loading...
loading...
loading...
झारखंड : गोरक्षा ने गाय के शव को लेकर बुज़ुर्ग को बुरी तरह पीटा, घर को भी लगाई आग राष्ट्रपति चुनाव के लिए मीरा कुमार ने किया नामांकन #ToiletEkPremKatha का पहला गाना HansMatPagli रिलीज इन अजीबोगरीब रेस्टोरेंट के बारें में सुनकर आपको भी आ जाएंगी हंसी मुंबई ब्लास्ट के दोषी मुस्तफा डोसा की हार्ट अटैक से मौत बॉलीवुड अभिनेत्री महिमा चौधरी के ममेरे भाई-भाभी की सड़क हादसे में मौत इस रेस्टोरेंट के बंद होने की वजह जानकर आप चौंक जाएंगे Video: सेंसर बोर्ड ने दी 'लिपस्टिक अंडर माय बुर्का' के इस ट्रेलर को रिलीज़ की इजाजत आनंदपाल का शव लेने से परिजनों ने किया इंकार, अब पुलिस की निगरानी में होगा अंतिम संस्कार 31 अंक की बढ़ोतरी के साथ सैंसेक्स 30,989 अंक पर GST लॉन्च की तैयारी को लेकर संसद में आज होगा मेगा रिहर्सल इस पति ने अपनी पत्नी के साथ जो किया उसे सुनकर आप रह जाएंगे दंग मानसून मेगा सेल में Spice Jet दे रहा 699 रुपए में हवाई यात्रा करने का मौका श्वेता तिवारी की बेटी का ये हॉट फोटोशूट देख आप भी कहेंगे WOW GST को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दाखिल, 29 जून को होगी सुनवाई 'साथ निभाना साथिया' की गोपी बहु की तबियत ख़राब, हॉस्पिटल में हुइ एडमिट आपत्तिजनक हालत में पुलिस ने 35 लड़के-लड़कियों को किया गिरफ्तार नियम उल्लंघन मामले को लेकर 'लसिथ मलिंगा' पर लगा 6 महीने का प्रतिबंध 'द कपिल शर्मा शो' में कपिल का साथ देने आ रही है भारती सिंह पुजारी ने लड़की की आबरू को तार-तार करने की वारदात को दिया अंजाम
भारत के ब्रिक्स देशो से संबंध होंगे गहरे, चीन ने की आतंकवाद की निंदा
sanjeevnitoday.com | Tuesday, June 20, 2017 | 07:47:15 AM
1 of 1

 

नई दिल्ली। जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी मसूद अजहर को लेकर मतभेद के बावजूद ब्रिक्स के मंच पर चीन ने भारत के साथ आतंकवाद के सभी रूपों में निंदा की है, चाहे इसे किसी ने भी कहीं भी अंजाम दिया हो। गौरतलब है कि मसूद अजहर को भारत यूएन की ओर से प्रतिबंधित आतंकवादियों की सूची में देखना चाहता है, लेकिन चीन इसके लिए राजी नहीं था। ब्रिक्स देशों (ब्राजील, रूस, भारत, चीन और साउथ अफ्रीका) के विदेश मंत्री 18 और 19 जून को चीन के पेइचिंग में मिले। 

 

इसमें विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह ने कहा कि सभी ब्रिक्स देश इस बात पर सहमत हैं कि आतंकवाद मानवता के लिए दुश्मन है और उन्होंने इसके विस्तार पर चिंता जताई है। भारत की ओर से उन्होंने ध्यान दिलाया गया कि आतंकवादियों में अच्छे और बुरे का फर्क नहीं किया जा सकता है। 

यहां विदेश मंत्रालय के मुताबिक, सम्मेलन में अंतरराष्ट्रीय समुदाय से कहा गया कि वह आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होकर गठबंधन तैयार करें। संयुक्त राष्ट्र महासभा में अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद पर व्यापक संधि को जल्द मंजूर किए जाने पर भी जोर दिया गया। सिंह ने बताया कि संधि को ब्रिक्स को सभी देशों को समर्थन है। 

ब्रिक्स के विदेश मंत्रियों ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र और सुरक्षा परिषद में व्यापक सुधारों की जरूरत है और इसमें विकासशील देशों का प्रतिनिधित्व बढ़ना चाहिए। चीन और रूस ने इस बात को दोहराया कि ब्राजील, भारत और दक्षिण अफ्रीका के रोल का अंतरराष्ट्रीय मामलों में महत्व है। वे यूएन में इन देशों के बड़े रोल की इच्छा को सपोर्ट करते हैं। 

पैरिस अग्रीमेंट से अमेरिका के हटने की घोषणा को इशारों में आड़े हाथों लेते हुए विदेश मंत्रियों ने कहा कि सतत विकास के 2030 के अजेंडे पर पूरी तरह अमल हो। विकसित देश सहायता कार्यक्रमों के अपने वादों को पूरा करें। ग्लोबलाइजेशन के आर्थिक पहलू संतुलित हों, संरक्षणवाद को खारिज किया जाए। पैरिस जलवायु समझौते के लागू होने का स्वागत करते हुए इन मंत्रियों ने कहा कि सभी देशों को इस अग्रीमेंट का पालन करना चाहिए।

लीबिया और कोरिया में टकराव पर राजनीतिक और राजनैतिक समाधान को समर्थन दिया गया है। एकतरफा सैन्य हस्तक्षेप या आर्थिक प्रतिबंध की निंदा करते हुए कहा गया है कि यह अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन है। बहुध्रुवीय विश्व का समर्थन कर दोहराया गया कि अंतरराष्ट्रीय मामलों में संयुक्त राष्ट्र का केंद्रीय रोल हो



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.