‍यकता होती है। मेकिंग चार्ज मानव निर्मित या मशीन निर्मित के आधार पर भी तय होता है। 

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.40 लाख में call: 09314166166

अगर बात की जाए शुद्ध सोने की तो छोटे स्टोर्स से गोल्ड खरीदना रिक्स भरा हो सकता है। इसलिए अच्छे स्टोर्स से ही गोल्ड  खरीदें और बिल अवश्य लें। 

Rochak News Web

More From business

Trending Now
Recommended