संजीवनी टुडे

RBI ने Yes Bank को दिए 60 हजार करोड़, बैंक की बैंकिंग सेवाएं पूरी तरह बहाल

संजीवनी टुडे 19-03-2020 22:30:45

यस बैंक में बैंकिंग सेवाओं के पूरी तरह बहाल होने पर बैंक के प्रशासक प्रशांत कुमार ने जमाकर्ताओं को उनके धन की सुरक्षा के बारे में आश्‍वस्‍त किया है। कुमार ने गुरुवार को कहा कि बैंक के पास पर्याप्त मात्रा में नकदी है।


नई दिल्‍ली। यस बैंक में बैंकिंग सेवाओं के पूरी तरह बहाल होने पर बैंक के प्रशासक प्रशांत कुमार ने जमाकर्ताओं को उनके धन की सुरक्षा के बारे में आश्‍वस्‍त किया है। कुमार ने गुरुवार को कहा कि बैंक के पास पर्याप्त मात्रा में नकदी है। गौरतलब है कि कुमार पुनर्गठित यस बैंक के एमडी और सीईओ के पद पर हैं। वहीं, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने बैंक को नकदी की समस्या से निपटने के लिए 60,000 करोड़ रुपये की लोन की सुविधा उपलब्ध कराई है। इससे बैंक को जमाकर्ताओं के प्रति दायित्वों को पूरा करने में आसानी होगी। 

यस बैंक के सीईओ प्रशांत कुमार ने कहा कि बैंक की बैंकिंग सेवाएं पूरी तरह 18 मार्च 2020 को शाम 6 बजे फिर से शुरू हुईं, जिसके बाद ग्राहक 19 मार्च 2020 से शाखाओं में जाकर पूर्ण सेवाएं पाने में सक्षम हो गए हैं। कुमार ने बयान जारी कर कहा कि बैंक के पास पर्याप्त नकदी है और उसे बाहरी स्रोतों पर निर्भर रहने की जरूरत नहीं है। कुमार ने कहा कि यस बैंक ने बैंकिंग सेवाओं को बहाल करने के लिए पर्याप्त उपाय किए हैं। साथ ही उन्‍होंने कहा कि ये भी सुनिश्चित किया है कि शाखाओं और एटीएम में पर्याप्त मात्रा नकदी हो। निकासी के लिए ग्राहकों को जल्दबाजी की कोई जरूरत नहीं है, क्‍योंकि नकदी के मोर्चे पर कोई समस्या नहीं है।

गौरतलब है कि ग्राहकों की सुविधा का ध्यान रखते हुए बैंक की शाखाएं 19 मार्च से 21 मार्च 2020 तक एक घंटे पहले सुबह साढ़े नौ बजे खुलेंगी। वहीं, बैंक अपने वरिष्ठ नागरिक ग्राहकों को 19 मार्च से 27 मार्च 2020 के दौरान शाम 5.30 बजे तक सेवाएं देगा। उधर, आरबीआई कानून, 1934 की धारा 17 के तहत रिजर्व बैंक ने यस बैंक के सामने नकदी की समस्या को धयान में रखते हुए 60 हजार करोड़ रुपये का कर्ज दिया है। दरअसल आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास के सोमवार को कहा था कि यस बैंक पर से पाबंदी हटने के बाद जरूरत पड़ने पर उसे नकदी उपलब्ध कराई जाएगी।

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में बुक करें 9314166166

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From automobile

Trending Now
Recommended