एशियाई शीतकालीन खेलों के लिए तैयार भारतीय दल नाबलिग ने फांसी लगाकर की आत्‍महत्‍या पीसीए की धारा को हटाने के विरोध में पार्टी के खिलाफ जाएंगे सुब्रमण्यम स्वामी खेती की बिजली दरें कम करने से खुश किसानों ने किया मुख्यमंत्री का अभिनन्दन सलमान, सोनम के बाद अब सूरज करेगें अपना एप लांच पुरुष टीम की पहली महिला कोच बनीं चान यूएन टिंग छात्रा पर एसिड हमला, आरोपी गिरफ्तार VIDEO: 'मिर्ची म्यूजिक अवॉर्ड्स में अभिनेत्रियों ने बिखेरा जलवा कमान्डेन्ट चेतन चीता के लिए विश्वविद्यालय परिसर में स्वास्थ्य यज्ञ श्लोक-अर्जुन की जोड़ी ने जीता एपेक्स एलीट टेनिस का खिताब 'जश्न ए रेख्ता' कार्यक्रम में तारिक फतेह का विरोध दस साल की बालिका से दुष्कर्म का प्रयास रामू का कंफ्यूजन- शशिकला या जयाललिता? बिना परमिट के ई-रिक्शों के खिलाफ चलाया जायेगा अभियान ‘आंखें 2' में महानायक अमिताभ बच्चन के साथ नजर आयेंगी ईशा गुप्ता दुनिया के नंबर एक गोल्फर बने डस्टिन जॉनसन शिमला में चौकीदार को बंधक बनाकर लाखों की डकैती मोदी के 'कब्रिस्तान-श्मशान' बयान पर कांग्रेस ने चुनाव आयोग से की सख्त कार्रवाई की मांग सपा प्रत्याशी रिबू श्रीवास्तव ने लिया नाम वापस, गठबंधन को राहत इस फेमस सिंगर के साथ हुआ धोखा, जबरदस्ती करवाई परफॉर्मेंस
नेपाल में संविधान संशोधन विधेयक को लेकर दूसरे दिन भी प्रदर्शन..
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 04:03:10 PM
1 of 1

काठमांडो। नेपाल में संविधान संशोधन विधेयक के विरोध में आज लगातार दूसरे दिन भी सरकार-विरोधी प्रदर्शन हुए। इस विधेयक का लक्ष्य आंदोलनरत मधेशियों और अन्य जातीय समूहों की मांगों को पूरा करने के लिए प्रांतीय सीमाओं में परिवर्तन करना है।

नेपाल की राष्ट्रीय समाचार एजेंसी आरएसएस के मुताबिक संसद में पेश किये गये संविधान संशोधन विधेयक के तहत राज्य की सीमाओं में परिवर्तन के विरोध में अर्घाखांची जिले में जिला स्तरीय अनिश्चितकालीन हड़ताल का आह्वान किया गया है।

संबंधित जिलों के लोगों ने विधेयक को ‘‘अव्यवहारिक ’’ बताया है क्योंकि इसमें पर्वतीय क्षेत्र को प्रोविंस नंबर पांच से अलग करके तराई के अंतर्गत रखने का प्रस्ताव है। प्यूथान-रोल्पा संघर्ष समिति के समन्वयक मुक्ति प्रसाद शर्मा ने बताया कि प्रदर्शन तब तक जारी रहेगा, जब तक सरकार विधेयक वापस नहीं ले लेती है।

संविधान संशोधन विधेयक के प्रावधान के तहत अर्घाखांची, पाल्पा, गुल्मी, रोल्पा और प्यूथान को प्रोविंस नंबर पांच से अलग कर प्रोविंस नंबर चार के अंतर्गत रखा जाना है। बुटवाल और प्यूथान में प्रदर्शन शुरू हुआ, जिससे यातायात पूरी तरह बाधित हो गया और दुकान एवं शिक्षण प्रतिष्ठान बंद रहे।

इसी बीच इस मुद्दे को लेकर गुल्मी जिले में अनिश्चितकालीन हड़ताल का आह्वान किया गया है जबकि पाल्पा में भी विरोध प्रदर्शन जारी है।

यह भी पढ़े: जेब में रखे चीनी करेगा मोबाइल चार्ज ये है तरीका

यह भी पढ़े: नोटबंदी से नोटवाली हुई एप्पल, इस तरह हुआ फायदा

यह भी पढ़े: इस गांव में सुनसान पड़े है सभी बैंक और ATM, जानिए वजह

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.