पीएम मोदी कल वाराणसी दौरे पर, 17 परियोजनाओं का करेंगे लोकार्पण इस शख्स को सांपों से हुआ प्यार, बचाता है लोगों का जीवन Happy Birthday: इस अभिनेता के प्यार में पागल थी 'बेबो' लेकिन अपने से10 साल बड़े... इंडिया का अभ्यास सत्र चढ़ा बारिश की भेंट, ये करते नजर आए धोनी सुसाइड नोट: मैम इतनी बड़ी सजा किसी को न दें, अलविदा पापा-मम्पी और दीदी सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर कहा- मेक्सिको में सभी भारतीय सुरक्षित Unitech को 49 लाख रुपए की लगी चपत जम्मू-कश्मीर में SSB कैंप पर हुए आतंकी हमले में 2 जवान शहीद Navratri special: पहली बार कर रहे है उपवास... तो न भूलें ये बातें INDvsAUS: बारिश के चलते बढ़ेगी टॉस की अहमियत शॉपर्स स्टॉप ने अमेजन से मिलाया हाथ, अब घर बैठे करे शॉपिंग अमेजन पर सेल शुरू, पाए भारी डिस्काउंट राम रहीम के बाद अब जगदगुरु फलाहारी बाबा पर लगा दुष्‍कर्म का आरोप पाक ने फिर जम्मू-कश्मीर के अरनिया सेक्टर में किया सीज़फायर का उल्लंघन त्रिपुरा में टीवी पत्रकार शांतनु भौमिक की चाकू मारकर हत्या INDvsAUS: दूसरा वनडे आज, विजयी रथ को आगे बढ़ाना चाहेगी भारत दुर्गा विसर्जन मामले पर कलकत्ता HC आज सुनाएगा फैसला 'पद्मावती' का फर्स्ट लुक जारी, रानी के Look में नजर आई दीपिका छह पैसे मजबूत होकर 64.27 रुपए प्रति डॉलर पर हुआ बंद नवरात्र के मौके पर जगमगा उठे माता मंदिर, इस अवसर पर पीएम मोदी और सीएम योगी 9 दिन का रखेंगे उपवास
भारत-जापान की दोस्ती पर चीन ने साधा निशाना कहा - क्षेत्रीय देशों के बीच ‘गठजोड़’ के बजाय साझेदारी होनी चाहिए
sanjeevnitoday.com | Friday, September 15, 2017 | 07:48:54 AM
1 of 1

पेइचिंग। चीन के विदेश मंत्रालय की ओर से की गई टिप्पणी के मुताबिक, भारत और जापान के बीच बढ़ती दोस्ती को लेकर जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे की भारत यात्रा के संदर्भ में निशाना साधते हुए चीन ने कहा है कि क्षेत्रीय देशों के बीच ‘गठजोड़’ के बदले साझेदारी होनी चाहिए। हालांकि चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने भारत को यूएस-2 समुद्री सर्विलांस विमान बेचने की जापान की योजना जैसे विशिष्ट मुद्दों पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

 

यह भी पढ़े: इस Train ने तय किया विश्व का सबसे लम्बा रास्ता

चीनी विश्लेषकों ने इस खबर का भी उल्लेख किया कि भारत और जापान अफ्रीका, ईरान, श्रीलंका और दक्षिण पूर्व एशिया में कई आधारभूत परियोजनाओं की शुरुआत कर रहे हैं। इसे यूरोप और अफ्रीका से जोड़ने वाली चीन की एकीकृत आधारभूत इनिशटिव्स का जवाब माना जा रहा है।


उधर चीनी थिंकटैक्स का ऐसा कहना है कि फ्रीडम कॉरिडोर की ओर से भारत और जापान ने चीन के वन बेल्ट वन रोड (OBOR) का रणनीतिक जवाब दिया है। भारत ने अपनी संप्रभुता के उल्लंघन का हवाला देते हुए OBOR का हिस्सा बनने से इनकार कर दिया था।

यह भी पढ़े: पाक ने फिर की काली करतुुत, भारतीय सेना ने दिया मुॅहतोड़ जवाब

गुरुवार को भारत और जापान ने अपनी रणनीतिक साझेदारी को व्यापक आधार प्रदान करने के लिए 15 समझौतों पर हस्ताक्षर किये और हिंद, प्रशांत क्षेत्र में सहयोग मजबूत करने पर सहमति बनी।


भारत और जापान के बीच बढ़ती रणनीतिक साझेदारी पर पूछे गए सवाल पर चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग  का कहना है कि हम इसकी पैरवी करते हैं कि देशों को टकराव के बिना संवाद के लिए खड़े होना चाहिए और गठजोड़ के बजाय साझेदारी के लिए काम करना चाहिए।


जापान के जरिये किसी अन्य देश को रक्षा उपकरण बेचने का पहला ऐसा कदम है। इसके साथ ही भारत में जापान को पहली बुलेट ट्रेन परियोजना मिलने को लेकर भी चीन  के लिए चिंता का विषय बना हुआ है । 


चीन भी भारत में हाईस्पीड रेल परियोजनाएं हासिल करने की दौड़ में है, विशेष रूप से नई दिल्ली और चेन्नई के बीच। इसके साथ ही पूर्वी चीन सागर में द्वीपों को लेकर भी चीन और जापान में लंबे समय से विवाद है। भारत और जापान की पहल ‘फ्रीडम कॉरिडोर’ एशिया-प्रशांत से अफ्रीका तक विस्तारित है और इसका उद्देश्य क्षेत्र में स्थिरता प्रदान करना है।

शंघाई अकैडमी ऑफ सोशल साइंसेज के इंस्टिट्यूट ऑफ इंटरनैशनल रिलेशंस में रिसर्च फेलो हू झ्योंग ने कहा, ‘फ्रीडम कॉरिडोर को चीन के OBOR के जवाब में डिजाइन किया गया है। 

यूनिवर्सिटी ऑफ इंटरनैशनल रिलेशंस में असोसिएट प्रफेसर चू इन ने कहा कि जापान और भारत की पहल केवल एक शुरुआत है, इसके OBOR जैसे स्तर पर पहुंचने की उम्मीद नहीं है।  

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.