'संयोग और वियोग' दोनों ही प्रकृति के धर्म रक्तदान के बराबर काेई दान नहीं है रघुवर दास के काल में चरमरा गई है स्वास्थ्य सुविधा निशुल्क चिकित्सा शिविर में स्कूली बच्चो का स्वास्थ्य जांचा सांसद राजेश रंजन ने कहा- शिक्षा और स्वास्थ्य का राष्ट्रीयकरण होना जरूरी खंडहर घोषित हो चुकी आवासीय बिल्डिंग से मोह नहीं त्याग कर पा रहे हैं स्वास्थ्य कर्मी अनुसूचितजाति कल्याण परिषद तहसील ठियोग ने मधान क्षेत्र की उपेक्षा पर जताई नाराजगी 12 घंटे के दौरान अस्पताल में मचा दो बार बवाल, स्वास्थ्य कर्मियों में गहराया रोष 3rd ODI: इंदौर में कंगारुओं के सामने विराट सेना की निगाहे सीरीज जीत के चौके पर अपने एक्स BF रणवीर से इस अंदाज में मिली अनुष्का, देखे फोटो हर साल 1000 खिलाडिय़ों को 5-5 लाख रुपए देने की घोषणा: खेल मंत्री प्रो कबड्डी लीग 2017: बंगाल ने बेंगलुरु बुल्स को हराया ऑस्ट्रेलिया हॉकी लीग: भारत की पुरुष और महिला 'ए' टीम हुई रवाना कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला का दाऊद को लेकर बड़ा बयान इस नए प्रोजेक्ट के लिए पत्नी संग जयपुर पहुंचे संजय दत्त, देखे फोटो शहंशापुरः पीएम ने स्वच्छता अभियान में लिया हिस्सा तीसरे वनडे के लिए वार्नर ने AUS के बल्लेबाजों को दिया मूल मंत्र Box office: दो दिन के भीतर ही फिल्म 'जय लव कुश' हुई हिट, कमाए 60 करोड़ पूर्व सेवादार गुरूदास का बडा खुलासा, गुरमीत को ब्लू फिल्म देखने का था शौक टीम में बल्लेबाजी क्रम को लेकर नहीं हूं चिंतित: रहाणे
भारत, पाक खुद से सुलझा लेंगे जल विवाद : बान की-मून को उम्मीद
sanjeevnitoday.com | Wednesday, November 30, 2016 | 06:06:11 AM
1 of 1

संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की-मून ने आशा जतायी है कि भारत और पाकिस्तान जल बंटवारे से जुड़े मुद्दे को द्विपक्षीय तरीके से हल कर लेंगे। उनकी यह टिप्पणी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान के संदर्भ में आयी है, जिसमें उन्होंने कहा था कि सतलुज, ब्यास और रावी नदी के पानी पर भारत का हक है, और इनके पानी को पाकिस्तान में बर्बाद होने से रोका जाएगा। कल दैनिक संवाददाता सम्मेलन में बान के प्रवक्ता स्टीफेन दुजारिक से मोदी के इस बयान के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘हम लोग पानी के मुद्दे को देखेंगे। निश्चित तौर पर हमें आशा है कि यह ऐसा मुद्दा है, जिसे दोनों पक्ष आपस में सुलझा सकते हैं।’’ 

Image result for India Pakistan itself will solve the water dispute Ban Ki moon hopes

सतलुज, ब्यास और रावी नदी के पानी पर भारत का हक
पंजाब में एक जनसभा में मोदी ने कहा था कि सतलुज, ब्यास और रावी नदी के पानी पर भारत का हक है और इनके पानी को पाकिस्तान में बर्बाद होने से रोका जाएगा और वह यह सुनिश्चित करेंगे कि भारत के किसान इसका सदुपयोग कर सकें। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था, ‘‘अब इनके पानी का एक-एक बूंद रोका जाएगा और मैं पंजाब, जम्मू-कश्मीर और भारत के अन्य किसानों को यह पानी दूंगा। मैं इसके लिए कृतसंकल्प हूं।’’ पिछले सप्ताह जल, शांति और सुरक्षा पर सुरक्षा परिषद में चर्चा के दौरान बान ने भारत और पाकिस्तान के बीच के सिंधु जल समझौते और इस तरह के अन्य समझौतों को ‘स्थिरता और शांति को बढ़ावा देने वाला साधन’ बताते हुए कहा था कि ‘साझा जल संसाधन से प्राय: सहयोग उत्पन्न’ होता है। चर्चा के दौरान संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की राजदूत मलीहा लोधी ने पानी का इस्तेमाल दबाव बनाने या युद्ध के लिए करने को लेकर चेताया था।

यह भी पढ़े: नोटबंदी के बीच आईएएस अफसरों ने सिर्फ 500 रूपये में रचाई शादी

यह भी पढ़े: ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार

यह भी पढ़े: जिंदगी भर के लिए छिन गयी इस लड़की की हंसी... पढ़ना ना भूले

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.