अजय की फिल्म ‘गोलमाल अगेन’ ने पहले दिन रचा इतिहास, आमिर ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ को छोड़ा पीछे शहर में बढ़ते अपराध पर अंकुश लगाने के लिए एसपी ने वाहन जांच अभियान चलाया यूपी में दिनदहाड़े घर मे घुसकर 5वीं कक्षा की मासूस से किया गैंगरेप राजस्थान पुलिस को गंभीर मामले में वारंटियों की तलाश, 7 संदिग्ध हत्थे चढ़े एशिया कप: भारत ने पाकिस्तान को 4-0 से हराकर 8वीं बार फ़ाइनल में प्रवेश अजिंक्य रहाणे टीम के तीसरे ओपनिंग बल्लेबाज: विराट RSS के कार्यकर्ता की गाजीपुर में गोली मारकर की हत्या, समर्थकों ने की तोड़फोड़ चेतावनी: विश्व नेताओं को दलाई लामा से मिलना गंभीर अपराध बताया चीन कश्मीर में कट्टरपंथ की समस्या के लिए सोशल मीडिया जिम्मेदार: सेना प्रमुख कर्नाटक सरकार टीपू सुल्तान हत्यारे की जयंती पर मुझे न बुलाये: केंद्रीय मंत्री आरबीआई ने कहा- बैंक खातों को आधार से लिंक कराना जरुरी, अंतिम तिथि 31 दिसंबर गुजरात चुनाव: कांग्रेस ने हार्दिक पटेल को साथ देने का न्योता भेजा, 125 सीटें जीतने का दावा किया दिवाली के अवसर पर मुस्लिम महिलाओं ने की भगवान राम की पूजा, दारूल उलूम ने कहा- नहीं है मुस्लिम! कोहली और अनुष्का ने लिए शादी के मंडप में अनोखे वचन अर्जुन तेंदुलकर की बाउंसर गेंद से घबराये टीम इंडिया का 'गब्बर' टीम के डॉक्टर ने गोल्ड मेडल जीतने वाली महिला को नींद की गोली देकर किया था यौन शोषण दिल्ली NCR: इलेक्ट्रिक गाड़ी चार्ज करने के लिए देने होंगे 42 रूपये यूपी में RSS कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या पुलिस स्मृति दिवस आज, जानिए क्यों मनाया जाता है ये दिवस वीडियो: झारखंड सीएम रघुवर दास ने तोड़े ट्रैफिक रूल्स, बिना हेलमेट घूमे रांची में
भारत ने आतंकवाद को किसी आतंकी संगठन तक सीमित नही रखा: विदेश मंत्रालय
sanjeevnitoday.com | Tuesday, October 18, 2016 | 12:46:19 PM
1 of 1

पणजी। ब्रिक्स गोवा एक्शन प्लान में जैश-ए-मोहम्मद या किसी और पाक समर्थित आतंकी संगठन को शामिल नहीं कर पाना भारत की असफलता है, इसे भारत सरकार ने सिरे से नकार दिया। भारत सरकार का कहना है कि 8वीं ब्रिक्स समिट के दौरान मेजबान भारत की कोशिश सिर्फ आंतकवाद को ब्रिक्स- बिमस्टेक जैसे अंतरराष्ट्रीय मंचों पर उठाकर एक आम सहमति बनाने की कोशिश थी और भारत इसमें सफल रहा है। भारत आतंकवाद को एक वैश्विक समस्या मानता है, ना कि किसी देश या आतंकी संगठन से उसे जोड़ता है।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

गोवा में हो हुई 8वीं ब्रिक्स समिट के समापन के बाद सोमवार शाम भारत सरकार की ओर विदेश मंत्रालय ने तीन दिनों को पूरे घटनाक्रम पर सवालों के जवाब दिए। ये पूछे जाने पर कि क्या ब्रिक्स गोवा एक्शन प्लान में पाक समर्थित किसी आतंकी संगठन का नाम शामिल नहीं करना या पाकिस्तान का सीधे तौर पर उल्लेख भारत की असफलता नहीं है, विदेश मंत्रालय ने साफ किया कि वैश्विक राजनायिक परिदृश्य में ये बातें संभव नहीं होती। हमारी कोशिश ब्रिक्स-बिमस्टेक जैसे मंचों पर आतंकवाद के मुद्दे को उठाना था। 

भारत के प्रधानमंत्री ने तो सीधे तौर पर अपने एक पड़ोसी को आतंकवाद की जननी तक कह डाला। इतना ही नहीं भारत ने ब्रिक्स और बिमस्टेक सदस्य देशों के साथ हुई हर बैठक में आतंकवाद, खासकर भारत की सीमा से लगे क्षेत्र से आतंकवाद के पोषण की बात की है। हमारे प्रधानमंत्री ने तो यहां तक कह दिया था कि दुनिया में आतंकवाद का अंधेरा हमारे पड़ोस से ही फैल रहा है। प्रधानमंत्री का पूरी दुनिया को ये इशारा ही काफी था, जब उन्होंने कहा कि ये हमारा दुर्भाग्य है कि वैश्विक आतंकवाद के सूत्र हमारे पड़ोस में भी मिल जाते है।

विदेश मंत्रालय की मानें तो भारत ने जिस तरह से ब्रिक्स और बिमस्टेक को एक साझा मंच पर लाकर आतंकवाद को लेकर एक आम सहमति बनाई है, वैसे पहले कभी नहीं हुआ। इसीलिए ब्रिक्स-बिमस्टेक के इस पूरे आयोजन में भारत का आतंकवाद को लेकर प्रयास सफल रहा है। यह बात दीगर है कि भारत के ब्रिक्स और बिमस्टेक सदस्य देशों के साथ आतंकवाद पर पुरजोर तरीके से बात करना और इशारों में पाकिस्तान को आतंकवाद का जनक बताना चीन को नहीं भाया है। 

यह भी पढ़े: स्त्री में सम्भोग की इच्छा बढ़ाने के 4 सबसे आसान घरेलू उपाय...



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.