इन पोषक तत्वों को डाइट में शामिल कर बढ़ाएं नाखूनों की खूबसूरती सुबह जल्दी उठने से होते है कुछ बेहतरीन फायदे, जानिए... पापों का नाश कर धर्म की रक्षा करते हैं भगवान बेसन से बने फेसपैक से निखरे अपनी त्वचा शिखर ने जड़ी सबसे तेज सेंचुरी, गांगुली को पछाड़ कोहली ऊपर 2 साल के बेटे के साथ बाप ने भी खाया जहर गंभीर का बयान, कहा- दिग्गज युवी की टीम में वापसी मुश्किल प्रेमी की बाहों में पत्नी को निर्वस्‍त्र देखकर, दोनों को गोली मारकर की हत्या टी-90 टैंकों को तीसरी पीढ़ी की मिसाइल प्रणाली से लैस कर और सक्षम बनाने की परियोजना दोस्त की पत्नी से संबंद बनाना पड़ा महंगा, गवाई जान रोहित शर्मा हुए अनोखे अंदाज में रन आउट, हर कोई हैरान अवैध हथियार बनाने की फैक्ट्री पर मारा छापा, आरोपी हुआ गिरफ्तार IGI एयरपोर्ट पर एक महिला के पास से 38 लाख रुपये की विदेशी करेंसी जब्त राजनाथ सिंह ने लखनऊ में राष्ट्रीय जाँच एजेंसी के कार्यालय व आवास परिसर का किया उद्घाटन बर्मिंघम टेस्ट में इंग्लैंड की रिकॉर्ड जीत, वेस्टइंडीज को पारी व 209 से हराया अप्रैल में नहीं जनवरी में ही रिलीज होगी रजनीकांत-अक्षय की 2.0 सुख का खजाना LIVE INDvsSL: भारत ने श्रीलंका को 9 विकेट से रौंदा, धवन (132) और कोहली (82) रन की पारी खेली शाहिद कपूर ने की अपनी सेक्सी टॉपलेस फोटो शेयर LIVE INDvsSL: धवन ने जड़ी 72 गेंदों पर सेंचुरी, कोहली का अर्धशतक, 150 रन की साझेदारी
नेपाल में संविधान संशोधन विधेयक को लेकर दूसरे दिन भी प्रदर्शन..
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 04:03:10 PM
1 of 1

काठमांडो। नेपाल में संविधान संशोधन विधेयक के विरोध में आज लगातार दूसरे दिन भी सरकार-विरोधी प्रदर्शन हुए। इस विधेयक का लक्ष्य आंदोलनरत मधेशियों और अन्य जातीय समूहों की मांगों को पूरा करने के लिए प्रांतीय सीमाओं में परिवर्तन करना है।

नेपाल की राष्ट्रीय समाचार एजेंसी आरएसएस के मुताबिक संसद में पेश किये गये संविधान संशोधन विधेयक के तहत राज्य की सीमाओं में परिवर्तन के विरोध में अर्घाखांची जिले में जिला स्तरीय अनिश्चितकालीन हड़ताल का आह्वान किया गया है।

संबंधित जिलों के लोगों ने विधेयक को ‘‘अव्यवहारिक ’’ बताया है क्योंकि इसमें पर्वतीय क्षेत्र को प्रोविंस नंबर पांच से अलग करके तराई के अंतर्गत रखने का प्रस्ताव है। प्यूथान-रोल्पा संघर्ष समिति के समन्वयक मुक्ति प्रसाद शर्मा ने बताया कि प्रदर्शन तब तक जारी रहेगा, जब तक सरकार विधेयक वापस नहीं ले लेती है।

संविधान संशोधन विधेयक के प्रावधान के तहत अर्घाखांची, पाल्पा, गुल्मी, रोल्पा और प्यूथान को प्रोविंस नंबर पांच से अलग कर प्रोविंस नंबर चार के अंतर्गत रखा जाना है। बुटवाल और प्यूथान में प्रदर्शन शुरू हुआ, जिससे यातायात पूरी तरह बाधित हो गया और दुकान एवं शिक्षण प्रतिष्ठान बंद रहे।

इसी बीच इस मुद्दे को लेकर गुल्मी जिले में अनिश्चितकालीन हड़ताल का आह्वान किया गया है जबकि पाल्पा में भी विरोध प्रदर्शन जारी है।

यह भी पढ़े: जेब में रखे चीनी करेगा मोबाइल चार्ज ये है तरीका

यह भी पढ़े: नोटबंदी से नोटवाली हुई एप्पल, इस तरह हुआ फायदा

यह भी पढ़े: इस गांव में सुनसान पड़े है सभी बैंक और ATM, जानिए वजह

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.