कोयलाकर्मियों की पेंशन पर असमंजस जारी, आज होगी निर्णायक बैठक OMG: यहां पर बिल्लियों को दी जाती है सरकारी नौकरी! जानिये कम सैलेरी में कैसे करे बचत... धोनी ने युवराज के क्रिकेट करियर के तीन महत्वपूर्ण साल कर दिए खराब: योगराज सिंह OMG: पानी के प्रैशर से चलती यह 200 साल पूरानी चक्की... छपेमारी के दौरान 4384 लीटर अवैध शराब बरामद बादल परिवार ने 10 वर्ष के शासन में लूट लिया पंजाब: नवजोत सिंह सिद्दू विवाहिता की हत्या के आरोप में को ससुरालियों को जेल शनिवार को इस विधि से की गई पूजा से शनिदेव होंगे प्रसन्न..! आल्टो कार- टाटा 207 में भिड़ंत, दो की मौत UP विधानसभा चुनाव: सपा ने की 209 उम्मीदवारों की सूची जारी, शिवपाल यादव और आजम खान भी मैदान में एलएफडब्ल्यू फिनाले में जलवे बिखेरेंगी करीना किशोर ने फंदा लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया आज भारतीय क्रिकेटर ऋषि धवन फैशन डिज़ाइनर दीपाली चौहान से रचाएंगे सगाई ! दीपिका पादुकोण संग थिरके जेम्स कॉर्डन जन धन खाताधारकों को 2 लाख रु का बीमा मिलने की पूरी उम्मीद राहत फतेह अली खान के गीत में नजर आएंगे कुनाल रांची का विवेकानंद तिवारी भारत अंडर-19 क्रिकेट टीम में शामिल किशोरी की गला काटकर हत्या अगर अकाउंट हो गया हैं हैक, तो इस तरह कर सकते हैं बचाव..!
आतंकवाद को बढ़ावा देना बंद करे पाकिस्तान: भारत
sanjeevnitoday.com | Friday, December 2, 2016 | 09:44:21 AM
1 of 1

नई दिल्ली। सेना के शिविर पर हमले के मद्देनजर सख्ती से पेश आते हुए भारत ने नगरोटा में आज स्पष्ट कर दिया कि आतंकवाद जारी रहने के माहौल में पाकिस्तान के साथ वार्ता नहीं हो सकती, जिसे द्विपक्षीय संबंध में 'नई सामान्य स्थिति' के रुप में भारत कभी नहीं स्वीकार करेगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरुप ने यह भी कहा कि अगले कदमों पर फैसला करने से पहले सरकार नगरोटा हमले के बारे में विस्तृत जानकारी का इंतजार कर रही है।

उन्होंने कहा की लेकिन मैं इस बात पर जोर देना चाहुंगा कि सरकार ने इस घटना को बहुत गंभीरता से लिया है और हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए उसे जो भी जरुरी लगेगा वह किया जाएगा। यह पूछे जाने पर कि क्या अमृतसर में तीन और चार दिसंबर को होने वाले 'हार्ट ऑफ एशिया' सम्मेलन से इतर द्विपक्षीय वार्ता होगी। उन्होंने बताया की हमें द्विपक्षीय बैठक के लिए पाकिस्तान से कोई अनुरोध नहीं मिला है। 

स्वरुप ने कहा की भारत हमेशा से बातचीत के लिए तैयार रहा है, लेकिन बेशक यह वार्ता आतंकवाद के जारी रहने के माहौल में नहीं हो सकती। भारत जारी आतंकवाद को द्विपक्षीय संबंध में नयी सामान्य स्थिति के रुप में कभी स्वीकार नहीं करेगा। सम्मेलन से दो दिन पहले भारत की तीखी टिप्पणी आई है। सम्मेलन में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व वहां के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज करेंगे। 

पाक मीडिया में इससे पहले आई खबरों में अधिकारियों के हवाले से बताया गया था कि अफगानिस्तान पर होने वाले इस सम्मेलन से इतर कोई द्विपक्षीय बैठक नहीं होगी। 
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी रविवार को संयुक्त रुप से मंत्रीस्तरीय वार्ताओं की शुरुआत करेंगे जहां भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व वित्त मंत्री अरुण जेटली करेंगे क्योंकि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अस्वस्थ हैं। 

पाकिस्तान को आडे हाथ लेते हुए स्वरुप ने कहा कि पाकिस्तान एक ऐसा देश है जिसका सीमा पार से आतंकवाद चलाने का लंबा इतिहास है और जिसे वह अपनी शासन नीति का औजार मानता है तथा इसी वजह से इस्लामाबाद शेष अन्तरराष्ट्रीय समुदाय से अलहदा है। 

यह भी पढ़े : Golden Rock ! आज भी अद्भुत तरीके से लटका हुआ ये पत्थर, दुनिया के लिए आज भी चमत्कार

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

यह भी पढ़े : विचित्र तरह के बच्चो का हो रहा जन्म, डॉक्टर खुद हैरान

यह भी पढ़े : जवाब नहीं ! चोरी के डर से घर को बना डाला लोहे का पिंजरा

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.