loading...
जानिए महिलाएं क्यों करती हैं ऑर्गैजम का नाटक? क्या आप जानते है नाखूनों पर बने अर्ध चांद का मतलब? Alert: एड्स से भी ज्यादा खतरनाक बीमारी हैं "सेक्स सुपरबग", जानें लक्षण! खूबसूरत दिखने के लिए इस लड़की ने कर डाला अविश्वसनीय काम! आतंकवाद के जाल में फंसकर रह गयी हैं दुनिया: नरेंद्र मोदी रैसलमेनिया 33 से पहले अंडरटेकर को लेकर रोमन रेंस ने दिया ये बयान पीएम मोदी का मंत्रिमण्डल जनता की उम्मीदों पर खरा उतरा है, कांग्रेस अपने बड़बोलेपन के कारण विपक्ष में भी नहीं: राजनाथ अमेरिका: नस्लीय हमले के विरोध में भारतीय मूल के लोगों ने निकाली रैली दो घरों सहित आधा दर्जन जगहों से लाखों की चोरी एक अप्रैल तक बैंक शाखाओं के खुला रहने का बैंक यूनियन ने किया विरोध महापंचायत सामाजिक कुरीतियों को रोकने के लिए एक जुट दो महिलाओं की धारदार हथियार से हत्या BJP सांसद हुकुमदेव नारायण ने पटना एयरपोर्ट पर झाड़ा रौब, खाली बस लेकर पहुंचे प्लेन तक बड़े बडे वादे करके किसानों को गुमराह कर रही है BJP सरकार: कांग्रेस गोल्डी हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा, तीन गिरफ्तार यूपी के चार विधायकों को राज्यपाल सोमवार को दिलाएंगे शपथ, फतेह बहादुर बने कार्यवाहक विधानसभा अध्यक्ष संतोष ट्रॉफी पर बंगाल ने 32 वीं बार जमाया कब्जा राजनाथ सिंह कांग्रेस पर बरसे, कहा- अपने बड़बोलेपन के कारण विपक्ष में भी नहीं रामनिवास बाग में मासूम से दुष्कर्म के दो आरोपी हिरासत में 100 से अधिक भारतीय मछुआरों को पाकिस्तान ने किया गिरफ्तार
पाक को दो टूक शब्द, आतंकवाद जारी तो बातचीत असंभव
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 11:57:18 PM
1 of 1

नई दिल्ली। नगरोटा में सेना के शिविर पर हमले के मद्देनजर सख्ती से पेश आते हुए भारत ने आज स्पष्ट कर दिया कि आतंकवाद जारी रहने के माहौल में पाकिस्तान के साथ वार्ता नहीं हो सकती, जिसे द्विपक्षीय संबंध में 'नई सामान्य स्थिति' के रुप में भारत कभी नहीं स्वीकार करेगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरुप ने यह भी कहा कि अगले कदमों पर फैसला करने से पहले सरकार नगरोटा हमले के बारे में विस्तृत जानकारी का इंतजार कर रही है।

जानकारी के मुताबिक- उन्होंने कहा, लेकिन मैं इस बात पर जोर देना चाहुंगा कि सरकार ने इस घटना को बहुत गंभीरता से लिया है और हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए उसे जो भी जरुरी लगेगा वह किया जाएगा। यह पूछे जाने पर कि क्या अमृतसर में 3 और 4 दिसंबर को होने वाले 'हार्ट ऑफ एशिया' सम्मेलन से इतर द्विपक्षीय वार्ता होगी, उन्होंने बताया,  हमें द्विपक्षीय बैठक के लिए पाकिस्तान से कोई अनुरोध नहीं मिला है। 

 
वार्ता आतंकवाद के जारी रहने के माहौल में नहीं हो सकती...
स्वरुप ने कहा, भारत हमेशा से बातचीत के लिए तैयार रहा है, लेकिन बेशक यह वार्ता आतंकवाद के जारी रहने के माहौल में नहीं हो सकती। भारत जारी आतंकवाद को द्विपक्षीय संबंध में नयी सामान्य स्थिति के रुप में कभी स्वीकार नहीं करेगा। सम्मेलन से दो दिन पहले भारत की तीखी टिप्पणी आई है। सम्मेलन में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व वहां के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज करेंगे। इससे पहले पाक मीडिया में आई खबरों में अधिकारियों के हवाले से बताया गया था कि अफगानिस्तान पर होने वाले इस सम्मेलन से इतर कोई द्विपक्षीय बैठक नहीं होगी।
 
मंत्रीस्तरीय वार्ताओं की होंगी शुरुआत...
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी रविवार को संयुक्त रुप से मंत्रीस्तरीय वार्ताओं की शुरुआत करेंगे जहां भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व वित्त मंत्री अरुण जेटली करेंगे क्योंकि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अस्वस्थ हैं। पाकिस्तान को आडे हाथ लेते हुए स्वरुप ने कहा कि पाकिस्तान एक ऐसा देश है जिसका सीमा पार से आतंकवाद चलाने का लंबा इतिहास है और जिसे वह अपनी शासन नीति का औजार मानता है तथा इसी वजह से इस्लामाबाद शेष अन्तरराष्ट्रीय समुदाय से अलहदा है।

 

यह भी पढ़े: जुर्म के बदले सजा नही शराब मिलती है, पीछे है एक अजीब वजह

यह भी पढ़े: खूबसूरत फिगर की चाह में तोड़ दीं सारी हदें, कमजोर दिलवाले नही देखे यह तस्वीरें...

यह भी पढ़े....रेलवे का नया फैसला, अब बिना आधार के नहीं मिलेगा ट्रेन में रिजर्वेशन

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.