loading...
Airtel: ग्राहकों के लिए रोमिंग चार्जेज खत्म करने की तैयारी में POK में मुख्य न्यायाधीश का फरमान, 'अदालती कर्मचारियों का नमाज पढ़ने पर ही बढ़ेगा वेतन' अजहरूद्दीन ने भारतीय टीम को लेकर दिया बड़ा ये बयान, कहा... बेहतर फ्रंट कैमरा से लैस ये हैं टॉप 5 बजट स्मार्टफोन्स, कीमत 7000 रुपये से भी कम, जानिए! ...तो अब ये भूमिका निभाना चाहते हैं विवेक कमजोरी रुख के साथ हुई एशियाई बाजारों की शुरुआत शराबबंदी के बाद महागठबंधन सरकार का पहला बजट आज, बुनकरों के लिए हो सकता है बड़ा ऐलान विजय हजारे ट्राफी में ईडन गार्डन्स पर धोनी ने खेली आकर्षक शतकीय पारी ओलांद ने ट्रंप को बातों-बातों में सुनाई खरी-खोटी फिल्म 'इत्तफाक' में जल्द नजर आएंगी ये जोड़ी अमेजन इंडिया पर माइक्रोमैक्स के हैंडसेट्स पर जबरदस्त ऑफर,जानिए! राज्य में इस्पात संयंत्र की स्थापना के लिए सौर ऊर्जा संयंत्र लगाएगी आर्सेलर-मित्तल व्हाइट हाउस स्थित ओवल ऑफिस में पहली बार ट्रंप से मिले भारतीय राजदूत सरना ISIS में शामिल भारतीय युवक की ड्रोन हमले में मौत 'किक 2' एमी जैक्सन नहीं बल्कि नजर आएंगी ये एक्ट्रेस रिलायंस जियो यूजर ने इस सेवा को समय रहते सब्सक्राइब नहीं किया तो ये होगा! 28 फरवरी को रहेंगी सभी बैंको की हड़ताल अखिलेश ने मोदी पर साधा निशाना- PM कब करेंगे काम की बात चुनाव विशेष: पूर्वांचल को अलग राज्य का दर्जा दिलवाएगी मायावती आज का राशिफल (27 फरवरी 2017,सोमवार)
तालिबान ने वीडियो किया जारी, दिखाई दिए ये दो बंधक
sanjeevnitoday.com | Thursday, January 12, 2017 | 02:53:50 PM
1 of 1

काबुल। तालिबान के कब्जे में कैद लोगों के वीडियो में एक अमरीकी केविन किंग और एक ऑस्ट्रेलियाई नागरिक टिमोथी वीक्स दिखाई दिए है। इन लोगों का अपहरण 5 महीने पहले काबुल से किया गया था।

 

पुलिस की वर्दी पहने हुए बंदूकधारियों ने 7 अगस्त को अफगान राजधानी के बीचोंबीच स्थित अमरीकन यूनिवर्सिटी ऑफ अफगानिस्तान से 2 प्रोफेसरों का अपहरण कर लिया था। अपहर्ताओं ने इन प्रोफेसरों के वाहन की खिड़की तोड़ते हुए उन्हें अपने कब्जे में लिया था। कुल13 मिनट और 35 सेकेंड का वीडियो कल तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने प्रसारित किया। यह वीडियो इस बात का प्रत्यक्ष प्रमाण देता है कि ये दोनों जीवित हैं। इस वीडियो के आने से पहले अमरीकी विशेष अभियान दलों ने अगस्त में इन दोनों नागरिकों को बचाने के लिए गोपनीय तरीके से छापेमारी की थी।

हालांकि उनका प्रयास विफल रहा था। पेंटागन ने सितंबर में कहा कि राष्ट्रपति बराक आेबामा ने अफगानिस्तान के एक अज्ञात स्थान पर छापेमारी को मंजूरी दी थी लेकिन बंधक वहां नहीं थे। वर्ष 2006 में खुली अमरीकन यूनिवर्सिटी ऑफ अफगानिस्तान से प्रतिक्रिया के लिए संपर्क नहीं किया जा सका। इन अपहरणों ने अफगानिस्तान में विदेशियों पर बढ़ते खतरों को रेखांकित कर दिया।अफगान राजधानी में संगठित आपराधिक गिरोह फैले हुए हैं। ये गिरोह फिरौती के लिए अकसर अपहरण करते हैं।

यह भी पढ़े: इस शख्स ने बनवाया अपने कुत्ते का आधार कार्ड, पुलिस ने किया गिरफ्तार!

यह भी पढ़े: हाथ नहीं है, लेकिन पियानो बजाने से लेकर हवाई जहाज तक उड़ा लेती हैं ये लड़की!

यह भी पढ़े :इस लडक़ी ने कर दिया कमाल बातों-बातों में बना दी करंट वाली ब्रा

यह भी पढ़े: अद्भुत नजारा: हवा में लटका हुआ है ये नल



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.