दीपिका की इस फिल्म के साथ बॉलिवुड में डेब्यू करेंगे शाहिद के भाई अहमदाबाद: 700 करोड़ रूपये में बनेगा दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम, क्षमता 1.10 लाख 'समाजवादी दंगल' में अखिलेश 'सुल्तान', मुलायम सिंह पार्टी संरक्षक किंग खान ने करण जौहर की ऑटोबायोग्राफी 'एन अनसूटेबल बॉय' का विमोचन किया कोच, कप्तान और आरपी भाई की वजह से गुजरात टीम में एकता: अक्षर पटेल ट्रम्प एक ‘‘बदले हुऐ प्रत्याशी’, उन्हें हल्के में नहीं लें: ओबामा झारखंड के राज्यकर्मियों के लिए सातवां वेतनमान लागू, 2500 करोड़ का वित्तीय बोझ ! सीएम को अचानक देख गदगद हुआ योगी परिवार, शादी की बधाई, गांव को विकास के लिए 10 करोड़ बांग्लादेश अदालत ने नारायणगंज हत्याकांड मामले में 26 लोगों को दी सजा-ए-मौत जवानों को खराब खाना संबंधी याचिका पर सुनवाई करेगा हाईकोर्ट ऑस्ट्रेलियन ओपन: मरे, निशिकोरी, वीनस और मुगुरुजा दूसरे दौर में आपरेशन मुस्कान के तहत राजस्थान की छह लड़कियां बरामद आग लगने की घटनाओं के प्रति 'जीरो टॉलरेंस' की नीति चाहती है सरकारः नड्डा 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' अभियान के लिए जिला झुंझुनू को राष्ट्रीय पुरस्कार राजा ठाकुर हत्याकांड के आरोपी की जमानत हाईकोर्ट से खारिज विधानसभा सत्र उपराज्यपाल के पद की गरिमा का अपमान: विजेंद्र गुप्ता सिख विरोधी दंगों पर चार हफ्ते में स्टेटस रिपोर्ट दे केंद्रःसुप्रीम कोर्ट गोवाः भाजपा ने उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी की बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाई : रघुवर दास 'खुल्लम खुल्ला' की सफलता की दुआ मांगने तिरूपति पहुंचे ऋषि कपूर
BRICS 2016: भारत-नेपाल ने किया रिश्तों को नए स्तर पर ले जाने का वादा
sanjeevnitoday.com | Monday, October 17, 2016 | 05:53:40 PM
1 of 1

पणजी। 8वें ब्रिक्स सम्मेलन के आधिकारिक समापन के बाद भारत-नेपाल के बीच गोवा में ही द्विपक्षीय वार्ता हुई जिसमें भारत के प्रधानमंंत्री नरेंद्र मोदी और नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड ने दोनों के देशों के बीच रिश्तों को नए स्तर पर ले जाने की बात की। नेपाल ने भारत के आतंकवाद के मुद्दे पर साथ खड़े होने का वादा किया और दोनों ही देशों ने मंत्री, सचिव, बिजनेस सहित अलग-अलग स्तर की बातचीत के दौर लगातार जारी रखने की आवश्यकता को समझा। 

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

 
 नेपाल-भारत द्विपक्षीय वार्ता के दौरान नरेंद्र मोदी ने कहा कि नेपाल के प्रधानमंत्री से वे दूसरी बार मिल रहे है और वे चाहते हैं कि भारत-नेपाल के बीच मुलाकातों, बैठकों का दौर जारी रहे, क्योंकि भारत-नेपाल के बीच संबंधों का एक गौरवशाली इतिहास रहा है। नरेंद्र मोदी ने नेपाल के प्रधानमंत्री के संविधान सुधारों को लेकर किए जा रहे प्रयासों की सराहना की और कहा कि नेपाल का लोकतंत्र में आस्था रखना और देश के सभी समूहों को समान अधिकार देने के प्रयास करना एक अच्छा कदम है। वहीं नेपाल के प्रधानमंत्री ने आतंकवाद से भारत की लड़ाई में साथ देने की अपनी बात दोहराई। नेपाल के प्रधानमंत्री ने हाल ही में होने वाली मंत्रिस्तरीय बैठक को लेकर भारत का आभार माना। प्रचंड ने भारत से जूट डंपिंग सहित कुछ आर्थिक मुददों पर ध्यान देने की गुजारिश की जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जल्द से जल्द  पूरा करने का वादा किया। 
 
नेपाल भारत के उत्तरी भूभाग की एक लंबी सीमा बनाता है और भारत -चीन के बीच स्थित हिमालय राज्य है। भारत की तरह ही नेपाल की अधिसंख्य जनसंख्या हिंदू है। नरेंद्र मोदी के भारत का प्रधानमंत्री बनने के बाद भारत-नेपाल के बीच जलविद्युत को लेकर समझौते हुए हैं। भारत नेपाल में जलविद्युत उत्पादन के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर, तकनीकी और आर्थिक सहयोग दे रहा है। साथ ही भारत,  नेपाल से अतरिक्त जलविद्युत भी खरीदेगा। हाल के दिनों में नेपाल में आई राजनैतिक अस्थिरता के दौर में भारत- नेपाल के संबंध प्रभावित हुए थे। इसी तरह भारत, नेपाल को लेकर चीन के बढ़ते रुझान पर भी लगातार नजर बनाए हुए है। ऐसे हालात में ब्रिक्स-बिमस्टेक आउटरिच समिट के दौरान भारत-नेपाल के बीच द्विपक्षीय समझौता अहम माना जा रहा है। भारत- नेपाल बिमस्टेक, सार्क सहित कई अंतरराष्ट्रीय समूहों में साथ है। 

यह भी पढ़े : बिस्तर में अपने साथी से कुछ ऐसा चाहती हैं लड़कियां...!!

यह भी पढ़े: स्त्री में सम्भोग की इच्छा बढ़ाने के 4 सबसे आसान घरेलू उपाय...

यह भी पढ़े : क्या आप जानते है छोटे स्तन होने के ये 10 फायदे...?

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.