संजीवनी टुडे

स्वामी हरिनारायण दास ने कहा- राम की कर्म भूमि विकास से वंचित

संजीवनी टुडे 14-08-2020 16:12:09

क्सर के पवित्र सरोवरों के जल और मिट्टी लेकर राम जन्म भूमि पर मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन के अवसर पर अयोध्या गये अहिल्या मठाधीश स्वामी हरिनारायण दास ने कहा कि राम जन्म भूमि की तरह ही भगवान राम की कर्म भूमि का भी विकास होना चाहिए


बक्सर। बक्सर के पवित्र सरोवरों के जल और मिट्टी लेकर राम जन्म भूमि पर मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन के अवसर पर अयोध्या गये अहिल्या मठाधीश स्वामी  हरिनारायण दास ने कहा कि  राम जन्म भूमि की तरह ही भगवान राम की कर्म भूमि का भी विकास होना चाहिए । 

उन्होंने शुक्रवार को कहा कि शास्त्र प्रमाणित करते हैंं कि भगवान राम ने अपने जीवन का प्रथम युद्ध बक्सर स्थित तपोवन में ही राक्षसी ताड़का के साथ लड़ा था ।यहींं पर भगवान राम को गुरु विश्वामित्र ने आयुध विद्या की शिक्षा दी थी ।भगवान राम ने बक्सर स्थित अहिल्या ग्राम में गौतम ऋषि की पत्नी अहिल्या का उद्धार किया था ।पर अफ़सोस कि आज बक्सर की भूमि पर विश्वामित्र की एक प्रतिमा तक नहींं है।

उन्होंने कहा मठ के साधु संत  भगवान राम की इस कर्म भूमि को पहचान दिलाने के लिए अतिशीघ्र स्थानीय सांसद समेत बिहार  के मुख्य मंत्री नीतीश कुमार से मुलाक़ात करेंगे । वे खुद इस संदर्भ में  समय आने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाक़ात  करेंगे । उन्होंने कहा कि यह खेद का विषय है कि पूर्व में बक्सर स्टेशन के शिलापट पर विश्वामित्र आश्रम लिखा गया था जिसे अब मिटा दिया गया ।बक्सर स्टेशन परिसर की दीवारों पर भगवान राम के कुछ चित्रों को रेखांंकित भर कर देने से बक्सर को उसकी पुरातन पहचान नहींं मिल सकती ।

जबकि वास्तविकता यह है कि  विश्वामित्र आश्रम की भूमि पर आज भी कुछ लोगोंं का अवैध कब्जा है ।इस संदर्भ में स्थानीय मठों के साधु- संतोंं ने कई बार जिलाप्रशासन को पत्र प्रेषित कर बताया  है ।बक्सर को राम रूट  से जोड़ने का दंभ भरने वाले स्थानीय सांसद इस बात को  जानते हैंं ।

बक्सर पूर्वांचल विकास परिषद समेत छह मठों ने बक्सर को उसकी मूल पहचान दिलाने  को लेकर शरू हुए आन्दोलन का समर्थन किया है और  कहा कि अंग्रेजोंं ने ब्याघ्रसर को अपभ्रंशित कर बक्सर नाम दिया  है ।अतः बक्सर का नाम बदलकर उसका मूल नाम ब्याघ्रसर करना ही होगा ।आगामी बिहार विधान सभा चुनाव के दौरान जनप्रतिनिधियों के समक्ष बक्सर के मठों के साधु संत इस मुद्दे को शिद्दत के साथ उठायेंगे ।

यह खबर भी पढ़े: मध्य प्रदेश में कोरोना का कहर जारी, अब तक 1066 लोगों की हो चुकी मौत

यह खबर भी पढ़े: निर्माण निगम का 14.5 करोड़ घोटाला नजरंदाज, मुख्यमंत्री योगी को शिकायत

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From bihar

Trending Now
Recommended