देश और दुनिया के इतिहास में 28 जुलाई की महत्वपूर्ण घटनाएं जानिए खीरे के स्वास्थ्यवर्द्धक और सौन्दर्यवर्द्धक गुण किशमिश स्वास्थ्य के लिए बड़ी ही लाभदायक लगातार ब्रैड के सेवन से स्वास्थ्य के लिए हानिकारक इस तरह करे प्याज का सेवन, होंगे अनेक फायदे रोजाना खाली पेट लहसुन खाने के फायदे जान दंग रह जाएंगे आप... अपहरण के बाद पांच लाख रुपये की फिरौती मांगी अवैध शराब सहित तीन आरोपी गिरफ्तार स्वाइन फ्लू की दस्तक से हिल गया स्वास्थ्य विभाग व्यापार और घर में भी धर्म का पालन करना जरूरी मातृत्व एवं शिशु स्वास्थ्य के प्रति लोगों को जागरुक करने की जरुरत बच्चों के स्वास्थ्य की जांच करेगी मोबाइल हेल्थ टीम डॉ.पीके शर्मा ने कहा- स्वास्थ्य की तरह मिट्टी की जांच भी करवानी जरूरी प्रतापगढ़ जिले के कल्पेश राज सोनी को मिला ग्लोबल बिजनेस लीडरशिप अवार्ड राहुल जौहरी को एसजीएम से बाहर करने पर बीसीसीआई पदाधिकारियों को नोटिस SSC CGL 2017 के Admit Card जारी PM मोदी ने भारतीय महिला टीम से की मुलाकात, कहा- 125 करोड़ भारतीयों ने उठाया हार का बोझ ससुराल वालों की प्रताड़ना से परेशान युवक ने खाया जहर, मौत सभी पाठ्यपुस्तकें राज्य के SIRT द्वारा तैयार पाठ्यक्रम के अनुरूप हो: वासुदेव देवनानी सस्ते फ्लैट का झांसा देकर करोड़ों की ठगी करने वाला एक ग‌िरफ्तार
नई ब्रह्मोस मिसाइल की रेंज में पूरा पाकिस्तान
sanjeevnitoday.com | Wednesday, October 19, 2016 | 08:53:09 AM
1 of 1

नई दिल्ली। भारत रूस के साथ मिलकर नई जेनरेशन की ब्रह्मोस मिसाइल बनाने की तैयारी कर रहा है जिसकी रेंज 600 किलोमीटर से कुछ अधिक होगी। इसके साथ ही इस मिसाइल की खास बात यह होगी कि इसकी जद में पूरा पाकिस्तान आ जाएगा। इस मिसाइल से पाकिस्तान के खिलाफ भारत की मारक क्षमता बढ़ जाएगी और पड़ोसी मुल्क की मुश्किलें इससे बढ़ जाएगी। दुश्मन के ठिकानों पर मिसाइल से अचूक निशाना भारत लगा पाएगा। इस साल भारत ने जून में मिसाइल टेक्नॉलजी कंट्रोल रिजीम (एमटीसीआर) की सदस्यता ली थी। रूस इससे काफी खुश है, इसलिए वह भारत के साथ मिलकर नई जेनरेशन की ब्रह्मोस मिसाइल बनाने का इच्छुक है।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166


इस बात का उल्लेख एमटीसीआर की गाइडलाइंस में है कि सदस्य देश 300 किलोमीटर से अधिक रेंज की मिसाइल ग्रुप से बाहर के देशों को ना ही बेच सकते हैं और ना ही उनके साथ मिलकर इन्हें बनाने की सोच सकते हैं। ब्रह्मोस की रेंज अभी 300 किलोमीटर है, जिससे पाकिस्तान में हर जगह निशाना भारत नहीं लगा सकता है। भारत के पास नई जेनरेशन की ब्रह्मोस मिसाइल से अधिक रेंज की बलिस्टिक मिसाइल हैं, लेकिन ब्रह्मोस की खासियत यह है कि इससे खास टारगेट को निशाना बनाया जा सकता है और उसे तबाह किया जा सकता है। जानकारों की माने तो पाकिस्तान के साथ यदि किसी प्रकार का टकराव होता है तो यह गेम चेंजर साबित सकता है हो। बलिस्टिक मिसाइल को आधी दूरी ही गाइड किया जाता है। इसके बाद की दूरी वे ग्रैविटी की मदद से तय करती हैं। 


उल्लेखनीय है कि क्रूज मिसाइल की पूरी रेंज गाइडेड प्रणाली पर है। ब्रह्मोस क्रूज मिसाइल है जो बिना पायलट वाले लड़ाकू विमान की तरह होगी, जिसे बीच रास्ते में भी कंट्रोल करने की क्षमता से लैस किया जाएगा। इसे किसी भी ऐंगल से अटैक के लिए प्रोग्राम किया जा सकता है। गोवा में हुए द्विपक्षीय समझौते में दोनों देशों के बीच नई मिसाइल बनाने पर सहमति बन चुकी है जिससे पाकिस्तान परेशान है। भारत और रूस के बीच हुए समझौते के तहत ऐसी कम रेंज की मिसाइल भी बनाई जाएगी, जिसे सबमरीन और हवाई जहाज से लॉन्च किया जा सकता है।

यह भी पढ़े: कोड़ी के भाव बेच दिए रिश्ते ! दोनों बेटी को कई बार बेचा, कई बार हुआ रेप लेकिन इसके बावजूद

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप
यह भी पढ़े: जवान होने से पहले ही लड़कियों की जबरन शादी, और फिर..
यह भी पढ़े: अजीब परम्परा! यहां लड़कियों के रेप में लड़को का साथ देते है घरवालें..!



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.