संजीवनी टुडे

सचिन ने मल्टीनेशनल कंपनियों से की अपील, कहा- खिलाड़ियों को दें नौकरी

संजीवनी टुडे 28-11-2016 13:55:53

Tendulkar s appeal to multinational companies said players do the job

मुंबई। पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंडुलकर ने खेलों में नौकरी की सुरक्षा को काफी अहम बताया है। उन्होंने इस पर जोर देते हुए रविवार को बड़ी और मल्टीनेशनल कंपनियों से अपील की कि वे खिलाड़ियों को नौकरी देना शुरू करें। तेंडुलकर ने कहा, 'मुझे लगता है कि मुंबई क्रिकेट में एक बदलाव आया है, जो अच्छे के लिए नहीं है, जिससे मैं खुश नहीं हूं, वह नौकरी मिलना है।' उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि पहले अनुबंधित खिलाड़ी कम थे, खिलाड़ियों के पास नौकरी की सुरक्षा थी, जो आज की दुनिया में नहीं है।

उन्होंने आगे कहा, 'खिलाड़ियों को अन्य चीजों के बारे में सोचने की जरुरत नहीं थी और सिर्फ खेल पर ध्यान लगाना था और इसके उन्हें ठोस नतीजे भी मिलते थे। जहां तक मुंबई क्रिकेट का सवाल है, सकारात्मक नतीजे मिलते थे। खिलाड़ी योगदान दे पाते थे, यहां मैं यह नहीं कह रहा कि आज के खिलाड़ी अपना सर्वश्रेष्ठ नहीं दे रहे या अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रहे, लेकिन उन्हें शर्तिया तौर पर नौकरी की सुरक्षा की कमी खल रही है।

सचिन मुंबई पुलिस जिमखाना के 69वें पुलिस आमंत्रण शील्ड क्रिकेट टूर्नामेंट 2016-17 के पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान बोल रहे थे। टेस्ट क्रिकेट में 200 मैच खेलने वाले अकेले बल्लेबाज सचिन ने कहा, 'मैं इस मंच का इस्तेमाल अपनी सभी बड़ी कंपनियों, मल्टीनेशनल कंपनियों से यह अपील करने के लिए करुंगा कि वे खिलाड़ियों को नौकरी देना शुरु करें। उनका समर्थन करें, सुरक्षा दें। तेंडुलकर ने स्कूल स्तर पर प्रत्येक टीम में 14 खिलाड़ियों के उनके विचार को स्वीकृति देने के लिए मुंबई क्रिकेट संघ की तारीफ भी की। उन्होंने कहा कि प्रत्येक टीम में 14 सदस्य होने से खिलाड़ियों को अधिक मौके मिलेंगे।

यह भी पढ़े: ...तो लडकिया इस समय सबसे ज्यादा सोचती है सेक्स के बारे में

यह भी पढ़े: यह है दुनिया की 'एकमात्र कामसूत्र' की पाठशाला।

यह भी पढ़े: मनुष्यों के लिये अंग उगाएगी छिपकली की पूंछ!

यह भी पढ़े: चमत्कारी स्प्रे, इसे लगाने के बाद खिंची चली आएंगी लड़कियां..!

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

More From sports

loading...
Trending Now
Recommended