प्रधानमंत्री कौन से धन से चुनाव जीते, यह बताने से कतरा क्यों रहे हैं - गहलोत शिक्षक ने की छात्रा से छेड़खानी 'कहानी 2' के सेट पर विद्या बालन को हो गया था इनसे प्यार सुब्रमण्यम स्वामी को अयोध्या मसले में पक्षकार मानने से मुस्लिम बोर्ड का इन्कार विदेश में नौकरियां आउटसोर्स करने वाली कंपनियों पर 35 फीसदी कर लगाने की ट्रंप ने दी चेतावनी.. राहिल शरीफ बने बहुराष्ट्रीय इस्लामी आतंकवाद विरोधी बल के प्रमुख दक्षिण अफ्रीका ने पहली गोल्फ टेस्ट श्रृंखला में भारत को हराया.. जाधवपुर विश्वविद्यालय के मुख्य छात्रावास में फांसी पर लटका मिला छात्र चंद्रबाबू नायडू की रिश्तेदार दस लाख के पुराने नोटों के साथ पकड़ी गई जर्मन कोच: भारत हाकी विश्व कप में खिताब का प्रबल दावेदार.. महेश भट्ट की बेटी को है यह बीमारी... लूट की योजना बनाते चार गिरफ्तार सम्मेलन में भारत और अफगानिस्तान ने आतंक के मुद्दे पर पाक को घेरा.. सरताज अजीज को स्वर्ण मंदिर मे घुसने से मना किया तीन बार प्यार हुआ, उन्हें बदले में प्यार करने वाली कोई नहीं मिली: करन जौहर जयललिता को पड़ा दिल का दौरा शरीफ हैं ट्रंप से मिलने को इच्छुक, अगले महीने कर सकते हैं अमेरिका यात्रा जेल से पैरोल पर आने के बाद वापस न जाने का आरोपी गिरफ्तार मोदी के बाद अब केजरीवाल भी करेंगे परिवर्तन रैली इंग्लैंड के खिलाफ पहले वनडे से पहले धोनी के लिये कोई मैच नहीं?
पाक को दो टूक शब्द, आतंकवाद जारी तो बातचीत असंभव
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 11:57:18 PM
1 of 1

नई दिल्ली। नगरोटा में सेना के शिविर पर हमले के मद्देनजर सख्ती से पेश आते हुए भारत ने आज स्पष्ट कर दिया कि आतंकवाद जारी रहने के माहौल में पाकिस्तान के साथ वार्ता नहीं हो सकती, जिसे द्विपक्षीय संबंध में 'नई सामान्य स्थिति' के रुप में भारत कभी नहीं स्वीकार करेगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरुप ने यह भी कहा कि अगले कदमों पर फैसला करने से पहले सरकार नगरोटा हमले के बारे में विस्तृत जानकारी का इंतजार कर रही है।

जानकारी के मुताबिक- उन्होंने कहा, लेकिन मैं इस बात पर जोर देना चाहुंगा कि सरकार ने इस घटना को बहुत गंभीरता से लिया है और हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए उसे जो भी जरुरी लगेगा वह किया जाएगा। यह पूछे जाने पर कि क्या अमृतसर में 3 और 4 दिसंबर को होने वाले 'हार्ट ऑफ एशिया' सम्मेलन से इतर द्विपक्षीय वार्ता होगी, उन्होंने बताया,  हमें द्विपक्षीय बैठक के लिए पाकिस्तान से कोई अनुरोध नहीं मिला है। 

 
वार्ता आतंकवाद के जारी रहने के माहौल में नहीं हो सकती...
स्वरुप ने कहा, भारत हमेशा से बातचीत के लिए तैयार रहा है, लेकिन बेशक यह वार्ता आतंकवाद के जारी रहने के माहौल में नहीं हो सकती। भारत जारी आतंकवाद को द्विपक्षीय संबंध में नयी सामान्य स्थिति के रुप में कभी स्वीकार नहीं करेगा। सम्मेलन से दो दिन पहले भारत की तीखी टिप्पणी आई है। सम्मेलन में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व वहां के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज करेंगे। इससे पहले पाक मीडिया में आई खबरों में अधिकारियों के हवाले से बताया गया था कि अफगानिस्तान पर होने वाले इस सम्मेलन से इतर कोई द्विपक्षीय बैठक नहीं होगी।
 
मंत्रीस्तरीय वार्ताओं की होंगी शुरुआत...
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी रविवार को संयुक्त रुप से मंत्रीस्तरीय वार्ताओं की शुरुआत करेंगे जहां भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व वित्त मंत्री अरुण जेटली करेंगे क्योंकि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अस्वस्थ हैं। पाकिस्तान को आडे हाथ लेते हुए स्वरुप ने कहा कि पाकिस्तान एक ऐसा देश है जिसका सीमा पार से आतंकवाद चलाने का लंबा इतिहास है और जिसे वह अपनी शासन नीति का औजार मानता है तथा इसी वजह से इस्लामाबाद शेष अन्तरराष्ट्रीय समुदाय से अलहदा है।

 

यह भी पढ़े: जुर्म के बदले सजा नही शराब मिलती है, पीछे है एक अजीब वजह

यह भी पढ़े: खूबसूरत फिगर की चाह में तोड़ दीं सारी हदें, कमजोर दिलवाले नही देखे यह तस्वीरें...

यह भी पढ़े....रेलवे का नया फैसला, अब बिना आधार के नहीं मिलेगा ट्रेन में रिजर्वेशन

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.