संजीवनी टुडे

25 नवंबर, आज का पवित्र लेख

संजीवनी टुडे 25-11-2020 07:33:05

क्षण मात्र के लिए जो कोई भी हिचकिचाता है, वह अधर्मी है।


"प्रभु किसी अमान्य वस्तु को अगर मान्यता प्रदान कर दें और किसी मान्यता प्राप्त को अस्वीकार कर दे तो उसकी इस शक्ति को चुनौती देने का अधिकार किसी को नहीं। क्षण मात्र के लिए जो कोई भी हिचकिचाता है, वह अधर्मी है।"

                     - बहाउल्लाह की लेखनी से 

 

बहाई धर्म एक नया और स्वतंत्र धर्म है,जिसकी उत्पत्ति 1844 में ईरान से हुई। बहाई धर्म के अनुसार बाब और बहाउल्लाह इस युग के ईश्वरीय अवतार है। बहाई धर्म का उद्देश्य मानवजाति के बीच एकता स्थापित करना है। अधिक जानकारी के लिए Baha'i.org पर देखें।

आप यदि रोज़ का पवित्र लेख चाहते है तो अपना व्हाट्सएप्प नंबर जोड़ने के लिए क्लिक करे: पवित्र लेख

 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From bahaifaith

Trending Now
Recommended