संजीवनी टुडे

इस्लामिक बैंक लाने के प्रस्ताव को RBI ने किया अस्वीकार, यह हैं वजह

संजीवनी टुडे 12-11-2017 19:22:52

RBI rejects proposal to bring Islamic bank this is the reason

नई दिल्ली। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने एक बड़ा कदम उठाते हुए देश में इस्लामिक बैंक लाने के प्रस्ताव को अस्वीकार करने का फैसला किया है। बैंक ने कहा कि सभी नागरिकों को बैंकिंग और अन्य वित्तीय सेवाओं की 'विस्तृत और समान अवसर' की सुलभता के मद्देनजर यह फैसला लिया गया। सूचना का अधिकार (आरटीआई) के तहत मांगी गई जानकारी पर यह जानकारी दी गई। 

यह भी पढ़े: वीडियो : VIDEO : कार सहित बहे आयुष का शव 7 दिन बाद नाले में हुआ बरामद

आरटीआई में दिए गए जवाब में कहा गया, “इस्लामिक या शरिया बैंकिंग ब्याज रहित सिद्धांतों पर आधारित एक वित्तीय प्रणाली है, क्योंकि इस्लाम में ब्याज की मनाही है। भारत में इस्लामी बैंकिंग की शुरूआत के मुद्दे पर आरबीआई और भारत सरकार की ओर से जांच की गई।” केंद्रीय बैंक ने कहा, “इस संदर्भ में, सभी नागरिकों को बैंकिंग और वित्तीय सेवाएं पहुंचाने के लिए व्यापक और समान अवसरों की उपलब्धता को मद्देनजर रखते हुए यह तय किया गया है कि इस प्रस्ताव को आगे न बढ़ाया जाए।”

यह भी पढ़े: वीडियो : वीडियो: दरवाजा तोड़ राम रहीम के BEDROOM में घुसी पुलिस, नजारा देख रह गई हैरान

 

इस्लामिक बैंकिंग में ब्याज का निषेध-
इस्लामिक या शरिया बैंकिंग ऐसी वित्तीय व्यवस्था को कहते हैं जिसमें ब्याज का प्रावधान नहीं होता है। इस्लामिक नियमों के तहत ब्याज का निषेध किया गया है। उल्लेखनीय है कि रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन की अध्यक्षता वाली एक समिति ने 2008 में देश में ब्याज-रहित बैंकिंग के मुद्दे पर गहराई से विचार करने की जरूरत पर जोर दिया था। सरकार ने रिजर्व बैंक को कहा था कि वह देश में इस्लामिक बैंकिंग शुरू करने की दिशा में उठाए गए कदमों की विस्तृत जानकारी देने को कहा था। 

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

More From business

loading...
Trending Now
Recommended