लॉटरी का झांसा देकर 5 लाख की ठगी देश और दुनिया के इतिहास में 24 जुलाई की महत्वपूर्ण घटनाएं नाशपाती के सेवन से होते है ये फायदे तुतला कर बोलते हैं तो करे आंवले का सेवन मलेरिया व डेंगू से बचने के लिए लोगो को जागरूक किया पार्षद ने सेहत विभाग के अधिकारियों के साथ मिलकर क्षेत्र का दौरा किया किदवई में नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर आयोजन स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के फैसले से इलाकावासियों की खुशी आधी-अधूरी स्वास्थ्य अधिकारियों की लापरवाही के कारण स्वास्थ्य सुविधाएं प्रभावित स्वास्थ्य विभाग और शिक्षा के घटिया परिणाम पर मनोहर लाल ने जताई नराजगी सुमन महाराज ने कहा- क्षमा धर्म का प्राण और अराधना का सार है शिविर में डेढ़ सौ लोगों का स्वास्थ जांचा भारत को रूस बेचना चाहता है अपना सबसे आधुनिक लड़ाकू विमान मिग-35 जूनियर पाइलेटों से भरवा रही है जमानती बांड जेट एयरवेज स्मैक बेचने के आरोप में दो तस्कर गिरफ्तार विश्व पैरा एथलीट: भारत एक स्वर्ण सहित पांच पदक के साथ रही टॉप 30 से बाहर भारत सरकार ‘मेक इन इंडिया के तहत बनाएगी सुपर कंप्यूटर WWC17: भारत के सपने हुए चकनाचूर, इंग्लैंड चौथी बार बनी वर्ल्ड चैंपियन मेलबर्न के फेडरेशन चौक पर भारतीय झंडा फहराएंगी ऐश्वर्या वर्ल्ड कप फाइनल LIVE: भारतीय महिला टीम लड़खड़ाई, वेदा के बाद गोस्वामी भी लोटी, score 208/7
पाकिस्तानरेल मंत्री ने कहा- बुलेट ट्रेन चलाने के लिए नहीं है पैसा
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 11:34:50 AM
1 of 1

इस्लामाबाद। भारत में जहां बुलेट ट्रेन का सपना जल्द पूरा होने वाला है, वहीं पाकिस्तान इस मामले में पिछड़ता हुआ दिखाई दे रहा है। पाकिस्तान के रेल मंत्री ख्वाजा रफीक ने संसद में कहा है कि पाक के पास इतना पैसा नहीं है कि देश में बुलेट ट्रेन चलाई जा सके। गौरतलब है कि चुनावों के दौरान नवाज शरीफ की पार्टी ने देश में बुलेट ट्रेन दौड़ाने का वाद किया था। हालांकि पैसा नहीं होने पर अब नवाज शरीफ सरकार चीन से मदद की आस लगा रही है। पाक सरकार चाहती है कि 46 बिलियन डॉलर की लागत से बनने वाले पाकिस्तान-चीन आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) के तहत चीन बुलेट ट्रेन बनाने में भी मदद करे।

 

गौरतलब है कि सीपीईसी के जरिए चीन खुद को ग्वादर बंदरगाह से जोड़ेगा। इस प्रोजेक्ट में पाकिस्तान के कई हित जुड़े हुए हैं। इसकी मदद से पाकिस्तान गंभीर ऊर्जा संकट से भी निकलने की कोशिश कर रहा है। पाक संसद में रेल मंत्री रफीक ने कहा कि जब हमने चीन अफसरों से बुलेट ट्रेन के बारे में चर्चा की तो वे हम पर हंस पड़े। हमें सीपीईसी के तहत 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली ट्रेन को ही बुलेट ट्रेन समझ लेना चाहिए।


ख्वाजा ने साफ कहा कि पाकिस्तान बुलेट ट्रेन का खर्च नहीं उठा सकता है और पाकिस्तान में इसका कोई बाजार भी नहीं है। रेल मंत्री ने कहा कि भले ही इस मुद्दे पर हमारी सरकार की आलोचना हो रही हो, लेकिन देश में अपर व मिडिल क्लास यात्रियों की उतनी संख्या नहीं है, जो बुलेट ट्रेन का टिकट खरीद सके।

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

यह भी पढ़े : इस शख्स को फरारी कलेक्ट करने का है शौक, खरीद रखी हैं 330 करोड़ की कारें!

यह भी पढ़े :पति ने यौन संबंध बनाने से किया इन्कार, तो पत्नी ने किया ये...

यह भी पढ़े :इतने बड़े खतरनाक हादसे के बाद भी बच निकले ये दोनों बाप-बेटे, VIDEO



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.